Four thousand corona patients in Delhi in home isolation, record 1106 corona positive cases in 24 hours | दिल्ली में चार हजार कोरोना मरीज होम आइसोलेशन में, यहां 24 घंटे में आए रिकॉर्ड 1106 कोरोना पॉजिटिव केस
कोरोना वायरस (फाइल फोटो)

Highlightsसरकारी अस्पतालों में 3700 बिस्तर और प्राइवेट अस्पतालों मे 1400 बिस्तर कोरोना रोगियों के लिए अभी उपलब्ध हैं।दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि कोरोना से मरने वालों में 82 और मौतों का इजाफा हुआ है।

नई दिल्ली: दिल्ली में चार हजार से अधिक कोरोना पॉजिटिव रोगियों को उनके घर में ही आइसोलेशन में रखा गया है। यह लोग लगातार फोन के जरिए चिकित्सकों के संपर्क में हैं। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शुक्रवार को फेसबुक लाइव संवाद के जरिए यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि दिल्ली में 80 से 90 फीसदी कोरोना रोगी होम क्वारंटाइन से ठीक हुए हैं। हर कोरोना संक्रमित रोगी को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं है।

जिन लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है। इन्हें स्वास्थ्य संबंघी कोई बड़ी शिकायत नहीं है। सत्येंद्र जैन ने दिल्ली वासियों को सलाह दी कि अगर आप संक्रमित हो गए हैं तो घर मे रहें, घर के एक कमरे में खुद को होम क्वारंटाइन करें। क्योंकि देखने में आ रहा है कि दो सप्ताह में लोग ठीक हो रहे हैं। केरल के बाद दिल्ली ऐसा राज्य है जिसने लोगों को होम क्वारंटाइन होने की सलाह दी है।

फिलहाल दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1106 नए मामले आए हैं। यह दिल्ली में अब तक एक दिन में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या में होने वाली रिकॉर्ड वृद्धि है।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव का तरीका घर से बाहर निकलते समय मास्क पहनें, हाथों को निश्चित अवधि के बाद साबुन से धोते रहें और अपने आसपास सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि होम क्वारंटाइन के दौरान चिकित्सक से लोग टेलीफोन पर संपर्क में रहते हैं। चिकित्सक के निर्देशानुसार दवा का सेवन करें।

इस बारे में दिल्ली सरकार की ओर से सूचना भी जारी की गई है। जिसमें लोगों को जानकारी दी गई है कि होम क्वारंटाइन में रोगी को 17 दिन व्यतीत करने होते हैं और डिस्ट्रिक सर्विलांस अधिकारी के संपर्क में रहते हुए चिकित्सकों से फोन पर लगातार सलाह लेते रहना है। चिकित्सक से संपर्क में रहने का फायदा यह होता है कि 17 दिनों के होम क्वारंटाइन के अंतिम 10 दिनों में अगर कोरोना पॉजिटिव रोगी के स्वास्थ्य को लेकर कोई परेशानी नहीं है तो वह पूरी तरह से स्वस्थ माना जाएगा। उसे किसी कोरोना टेस्ट की भी जरूरत नहीं है।

सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में शुक्रवार को कोरोना के कुल रोगियों की संख्या बढ़कर 17,386 हो चुके हैं। दिल्ली में अभी तक 7,846 रोगी स्वस्थ हुए हैं। इनमें पिछले 24 घंटे में 351 रोगी ठीक हुए हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली में 2100 रोगी भर्ती हैं। सरकारी अस्पतालों में 3700 बिस्तर और प्राइवेट अस्पतालों मे 1400 बिस्तर कोरोना रोगियों के लिए अभी उपलब्ध हैं। सरकार की कोशिश है कि मरीजों की संख्या से दोगुने बिस्तर का इंतजाम दिल्ली में रहे।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि कोरोना से मरने वालों में 82 और मौतों का इजाफा हुआ है। जिससे दिल्ली में कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर कुल 398 हो गई है। गुरूवार को यह संख्या 316 थी। सिसोदिया ने कहा कि पिछले 24 घंटे में 13 लोगों की कोरोनावायरस से मौत हुई है जबकि 69 लोग ऐसे हैं जिनकी मृत्यु बीते 32 दिनों में हो चुकी थी लेकिन इनके आंकड़े अब जारी किए गए हैं। मौत के आंकड़ें  देरी से जारी करने के पीछे सिसोदिया ने कहा कि अस्पतालों की तरफ से लेट रिपोर्टिंग हुई है। इसलिए अब इन मृत्यु के आंकड़ों को सार्वजनिक किया गया है। कोरोना से हुई 69 मौतों में से अकेले सफदरजंग अस्पताल में 52 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है। जिसका ब्यौरा अस्पताल ने 2 दिन पहले ही दिया है। 

Web Title: Four thousand corona patients in Delhi in home isolation, record 1106 corona positive cases in 24 hours
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे