Himachal Pradesh: Earthquake of magnitude 4.5 strikes Chamba region | उत्तराखंड के बाद अब हिमाचल में महसूस हुए भूकंप के झटके, रिक्टल स्केल पर दर्ज की गई 4.5 तीव्रता

शिमला, 14 जून: हिमाचल प्रदेश के चंबा इलाके में गुरुवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए। समाचार एजेंसी की मानें तो भूकंप की तीव्रता रिएक्टर पैमाने पर 4.5 मापी गई है। भूकंप लगभग शाम 4:30 बजे आया। 


इससे पहले सोमवार को उत्तराखंड के उत्तरकाशी में  भूकंप के झटके महसूस किए गए, जिसके बाद लोग घरों से बाहर निकल आए।  बताया जा रहा है कि भूकंप की तीव्रता रिएक्टर पैमाने पर 4.0 मापी गई है। यह भूकंप सुबह करीब 6 बजकर 12 मिनट पर आया, जिससे लोग सुबह-सुबह डर गए। मिली जानकारी के अनुसार, अभी तक किसी जानमाल के नुकसान की सूचना नहीं है। 

ये भी पढ़ें: भारत ने जम्मू-कश्मीर पर UN की रिपोर्ट को किया खारिज, बताया फूहड़ और बकवास 

बता दें, 11 जून को असम में भूकंप आया था, जिसकी तीव्रता रिएक्टर पैमाने पर 5.1 मापी गई थी। भूकंप के झटके सूबे की राजधानी गुवाहाटी में लोगों ने महसूस किए गए थए, जिसके बाद क्षेत्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र ने इस सूचा की पुष्टि कर दी थी। शिलांग स्थित क्षेत्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र की एक रिपोर्ट के मुताबिक मध्यम तीव्रता के भूकंप का केंद्र नागांव जिले के धींग से 22 किमी दूर था।
इससे पहले 9 मई को राजधानी नई दिल्ली समेत उत्तर भारत के पंजाब और हरियाणा के पांच राज्यों में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। इसका केंद्र अफगानिस्तान-कजाखस्तान के सरहदी क्षेत्र में था। इस दिन भूकंप की तीव्रता रिएक्टर पैमाने पर 6.2 आंकी गई थी। हालांकि किसी तरह के जान-माल का नुकसान नहीं हुआ था। 

ये भी पढ़ें: रणदीप सुरजेवाला और अरुण जेटली के बीच ट्विटर पर 'जबानी जंग' जारी, कांग्रेस प्रवक्ता ने बीजेपी नेता को कहा- 'बिना विभाग का मंत्री'

आपको बता दें कि अगर भूकंप आता है तो आप आसानी से अपना बचाव कर सकते हैं। इसके लिए  मकान, दफ्तर या किसी भी इमारत से तुरंत बाहर निकलें और खुले में जाएं, किसी बिल्डिंग के आसपास खड़े न हों, लिफ्ट का इस्तेमाल न करें, घर के दरवाजे और खिड़की को खुला रखें और घर की सभी बिजली स्विच को ऑफ कर दें।

इसके अलावा अगर बिल्डिंग बहुत ऊंची हो और तुरंत उतर पाना मुमकिन न हो तो उसमें मौजूद किसी मेज, ऊंची चौकी या बेड के नीचे छिप जाएं। भूकंप के दौरान लोगों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वो पैनिक न करें और किसी भी तरह की अफवाह न फैलाएं, ऐसे में स्थिति और बुरी हो सकती है।