बजरंग दल कार्यकर्ताओं को शौर्य प्रशिक्षण के दौरान दी गई हथियारों का ट्रेनिंग, कांग्रेस ने उठाए सवाल, वीडियो-फोटो वायरल

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: May 16, 2022 04:41 PM2022-05-16T16:41:42+5:302022-05-16T16:48:56+5:30

इस प्रशिक्षण पर बोलते हुए कांग्रेस विधायक जवान अरशाद ने ट्वीट किया है। उन्होंने कहा, ‘‘कर्नाटक में बजरंग दल युवाओं को धर्म के नाम पर हिंसा फैलाने के लिए प्रशिक्षण देकर उनकी जिंदगी बर्बाद कर रहा है। इस पर किसी भी हाल में रोक लगनी चाहिए।’’

Weapons training Bajrang Dal workers during bravery training session Congress raised questions video-photo viral bangalore karnataka | बजरंग दल कार्यकर्ताओं को शौर्य प्रशिक्षण के दौरान दी गई हथियारों का ट्रेनिंग, कांग्रेस ने उठाए सवाल, वीडियो-फोटो वायरल

फोटो सोर्स: ट्विटर (@nasir_pfi)

Next
Highlightsबजरंग दल के कार्यकर्ताओं के वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। इसमें वे हथियारों का प्रशिक्षण करते हुए देखे जा रहे हैं। इस प्रशिक्षण पर कांग्रेस ने चिंता जताई है।

बेंगलुरु:बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के कथित रूप से एयर गन लेकर प्रशिक्षण लेने और ‘त्रिशूल दीक्षा’ की तस्वीरें एवं वीडियो सोशल मीडिया पर देखे गए हैं। सूत्रों ने बताया कि बजरंग दल का यह शिविर ‘शौर्य प्रशिक्षण वर्ग’ के तहत आयोजित किया गया था जो (कर्नाटक में) कोडागू जिले के पोन्नमपेट के साई शंकर एजूकेशनल इंस्टीट्यूट में पांच से 11 मई तक चला है। बताया जाता है कि करीब 400 कार्यकर्ताओं ने बजरंग दल के इस शिविर में हिस्सा लिया था। देखते ही देखते यह वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो गया है। 

इस प्रशिक्षण पर क्या बोले बजरंग दल के कार्यकर्ता

बजरंग दल के एक कार्यकर्ता ने बताया कि प्रतिभागियों को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दिया गया, लेकिन उन्हें हथियार नहीं बांटे गए जैसा कुछ लोग आरोप लगा रहे हैं। संबंधित संस्थान के प्रशासन ने बताया कि इस विद्यालय परिसर का कई सालों से ‘प्रशिक्षण वर्ग’ के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है और उसे हथियार प्रशिक्षण की कोई जानकारी नहीं है। कांग्रेस नेताओं ने इस प्रशिक्षण शिविर को लेकर चिंता प्रकट की। 

कांग्रेस ने उठाए अहम सवाल

तमिलनाडु, पुडुचेरी और गोवा मामलों के पार्टी प्रभारी एवं विधायक दिनेश गुंडू राव ने ट्वीट किया, ‘‘बजरंग दल के सदस्य हथियारों का प्रशिक्षण क्यों ले रहे हैं? क्या बिना उचित लाइसेंस के आग्नेयास्त्र का प्रशिक्षण अपराध नहीं है? क्या यह शस्त्र अधिनियम, 1959, शस्त्र नियम, 1962 का उल्लंघन नहीं है? और भाजपा के नेता क्यों खुलेआम इस गतिविधि में शामिल हो रहे हैं और उसका समर्थन कर रहे हैं?’’ 

कांग्रेस विधायक ने जताई चिंता

कांग्रेस विधायक रिजवान अरशाद ने ट्वीट किया, ‘‘इस उम्र में तो ज्यादातर युवा अपने सपनों को पूरा करने में जुट जाते हैं। कर्नाटक में बजरंग दल युवाओं को धर्म के नाम पर हिंसा फैलाने के लिए प्रशिक्षण देकर उनकी जिंदगी बर्बाद कर रहा है। इस पर किसी भी हाल में रोक लगनी चाहिए।’’ वहीं इस मामले में पुलिस ने कहना है कि उसे इस संबंध में अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है। 

Web Title: Weapons training Bajrang Dal workers during bravery training session Congress raised questions video-photo viral bangalore karnataka

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे