Subedar Rajesh Kumar's mortal remains reached his native village of Kalichpur Kalota, Hoshiarpur | सूबेदार राजेश कुमारः पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार, 11 वर्षीय बेटे ने मुखाग्नि दी, अंतिम दर्शन में उमड़ा हुजूम
50 लाख रुपये की अनुग्रह राशि और सूबेदार राजेश कुमार के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है।

Highlightsमुकेरियां की विधायक इंदु बाला ने पंजाब सरकार की ओर से सूबेदार राजेश कुमार के पार्थिव शरीर पर माल्यार्पण किया।सीमापार से हुई गोलीबारी में कुमार शहीद हो गए। उनके परिवार में पत्नी, बेटा-बेटी और माता-पिता हैं। उपायुक्त अपनित रियायत, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नवजोत सिंह महल और कई अन्य प्रमुख लोगों ने सैनिक को पुष्पांजलि अर्पित की।

होशियारपुरः जम्मू और कश्मीर के राजौरी में पाकिस्तानी सैनिकों की गोलीबारी में शहीद हुए सूबेदार राजेश कुमार का बृहस्पतिवार शाम को उनके पैतृक गांव कालीचपुर में पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास एक सितंबर की रात को सीमापार से हुई गोलीबारी में कुमार शहीद हो गए। उनके परिवार में पत्नी, बेटा-बेटी और माता-पिता हैं। मुकेरियां की विधायक इंदु बाला ने पंजाब सरकार की ओर से सूबेदार राजेश कुमार के पार्थिव शरीर पर माल्यार्पण किया।

कुमार के 11 वर्षीय बेटे जतिन ने उनकी चिता को मुखाग्नि दी। उपायुक्त अपनित रियायत, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नवजोत सिंह महल और कई अन्य प्रमुख लोगों ने सैनिक को पुष्पांजलि अर्पित की। उपायुक्त ने कहा कि राज्य सरकार ने 50 लाख रुपये की अनुग्रह राशि और सूबेदार राजेश कुमार के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है।

Web Title: Subedar Rajesh Kumar's mortal remains reached his native village of Kalichpur Kalota, Hoshiarpur
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे