यूपी: मेरठ यूनिवर्सिटी की VC ने अयोध्या पर 6000 रुपये की किताब खरीदने के लिए सर्कुलर जारी किया, छात्र संगठनों ने आलोचना की

By विशाल कुमार | Published: May 23, 2022 02:49 PM2022-05-23T14:49:27+5:302022-05-23T14:54:53+5:30

मेरठ यूनिवर्सिटी के रूप में पहचाने जाने वाले सीसीएसयू की कुलपति ने जिस किताब को खरीदने के लिए कहा है वह 'अयोध्या - परंपरा, संस्कृति, विरासत।' इस किताब को लेखक और कवि यतींद्र मिश्रा ने लिखा और यह ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर 6000 रुपये में उपलब्ध है।

up ccs meerut university vc book on ayodhya circular | यूपी: मेरठ यूनिवर्सिटी की VC ने अयोध्या पर 6000 रुपये की किताब खरीदने के लिए सर्कुलर जारी किया, छात्र संगठनों ने आलोचना की

यूपी: मेरठ यूनिवर्सिटी की VC ने अयोध्या पर 6000 रुपये की किताब खरीदने के लिए सर्कुलर जारी किया, छात्र संगठनों ने आलोचना की

Next
Highlights 'अयोध्या - परंपरा, संस्कृति, विरासत' को को लेखक और कवि यतींद्र मिश्रा ने लिखा है।यह किताब ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर 6000 रुपये में उपलब्ध है।एनएसयूआई और सपा के छात्र संगठन ने सर्कुलर को वापस लेने की मांग की।

मेरठ:उत्तर प्रदेश के चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी (सीसीएसयू) की कुलपति (वीसी) संगीता शुक्ला ने एक सर्कुलर जारी कर विश्वविद्यालय से जुड़े कॉलेजों और अन्य शैक्षणिक संस्थाओं को अयोध्या पर प्रकाशित एक किताब खरीदने के लिए कहा है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, मेरठ यूनिवर्सिटी के रूप में पहचाने जाने वाले सीसीएसयू की कुलपति ने जिस किताब को खरीदने के लिए कहा है वह 'अयोध्या - परंपरा, संस्कृति, विरासत।' इस किताब को लेखक और कवि यतींद्र मिश्रा ने लिखा और यह ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर 6000 रुपये में उपलब्ध है।

सर्कुलर में शुक्ला ने कहा है कि उन्हें अयोध्या पर लिखी गई एक किताब मिली जो कि हिंदी और संस्कृत में उपलब्ध है। किताब में दुर्लभ तस्वीरों का संग्रह है। यह सभी कॉलेजों और संस्थानों के लिए अच्छा होगा और इसलिए वे इसे खरीदने के बारे में विचार करें।

बता दें कि, सीसीएसयू उत्तर प्रदेश के आठ जिलों में फैले कई कॉलेजों और निजी संस्थानों की यूनिवर्सिटी है।

कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष रोहित राणा ने कहा कि किताबों, खासकर धार्मिक किताबों के विज्ञापन के लिए सर्कुलर जारी करने से पहले कुलपति को सोचना चाहिए। समाजवादी पार्टी के छात्र संगठन के नेता अंशु मलिक ने कहा कि कुलपति को अपना सर्कुलर वापस लेना चाहिए।

मेरठ यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार धीरेंद्र कुमार वर्मा ने आज सफाई देते हुए कहा कि एक सुझाव दिया गया है लेकिन इसे किसी ने हम पर थोपा नहीं है। हम इसे तभी खरीदेंगे जब यह हमारे विश्वविद्यालय के लिए उपयोगी हो अन्यथा नहीं।

Web Title: up ccs meerut university vc book on ayodhya circular

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे