Samajwadi Party chief Akhilesh Yadav met Bahujan Samaj Party chief Mayawati at her home | चंद्रशेखर से मिलींं प्रियंका, चढ़ा उत्तर प्रदेश का राजनीतिक तापमान, अमेठी-रायबरेली पर अब मायावती की नजर
मायावती का दबाव है कि रायबरेली में सोनिया गांधी और अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ प्रत्याशी उतारे जाएं। 

Highlightsसपा प्रमुख पहले ही कह चुकी है उनकी पार्टी किसी राज्य में कांग्रेस से गठबंधन नहीं करेगी। अटकलें लगाई जा रही हैं कि मायावती का दबाव है कि रायबरेली में सोनिया गांधी और अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ प्रत्याशी उतारे जाएं। 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद से अस्पताल में मुलाकात की। इस सियासी मुलाकात के बाद उत्तर प्रदेश का राजनीतिक तापमान बढ़ गया है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती से लखनऊ स्थित उनके आवास पर मुलाकात की है। अटकलें लगाई जा रही हैं कि मायावती का दबाव है कि रायबरेली में सोनिया गांधी और अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ प्रत्याशी उतारे जाएं। 

बता दें कि प्रियंका गांधी की भीम आर्मी के प्रमुख से मुलाकात को उत्तर प्रदेश के राजनीतिक हलके में बसपा सुप्रीमो मायावती पर ‘‘दबाव ’’ बनाने के रूप में देखा जा रहा है क्योंकि एक दिन पहले ही मायावती ने चुनावी गठबंधन को लेकर कांग्रेस के लिए बसपा के दरवाजे बंद कर दिये थे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार प्रियंका-आजाद की मुलाकात से मायावती बेहद नाराज हैं। हालांकि बसपा प्रमुख पहले ही कह चुकी है उनकी पार्टी किसी राज्य में कांग्रेस से गठबंधन नहीं करेगी।

वहीं बैठक के बाद अखिलेश यादव ने ट्वीट कर फोटो जारी की और कहा कि आज एक मुलाकात महापरिवर्तन के लिए...। दोनों की करीब डेढ़ घंटे की इस मुलाकात में अटकलें यह भी हैं कि सीटों पर प्रत्याशी उतारने और सूची जारी करने के साथ ही संयुक्त रैली के कार्यक्रम पर भी चर्चा की गई।

 

आज एक मुलाक़ात ‘महापरिवर्तन’ के लिए... pic.twitter.com/QFP3Mk5cAa

— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) March 13, 2019

प्रियंका बोलीं-सिर्फ हाल जानने आई थी

चंद्रशेखर से मुलाकात पर प्रियंका गांधी ने इतना ही कहा,‘‘चंद्रशेखर से मिलने के लिये अस्पताल आने में कोई राजनीति नहीं है। मैं इस लड़के से मिलने आई हूं, क्योंकि चन्द्रशेखर का संघर्ष मुझे पसंद आया। उसने अपने लोगों के लिए संघर्ष किया है।’’ जब संवाददाताओं ने इस मुलाकात के राजनीतिक मायने को लेकर सवाल किया तो प्रियंका बोलीं, ''आप इसका राजनीतिकरण करना चाहते हैं तो कीजिए ... :मैं सिर्फ हाल जानने आयी थी ।''  चन्द्रशेखर ने कहा, ‘‘मैं बहुजन समाज के साथ हूं।’’ 

गौरतलब है कि मंगलवार को चंद्रशेखर की तबीयत उस समय खराब हो गई जब वह सहारनपुर से दिल्ली के लिए ‘बहुजन सुरक्षा अधिकार यात्रा’ निकाल रहे थे। यात्रा जब देवबंद पहुंची तब अनुमति नहीं मिलने के कारण पुलिस ने यात्रा रोक दी और चंद्रशेखर को हिरासत में ले लिया था। पुलिस की कार्रवाई से नाराज उनके समर्थकों ने राजमार्ग पर हंगामा शुरू कर दिया। गुस्साई भीड़ की अधिकारियों के साथ नोकझोंक हुई। 

हंगामे के बीच अचानक चंद्रशेखर की तबीयत बिगड़ गई और वह बेहोश हो गए, जिसके बाद उन्हें मेरठ लाया गया और अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

आजाद सहित 28 लोगों के विरूद्ध मामला दर्ज

देवबंद पुलिस ने भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर आजाद सहित 28 लोगों के विरूद्ध नामजद मामला और 150 अज्ञात व्यक्तियों के विरूद्ध मामला दर्ज किया है। पुलिस ने इनके विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 188, 171 एफ, 341, 353 के तहत मामला दर्ज किया है। सहारनपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि इनके विरूद्ध आदर्श आचार सहिता उल्लंघन के तहत कार्रवाई की गई है। 

उन्होंने बताया कि मंगलवार को भीम आर्मी प्रमुख चन्द्रशेखर आजाद और उनके कार्यकर्ता जलूस की शक्ल में मुजफ्फरनगर की ओर जाना चाहते थे जिस पर देवबंद के थानाध्यक्ष सहित एसडीएम और सीओ ने मौके पर पहुंचकर बताया कि आचार संहिता लगी हुई है, इस स्थिति में उन्हें जुलूस रैली निकालते हुए आगे नहीं जाने दिया जायेगा । लेकिन चन्द्रशेखर और उनके समर्थक नहीं माने और जबरदस्ती करने पर प्रशासन को कार्रवाई करनी पड़ी।

English summary :
Congress General Secretary Priyanka Gandhi Vadra met with Bhim Army chief Chandrashekhar Azad at the hospital on 13th March'2019. Samajwadi Party's national president Akhilesh Yadav has met BSP's national president Mayawati in Lucknow.


Web Title: Samajwadi Party chief Akhilesh Yadav met Bahujan Samaj Party chief Mayawati at her home