Supreme Court refuses to consider Mayawati’s plea against Election Commission’s ban for 48 hours | लोकसभा चुनाव: मायावती को सुप्रीम कोर्ट से भी राहत नहीं, जारी रहेगा 48 घंटे का बैन
सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

Highlightsबैन के खिलाफ मायावती की याचिका पर विचार से सुप्रीम कोर्ट का इनकार चुनाव आयोग ने सोमवार को लगाया था चुनाव प्रचार पर 48 घंटे का बैन

चुनाव आयोग की ओर से लगाये गये 48 घंटे के चुनाव प्रचार पर बैन के बाद मायावती को एक और झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने इस बैन को लेकर मायावती की याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया है। इस लिहाज से अब ये साफ हो गया है कि मायावती पर 48 घंटे का बैन जारी रहेगा। मायावती पर 48 घंटे का बैन मंगलवार सुबह 6 बजे से शुरू हुआ। चुनाव आयोग ने मायावती के साथ यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर भी 72 घंटे का बैन लगाया है। 

सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा ऐसा लगता है कि चुनाव आयोग जाग गया और राजनेताओं के खिलाफ अपनी शक्तियों का इस्तेमाल कर रहा है। दरअसल, मायावती ने सुप्रीम कोर्ट से आज अपनी रैली की इजाजत मांगी थी। 


मायावती ने चुनाव आयोग के चुनाव प्रचार पर बैन लगाने के फैसले को सोमवार को लोकतंत्र की हत्या करार दिया है। साथ ही मायावती ने कहा कि 48 घंटे का प्रतिबंध दबाव में लिया गया है। मायावती ने कहा कि आयोग को अच्छी तरह मालूम था कि लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण का मतदान 18 अप्रैल को है और प्रचार का समय 16 अप्रैल को खत्म हो जाएगा।

मायावती ने कहा कि आयोग के इस आदेश के कारण वह मंगलवार को आगरा में होने वाली महागठबंधन की संयुक्त रैली में बसपा और गठबंधन प्रत्याशी के पक्ष में अपील नहीं कर सकेंगी। मायावती ने कहा कि अगर आयोग की मंशा गलत नहीं थी, तो वह उसे एक दिन बाद उसे लागू करता। 

दरअसल, पिछले सप्ताह मायावती ने अखिलेश यादव के साथ मिलकर देवबंद में एक रैली की थी। यहां उन्होंने मुस्लिमों से अपने वोट को न बंटने देने की बात कही थी। चुनाव आयोग ने इसे ही आचार संहिता का उल्लंघन माना है।


Web Title: Supreme Court refuses to consider Mayawati’s plea against Election Commission’s ban for 48 hours