Rajasthan jaipur Locust attack returned again 71 districts six states attacking crops spraying drugs with drones | Locust attack: फिर लौटीं टिड्डियां, छह राज्यों के 71 जिलों में देखा गया, फसलों पर हमला, ड्रोन से दवा छिड़काव
Locust attack: फिर लौटीं टिड्डियां, छह राज्यों के 71 जिलों में देखा गया, फसलों पर हमला, ड्रोन से दवा छिड़काव

Highlights टिड्डी नियंत्रण संगठन ने टिड्डियों पर काबू पाने के लिए अब तक 1.35 लाख हेक्टेयर में दवा छिड़काव व नियंत्रण का काम किया है।राजस्थान के 26, मध्य प्रदेश के 21, उत्तर प्रदेश के 16, गुजरात के पांच, हरियाणा के दो व पंजाब का एक जिला शामिल है। टिड्डी नियंत्रण का काम किया गया है, इसके अलावा राज्य सरकारों के कृषि विभाग अपने स्तर पर भी इस काम में लगे हुए हैं।

जयपुरः मानसूनी हवाओं के साथ फिर लौटीं टिड्डियां अब तक छह राज्यों के 70 से अधिक जिलों में फसलों पर हमला कर चुकी हैं। इन पर काबू पाने के लिए एक हेलीकाप्टर और 15 ड्रोन के साथ- साथ बड़ी संख्या में मशीनें (वीकल माउंटेंड स्प्रेयर) इस्तेमाल किए जा रहे हैं।

इसके अलावा भारतीय वायुसेना भी एक स्वदेशी स्प्रेयर बनाने का प्रयास कर रही है। टिड्डी नियंत्रण संगठन ने टिड्डियों पर काबू पाने के लिए अब तक 1.35 लाख हेक्टेयर में दवा छिड़काव व नियंत्रण का काम किया है। टिड्डी नियंत्रण संगठन जोधपुर के संयुक्त निदेशक डा. संजय आर्य ने ‘पीटीआई- भाषा’ को बताया कि अब तक टिड्डियों का हमला छह राज्यों के 71 जिलों में देखा गया है। इनमें राजस्थान के 26, मध्य प्रदेश के 21, उत्तर प्रदेश के 16, गुजरात के पांच, हरियाणा के दो व पंजाब का एक जिला शामिल है।

अधिकारियों के अनुसार ये जिले तो वह हैं जहां संगठन की ओर से टिड्डी नियंत्रण का काम किया गया है, इसके अलावा राज्य सरकारों के कृषि विभाग अपने स्तर पर भी इस काम में लगे हुए हैं। राजस्थान में 800 से ज्यादा ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर इस्तेमाल किए जा रहे हैं। अधिकारियों के अनुसार संगठन अब तक कुल 1,35,207 हेक्टेयर भूभाग में टिड्डी नियंत्रण के लिए काम कर चुका है। इसमें राजस्थान में 1,22,927 हेक्टेयर भूभाग शामिल हैं। कुल मिलाकर अब तक 1,32,463 लीटर कीटनाशक का छिड़काव किया गया है।

इस काम में संगठन के 62 वीकल माउंटेड स्प्रेयर के साथ- साथ राज्य सरकारों के अनेक ट्रैक्टर व अग्निशमन वाहन भी लगे हुए हैं। उल्लेखनीय है कि एक टिड्डी दल में लाखों की संख्या में टिड्डियां होती हैं और ये दल एक दिन में डेढ़ सौ किलोमीटर तक दूरी तय कर लेते हैं।

देश में पहली बार टिड्डियों को भगाने व उन पर काबू पाने के लिए 15 ड्रोन लगाए गए हैं। एक अधिकारी ने बताया कि विभाग ने 25 ड्रोन का आर्डर दिया था जिसमें से 15 उसे मिले हैं जिनका इस्तेमाल किया जा रहा है। एक हेलीकाप्टर भी बाड़मेर में इस काम के लिए तैनात है।

सूत्रों के अनुसार भारतीय वायुसेना स्वदेशी स्प्रेयर ...एयरबोर्न लाकस्ट कंट्रोल सिस्टम (एएलसीएस) बनाने में जुटी है। इसके प्रोटोटाइप का जोधपुर में परीक्षण किया जा रहा है। अगर यह सफल रहता है तो इसका इस्तेमाल भी हेलीकाप्टर में लगाकर टिड्डियों पर दवा छिड़काव के लिए किया जाएगा। 

Web Title: Rajasthan jaipur Locust attack returned again 71 districts six states attacking crops spraying drugs with drones
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे