पेगासस जासूसी मामले की निष्पक्ष एवं स्वतंत्र जांच हो: पायलट

By भाषा | Published: July 21, 2021 10:14 PM2021-07-21T22:14:16+5:302021-07-21T22:14:16+5:30

Fair and independent probe into Pegasus spying case: Pilot | पेगासस जासूसी मामले की निष्पक्ष एवं स्वतंत्र जांच हो: पायलट

पेगासस जासूसी मामले की निष्पक्ष एवं स्वतंत्र जांच हो: पायलट

Next

जयपुर, 21 जुलाई कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने पेगासस जासूसी मामले की तुरंत प्रभाव से निष्पक्ष जांच की मांग की है ताकि इसके लिए जवाबदेही तय हो।

पायलट ने बुधवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि भारत सरकार इसकी जांच करेगी, तो उससे सच कभी सामने आयेगा नहीं.. इसलिये कांग्रेस की भी मांग है कि इसकी जांच उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश के स्तर पर समयबद्ध तरीके से हो। उन्होंने कहा कि इस मामले की तह तक जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि फ्रांस की सरकार ने तो इस मामले की गंभीर जांच के आदेश भी दिए हैं।

उन्होंने कहा कि ‘‘कौन लोग, कौन-सी सरकार, कौन व्यक्ति इसके लिये जिम्मेदार थे? जवाबदेही तय करने के लिए तुरंत प्रभाव से निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। चाहे वह संयुक्त संसदीय कमेटी हो, चाहे उच्चतम न्यायालय के संरक्षण में जांच की जाए ताकि सच्चाई सामने आये।’’

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों के मन में सवाल उठ रहे है कि सरकार बोलती है कि हमने गैर कानूनी नहीं किया तो फिर किसके माध्यम से भुगतान हुआ, किसने करवाया, कब तक करवाया और निष्पक्ष जांच से बहुत सारे खुलासे होंगे एवं हम इसकी तह तक पहुंचेंगे।

उन्होंने इसे लोगों की निजता एवं संवैधानिक परम्पराओं का हनन बताया और कहा कि लोकतंत्र को कमजोर करने की कोशिश की गई तथा इससे सारे देशवासी विचलित हैं, आहत हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी इसको लेकर देशभर में जनआंदोलन करेगी.. बृहस्पतिवार को हर राज्य में राजभवन का घेराव हो रहा हैं एवं राजस्थान में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के नेतृत्व में जयपुर में भी हम लोग राजभवन का घेराव करेंगे।

उन्होंने कहा कि अगर कुछ छुपाने को नहीं है तो जांच से दूर भागने का भी कोई मतलब नहीं बनता है।

उन्होंने केन्द्र सरकार की ओर से संसद में दिये गये ऑक्सीजन की कमी के कारण देश में कोई मौत नहीं होने संबंधी बयान पर कहा, ‘‘केन्द्र सरकार द्वारा यह कह देना कि राज्य सरकारों ने हमें जो आंकड़े भेजे हैं, उसमें किसी मौत का कारण ऑक्सीजन की कमी नहीं बताया.. यह नाकाफी है.. सिर्फ राज्य सरकार से आंकड़े जुटाने का काम केन्द्र सरकार है तो यह मैं समझता हूं कि लोगों के गले नहीं उतर रहा है।’’

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को इस सारे संकट में हुई मौतों की आडिट करवानी चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज में डर का माहौल है कि अब कुछ भी हैक किया जा सकता है और सत्ता में बैठे लोग लोगों की गोपनीयता और जीवन पर आक्रमण करने के अधिकार का दुरूपयोग कर रहे है।

पायलट ने कहा कि कांग्रेस एक मात्र ऐसी पार्टी है जो राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा को चुनौती दे सकती हैं। उन्होंने विश्वास जताया कि कांग्रेस पार्टी अपने सहयोगियों के साथ केन्द्र मे अगली सरकार बनायेगी।

उन्होंने कहा कि ‘‘लोगों को अहसास हो गया है कि संप्रग सरकार का शासन वर्तमान सरकार के शासन से कहीं बेहतर था।’’

राजस्थान में अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार पर फोन टैपिंग के आरोपों के सवाल का जवाब देते हुए पायलट ने कहा कि राज्य सरकार पहले ही विधानसभा में कह चुकी है।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Fair and independent probe into Pegasus spying case: Pilot

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे