During the Corona crisis, people should be given relief by reducing the prices of petrol and diesel: Congress | कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर उठाए सवाल, कहा- कोरोना संकट के समय में जनता को राहत दे सरकार
कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला। (फोटो सोर्स- सोशल मीडिया)

Highlightsइस बढ़ोतरी के साथ देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें उच्चतम स्तर पर पहंच गई हैं। दिल्ली में अब पेट्रोल 91.80 रुपये प्रति लीटर और डीजल 82.36 रुपये में मिल रहा है।

कांग्रेस ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर मंगलवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि कोरोना महामारी के संकट के समय पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में कमी करके जनता को राहत दी जाए। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि पेट्रोल-डीजल को माल एवं सेवा (जीएसटी) कर के दायरे में लाया जाए और यह होने तक उत्पाद शुल्क में की गई बढ़ोतरी को वापस लिया जाए।

उन्होंने एक बयान में दावा किया, ‘‘भारत के 130 करोड़ लोग आज कोरोना महामारी से लड़ रहे हैं लेकिन ‘भारतीय जनलूट पार्टी’ (भाजपा) की लूट जारी है। पांच विधानसभाओं के चुनाव ख़त्म होते ही भाजपा सरकार का तेल की लूट का खेल शुरू हो गया है, जिसके अंतर्गत मोदी सरकार ने पिछले आठ दिन में पेट्रोल 1.40 रुपए और डीजल को 1.63 रुपए प्रति लीटर महंगा कर दिया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘सच्चाई यह है कि कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमत कांग्रेस के समय से एक चौथाई कम है, लेकिन मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क को बार-बार बढ़ा कर जनता का तेल निकाल दिया है।’’सुरजेवाला के मुताबिक, ‘‘26 मई, 2014 को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्ता संभाली थी, तब भारत की तेल कंपनियों को कच्चा तेल 108 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल मिल रहा था और उस समय पेट्रोल व डीजल क्रमशः 71.41 और 55.49 रुपये प्रति लीटर में उपलब्ध था। 

उन्होंने केंद्र सरकार से आग्रह किया, ‘‘कच्चे तेल की कीमतों में कमी का लाभ आम लोगों को मिलना चाहिए और पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कमी की जाए। पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के अंतर्गत लाया जाना चाहिए। पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के अंतर्गत लाये जाने तक पेट्रोल और डीजल पर बढ़ाई गयी 23.78 प्रति लीटर व 28.37 रुपये प्रति लीटर की उत्पाद शुल्क वृद्धि को तुरंत वापस लिया जाए।’’

गौरतलब है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में मंगलवार को एक बार फिर बढ़ोतरी हुई। सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों द्वारा जारी मूल्य अधिसूचना के अनुसार, पेट्रोल की कीमत में 27 पैसे लीटर और डीजल में 30 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई।

Web Title: During the Corona crisis, people should be given relief by reducing the prices of petrol and diesel: Congress

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे