Indore Bar Association decides to not represent any rape accused | इंदौर बार एसोसिएशन का बड़ा फैसला, रेप के किसी भी आरोपी का नहीं लडेंगे केस

नई दिल्ली. 21 अप्रैल: इंदौर में आठ महीने की बच्ची से रेप के बाद उसकी हत्या की गई है।  इंदौर बार एसोसिएशन ने रेप की इस दर्दनाक घटना को देखते हुए एक फैसला लिया है। बार एसोसिएशन ने ये फैसला किया है कि वो रेप के किसी भी आरोपी के केस नहीं लडेंगे। शनिवार को इंदौर के राजबाड़ा इलाके में एक आठ महीने की मासूम बच्ची का शव मिला था। शव की ऐसी हालत थी कि उसे समेटकर ले जाते हुए पुलिसकर्मी भी रो पड़े। बच्ची के प्राइवेट पार्ट से खून निकल रहा था। पुलिस ने बच्ची के साथ दुष्कर्म की पुष्टि की है। शव को बरामद करके जांच शुरू कर दी गई है।


घटना गुरुवार रात इंदौर के ऐतिहासिक रजवाड़ा इलाके की है। यहां स्थित शिव विलास पैलेस के बेसमेंट में एक बच्ची की लाश औंधे मुंह पड़ी थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव बरामद कर प्राथमिक जांच शुरू दी। बच्ची के प्राइवेट पार्ट से खून निकल रहा था। पुलिस उसे सफेद बंडल में समेटकर पोस्टमार्टम के लिए ले गई। यह करते हुए वहां मौजूद पुलिसकर्मी भी रो पड़े।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बच्ची के पैरेंट्स रजवाड़ा इलाके में गुब्बारे बेचते हैं।  शुक्रवार रात को बच्ची अपनी मां के पास सो रही थी। आरोपी युवक ने बच्ची को किडनैप करके पचास मीटर दूर बेसमेंट में ले गया। आठ महीने की मासूम के साथ हैवानियत करने के बाद उसे मौत के घाट उतार दिया। डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्रा ने पीटीआई को बताया, 'बच्ची के प्राइवेट पार्ट और सिर में चोट के निशान मिले हैं।'

पुलिस ने वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी को धर दबोचा है और मामले में कथित संवेदनहीनता एवं लापरवाही बरतने के चलते सहायक उप निरीक्षक (एएसआई) को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) हरिनारायणाचारी मिश्रा ने आज बताया कि मामले में देर रात नवीन गाडगे (25) को पकड़ लिया गया। यह शख्स बच्ची का दूर का रिश्तेदार है।