केरल: माकपा का ट्रेड यूनियन छोड़ने वाले कार्यकर्ता ने आत्महत्या की, सुसाइड नोट में पार्टी से खतरे का आरोप लगाया

By विशाल कुमार | Published: April 12, 2022 03:23 PM2022-04-12T15:23:35+5:302022-04-12T15:26:39+5:30

अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज करने वाली पुलिस ने कहा कि उन्होंने एक सुसाइड नोट बरामद किया है, जिसमें साजी ने आरोप लगाया था कि उन्हें स्थानीय माकपा नेतृत्व से जान को खतरा था।

kerala-worker-who-left-cpim-union-kills-himself-alleges-threat-from-party | केरल: माकपा का ट्रेड यूनियन छोड़ने वाले कार्यकर्ता ने आत्महत्या की, सुसाइड नोट में पार्टी से खतरे का आरोप लगाया

केरल: माकपा का ट्रेड यूनियन छोड़ने वाले कार्यकर्ता ने आत्महत्या की, सुसाइड नोट में पार्टी से खतरे का आरोप लगाया

Next
Highlightsत्रिशूर के पीची के रहने वाले 49 वर्षीय केजी साजी ने हाल ही में भारतीय ट्रेड यूनियनों के केंद्र को छोड़ दिया था।पुलिस ने कहा कि उन्होंने एक सुसाइड नोट बरामद किया है।उनके भाई बीजू ने कहा कि साजी ने काम लेने के संबंध में संगठन में भ्रष्टाचार का विरोध किया था।

तिरुवनंतपुरम: पुलिस ने मंगलवार को कहा कि केरल के त्रिशूर जिले में भारतीय ट्रेड यूनियनों का केंद्र (सीटू) से बाहर निकले एक कार्यकर्ता ने आत्महत्या कर ली और एक नोट में कहा कि उसे पार्टी की ट्रेड यूनियन विंग छोड़ने के बाद माकपा से खतरे का सामना करना पड़ रहा था।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, त्रिशूर के पीची के रहने वाले 49 वर्षीय केजी साजी ने हाल ही में भारतीय ट्रेड यूनियनों के केंद्र को छोड़ दिया था और हेडलोड श्रमिकों का एक स्वतंत्र संघ बनाया था।

अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज करने वाली पुलिस ने कहा कि उन्होंने एक सुसाइड नोट बरामद किया है, जिसमें साजी ने आरोप लगाया था कि उन्हें स्थानीय माकपा नेतृत्व से जान को खतरा था।

उनके भाई बीजू ने मीडिया को यह भी बताया कि सीटू छोड़ने वाले कार्यकर्ताओं के एक समूह के गठन के बाद साजी को स्थानीय पार्टी नेतृत्व से खतरे का सामना करना पड़ा था।

बीजू ने कहा कि साजी ने काम लेने के संबंध में संगठन में भ्रष्टाचार का विरोध किया था। जब उन्होंने सीटू से दूर रहने और स्वतंत्र रूप से काम करने का फैसला किया, तो पार्टी ने इसका विरोध किया। जब सीटू से जुड़े अधिक कार्यकर्ताओं ने संगठन छोड़ने का फैसला किया और साजी के साथ हाथ मिला लिया, तो माकपा नेताओं ने उनके जीवन के लिए खतरा पैदा कर दिया।

सूत्रों ने कहा कि साजी के हेडलोड वर्कर्स का एक स्वतंत्र फोरम बनाने के फैसले ने माकपा को नाराज कर दिया था, जो सीटू के बैनर तले पीची में कार्यकर्ताओं को नियंत्रित कर रही है।

Web Title: kerala-worker-who-left-cpim-union-kills-himself-alleges-threat-from-party

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे