रणनीतिकार प्रशांत किशोर का सक्सेस रेट 99 प्रतिशत, जानें कांग्रेस में एंट्री पर पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली क्या बोले

By भाषा | Published: September 23, 2021 06:15 PM2021-09-23T18:15:38+5:302021-09-23T19:22:14+5:30

पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली ने जी-23 समूह को कायम रखने का विरोध किया। जी-23 की “कोई भूमिका नहीं रह गई और वह अप्रासंगिक हो गया है।”

Prashant Kishor's success rate is 99 percent former Union Minister Veerappa Moily said entry in Congress | रणनीतिकार प्रशांत किशोर का सक्सेस रेट 99 प्रतिशत, जानें कांग्रेस में एंट्री पर पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली क्या बोले

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री से पूछा गया कि यदि किशोर को पार्टी में बड़ी भूमिका दी जाती है तो उन्हें कोई आपत्ति तो नहीं है।

Next
Highlightsआंतरिक सुधारों को कांग्रेस का पुनरुत्थान करार दिया।पंजाब में अचनाक हुए नेतृत्व परिवर्तन पर मोइली ने कहा कि पार्टी ने स्थिति को बहुत अच्छी तरह से संभाला।कैप्टन अमरिंदर सिंह की सहराना की है जिन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया है।

बेंगलुरुः पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली ने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के कांग्रेस में संभावित प्रवेश का बृहस्पतिवार को स्वागत किया और कहा कि उन्हें किशोर को महत्वपूर्ण पद दिए जाने पर कोई आपत्ति नहीं है।

मोइली ने कहा, “ प्रशांत किशोर 99 प्रतिशत सफलता दर वाले चुनाव रणनीतिकार हैं और उन्होंने स्वेच्छा से हमारे साथ सहयोग करने को कहा है। (किशोर को पार्टी में लाने की) प्रक्रिया जारी है।” उन्होंने किशोर के पार्टी में आने और अन्य आंतरिक सुधारों को कांग्रेस का पुनरुत्थान करार दिया।

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री से पूछा गया कि यदि किशोर को पार्टी में बड़ी भूमिका दी जाती है तो उन्हें कोई आपत्ति तो नहीं है, मोइली ने कहा, “ मुझे कोई आपत्ति नहीं है। मैं लगातार उनके संपर्क में हूं।” पंजाब में अचनाक हुए नेतृत्व परिवर्तन पर मोइली ने कहा कि पार्टी ने स्थिति को बहुत अच्छी तरह से संभाला।

उन्होंने कैप्टन अमरिंदर सिंह की सहराना की है जिन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया है और उनकी जगह चरणजीत सिंह चन्नी को राज्य की बागडोर सौंपी गई है। मोइली ने कहा कि कुछ नेताओं ने जी-23 (23 असहमत नेताओं का समूह) का “दुरुपयोग” किया और कहा कि अगर कोई भी व्यक्ति अब भी इस समूह के बने रहने का समर्थन करता है तो यह “निहित स्वार्थ” के लिए होगा।

क्योंकि सोनिया गांधी के नेतृत्व में पार्टी में सुधार पहले ही शुरू हो चुका है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर को कांग्रेस में शामिल किए जाने का भी पुरजोर समर्थन किया और कहा कि उनको पार्टी में लेने का विरोध करने वाले “सुधार विरोधी” हैं।

Web Title: Prashant Kishor's success rate is 99 percent former Union Minister Veerappa Moily said entry in Congress

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे