राज ठाकरे ने शरद पवार पर केतकी चितले की 'आपत्तिजनक' फेसबुक पोस्ट की निंदा करते हुए कहा, 'ये महाराष्ट्र की संस्कृति के खिलाफ, हो कड़ी कार्रवाई'

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: May 14, 2022 09:31 PM2022-05-14T21:31:10+5:302022-05-14T21:38:19+5:30

शरद पवार पर अभिनेत्री केतकी चितले द्वारा फेसबुक पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मनसे इस मामले में कड़ी निदा करती है, महाराष्ट्र की संस्कृति में इस तरह की बातों के लिए कोई जगह नहीं है। मनसे उनकी विचारधारा से सहमत नहीं है लेकिन हम उनका पूरा सम्मान करते हैं।

Raj Thackeray condemns Ketki Chitale's 'objectionable' Facebook post on Sharad Pawar, says 'this is against the culture of Maharashtra, take strong action' | राज ठाकरे ने शरद पवार पर केतकी चितले की 'आपत्तिजनक' फेसबुक पोस्ट की निंदा करते हुए कहा, 'ये महाराष्ट्र की संस्कृति के खिलाफ, हो कड़ी कार्रवाई'

फाइल फोटो

Next
Highlightsराज ठाकरे ने केतकी चितले द्वारा शरद पवार पर की गई कथित फेसबुक पोस्ट की निंदा की हैइस तरह की राइटिंग कभी भी महाराष्ट्र के कल्चर का हिस्सा नहीं हो सकती हैमहाराष्ट्र सरकार इस मामले में कड़ाई से जांच करते हुए सख्त एक्शन ले

मुंबई: महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने मराठी अभिनेत्री केतकी चितले द्वारा कथित तौर पर एनसीपी प्रमुख शरद पवार को लेकर फेसबुक पर की गई विवादास्पद पोस्ट की कड़ी निदा करते हुए कहा कि इस तरह की राइटिंग कभी भी महाराष्ट्र के कल्चर का हिस्सा नहीं हो सकती है। इस तरह की बातों के लिए महाराष्ट्र में कोई जगह नहीं है।

मनसे प्रमुख ठाकरे ने कहा कि इस तरह की आपत्तिजनक पोस्ट सीधे तौर पर निकृष्टता है और इस तरह की बातों से सरकार को सख्ती से निपटना चाहिए।

लेकिन इसके साथ ही राज ठाकरे ने यह भी कहा कि पुलिस को इस बात की जांच जरूर करनी चाहिए कि वाकई ये पोस्ट उन्हीं लोगों ने लिखी है, जिन पर इसे पोस्ट किया जाने का आरोप लग रहा है या फिर किसी और की साजिश है। हो सकता है कि कोई और कथित तौर पर नया विवाद पैदा करने के लिए इत तरह की ओछी बातों को पोस्ट कर रहा है।

राज ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार को मुद्दे की गंभीरता से जांच करनी चाहिए और सख्त कदम उठाने चाहिए ताकि इस तरह के प्रकरण को रोका जा सके।

ठाकरे की ओर से जारी बयान में कहा गया है, "मनसे इस मामले में कड़ी निदा करती है, महाराष्ट्र की संस्कृति में इस तरह की बातों के लिए कोईजगह नहीं है।" मनसे प्रमुख ने कहा कि चितले या किसी और को पवार साहब के बारे में ऐसी टिप्पणी करना बेहद गलत है वो महाराष्ट्र के वरिष्ठ राजनेताओं में से एक हैं। मनसे उनकी विचारधारा से सहमत नहीं है लेकिन हम उनका पूरा सम्मान करते हैं।"

उन्होंने कहा, "हमारे और पवार साहब के बीच वैचारिक मतभेद हैं और वे हमेशा रहेंगे। लेकिन इस तरह से घृणित स्तर पर जाकर उनकी आलोचना करना बेहद गलत है।"

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के महापुरुषों और संतों ने लोगों को यही सिखाया है कि कोई भी चीज अच्छी या बुरी होती है। हमें किसी के खिलाफ कटु होने का हक नहीं है। वितारों का विरोध होना चाहिए लेकिन व्यक्तिगत हमलों को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए।

राज ठाकरे ने कहा, "राज्य सरकार को इसे समय रहते सख्ती से अंकुश लगाना चाहिए क्योंकि महाराष्ट्र की ये पहचान नहीं है।"  इससे पहले दिन में एनसीपी नेताओं ने ठाणे में अभिनेत्री केतकी चितले के खिलाफ आईपीसी की धारा 500 (मानहानि), 501 (मुद्रण या उत्कीर्णन मामला जिसे मानहानि के रूप में जाना जाता है), 505 (2) (वर्गों के बीच शत्रुता, घृणा या दुर्भावना को बढ़ावा देने वाला कोई बयान, अफवाह को पब्लिश करना) और 153 ए (लोगों के बीच अशांति फैलाने) के तहत केस दर्ज किया गया है।

मालूम हो कि मराठी टीवी अभिनेत्री केतकी चितले के फेसबुक पर पोस्ट किये गये विवादित पोस्ट में एनसीपी प्रमुख शरद पवार का सीधे तौर पर उल्लेख नहीं किया गया है लेकिन 'पवार' टाइटल से लिखे पोस्ट में 80 साल की उम्र का हवाला देते हुए लिखा है कि "आप ब्राह्मणों से नफरत करते हैं न नरक आपका इंतजार कर रहा है।" (समाचार एजेंसी पीटीआई के इनपुट के साथ) 

Web Title: Raj Thackeray condemns Ketki Chitale's 'objectionable' Facebook post on Sharad Pawar, says 'this is against the culture of Maharashtra, take strong action'

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे