IAF demands 40 thousand crore rupees from Modi government For acquire new equipment | नए हथियारों को खरीदने और सेनाओं के आधुनिकीकरण के लिए IAF ने मोदी सरकार से मांगे 40 हजार करोड़ रुपये
नए हथियारों को खरीदने और सेनाओं के आधुनिकीकरण के लिए IAF ने मोदी सरकार से मांगे 40 हजार करोड़ रुपये

Highlightsआधुनिकीकरण को आगे बढ़ाने के लिए भारतीय वायुसेना को कम से कम 40,000 करोड़ रुपये की आवश्यकता है। भारतीय वायुसेना के लिए मल्टी रोल युद्धक विमान खरीदे जाएंगे।

भारतीय वायु सेना (IAF) ने नए उपकरणों को खरीदने के लिए भारत सरकार से धनराशि की मांग की है। हिंदुस्तान टाइम्स ने दो वायु सेना अधिकारियों के हवाले से बताया कि वायु सेना ने नए हथियारों को खरीदने  और सेनाओं के आधुनिकीकरण के लिए भारत सरकार से 40, 000 करोड़ रुपये की मांग की ही है। 

रिपोर्ट में बताया गया कि इस साल के बजट में भारतीय वायु सेना के लिए 39,300 करोड़ रुपये आवंटित किया गया है, जो सेना के आधुनिकरण के लिए पर्याप्त नहीं है। आधुनिकीकरण को आगे बढ़ाने के लिए भारतीय वायुसेना को कम से कम 40,000 करोड़ रुपये की आवश्यकता है। इसके लिए वायु सेना ने सरकार से फंड मुहैया कराने के लिए कहा है। 

हाल ही में तीनों सेनाओं ने अपनी भविष्य की योजनाओं में कमी को देखते हुए सरकार से पिछले तीन बजट में बढ़ोत्तरी करने की सिफारिश की हुई थी। भारतीय वायुसेना के लिए मल्टी रोल युद्धक विमान खरीदे जाएंगे। अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में फ्रांस में एक आधिकारिक समारोह में भारतीय रक्षा मंत्री पहले राफेल युद्धक जहाज को ग्रहण करेंगे। 2006  में हुए रक्षा सौदे के अंतर्गत 24 राफेल युद्धक जहाज फ्रांस से भारत को मिलने हैं। अगले साल मार्च में इसकी पहली खेप भारत पहुंचेगी।

आधुनिकरण के लिए सेना को इन हथियारों की आवश्यकता

वायु सेना 114 नए मध्यम-वजन वाले लड़ाकू विमान, 83 हल्के लड़ाकू विमान, 33 और मिग-29s और सुखोई-30s, 56 न्यू मीडियम ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट और 70 बेसिक ट्रेनर एयरक्राफ्ट जैसे हथियारों को खरीदने की तैयारी में है।  
 


Web Title: IAF demands 40 thousand crore rupees from Modi government For acquire new equipment
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे