सीपीआई की कन्नूर बैठक में शामिल हुए केवी थॉमस को कांग्रेस ने थमाया 'कारण बताओ' नोटिस, बोले- "मरने तक कांग्रेसी बना रहूंगा"

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: April 11, 2022 08:29 PM2022-04-11T20:29:15+5:302022-04-11T20:36:13+5:30

केरल के कन्नूर में माकपा की हुए 23वीं पार्टी बैठक में शामिल होने पर सफाई देते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केवी थॉमस ने कहा कि कांग्रेस पार्टी से मिल रही आंतरिक धमकियों के कारण उन्होंने सीपीआई की 23वीं पार्टी कांग्रेस में भाग लिया।

KV Thomas attended CPI's Kannur meeting, there was a ruckus in the party, disciplinary committee issued 'show cause' notice | सीपीआई की कन्नूर बैठक में शामिल हुए केवी थॉमस को कांग्रेस ने थमाया 'कारण बताओ' नोटिस, बोले- "मरने तक कांग्रेसी बना रहूंगा"

सीपीआई की कन्नूर बैठक में शामिल हुए केवी थॉमस को कांग्रेस ने थमाया 'कारण बताओ' नोटिस, बोले- "मरने तक कांग्रेसी बना रहूंगा"

Next
Highlightsकेरल के कन्नूर में हुई माकपा की 23वीं पार्टी कांग्रेस में सीताराम येचुरी फिर से महासचिव चुने गयेइस बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केवी थॉमस ने भी हिस्सा लिया था, जिसे लेकर विवाद हो गया हैथॉमस पर आरोप लगा है कि कन्नूर में वामपंथी बैठक में शिरकत करके उन्होंने पार्टी को धोखा है 

दिल्ली: केरल के कन्नूर में माकपा की हुए 23वीं पार्टी कांग्रेस में सीताराम येचुरी तीसरी बार महासचिव चुने गये। लेकिन इस कारण कांग्रेस की सियासी भट्ठी में लगी आग जोर मारने लगी है। जी हां, सीपीआई की इस बैठक को लेकर कांग्रेस में घमासान छिड़ गया है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केवी थॉमस ने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी से मिल रही आंतरिक धमकियों के कारण उन्होंने सीपीआई की 23वीं पार्टी कांग्रेस में भाग लिया।

थॉमस का कहना है कि सीपीआई की बैठक में भाल लेने के लिए उन्हें पार्टी की अनुशासन समिति से 'कारण बताओ' नोटिस जारी हुआ है, जिसका जवाब वो जल्द ही देंगे। 

इस बीच केरल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता थॉमस के सीपीआई बैठक में शामिल होने से इतने नाराज है कि उन्होंने थॉमस पर आरोप लगाया कि कन्नूर में वामपंथी बैठक में शिरकत करके उन्होंने पार्टी को धोखा है। 

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस की अनुशासन समिति ने थॉमस को 'कारण बताओ' इसलिए जारी किया है क्योंकि केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रमुख के सुधाकरन थॉमस के इस कृत्य को अनुशासनहीनता मानते हुए इस संबंध में कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी है। पत्र में के सुधाकरन ने थॉमस द्वारा वाम दल के कन्नूर सम्मेलन में भाग लेने के लिए अनुशासनात्म कार्रवाई की मांग की है।

वहीं पार्टी से 'कारण बताओ' नोटिस मिलने के बाद तिरुवनंतपुरम में पत्रकारों से बात करते हुए थॉमस ने कहा कि जब पार्टी नेता के सी वेणुगोपाल ने उन्हें सूचित किया था कि शशि थरूर माकपा पार्टी कांग्रेस में भाग नहीं ले रहे हैं, तो उन्होंने कहा था कि वह भी नहीं जाएंगे।

हालांकि उसके बाद उनकी पार्टी के भीतर से ही उन्हें बैठक में शामिल होने के लिए धमकियां दी गईं। जिसके कारण उन्होंने बैठक में भाग लेने का फैसला किया।

मालूम हो कि सीपीआई ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर और के वी थॉमस दोनों को अपनी 23वीं पार्टी कांग्रेस में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया था। यह बैठक बीते रविवार को हुई, जिसमें सीताराम येचुरी को एक बार फिर पार्टी का महासचिव चुना गया।

पूरे घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया देते हुए थॉमस ने कहा कि वह पार्टी की अनुशासन समिति के द्वारा जारी 'कारण बताओ' नोटिस का जवाब देंगे। जिसमें वो पूरी बात और घटनाओं का उल्लेख करेंगे कि आखिर किस कारण वो सीपीआई की बैठक में शामिल हुए।

इसके साथ ही थॉमस ने कहा कि अनुशासन समिति का फैसले चाहे जो हो, वो कांग्रेस पार्टी का हिस्सा बने रहेंगे। उन्होंने कहा, "मैं कांग्रेस नहीं छोड़ूंगा। मैं मरने तक कांग्रेसी बना रहूंगा।"

इस विवाद से दुखी थॉमस ने कहा कि आखिर किस आधार पर केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कैसे उनकी आलोचना कर सकते हैं, जबकि यह मामला सीधे अनुशासन समिति के पास है।

थॉमस यह बात कोच्चि में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के संदर्भ में कर रहे थे, जिसमें सुधाकरन और सतीसन ने थॉमस पर कन्नूर बैठक में हिस्सा लेकर पार्टी को धोखा देने का आरोप लगाया है। 

Web Title: KV Thomas attended CPI's Kannur meeting, there was a ruckus in the party, disciplinary committee issued 'show cause' notice

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे