दिल्ली सरकार के IAS अफसर कुत्ते के संग वॉक कर सकें इसलिए खाली करवा लिया जाता है त्यागराज स्टेडियम, खिलाड़ियों व कोच ने लगाया आरोप

By विशाल कुमार | Published: May 26, 2022 07:28 AM2022-05-26T07:28:33+5:302022-05-26T14:48:25+5:30

एक कोच ने कहा कि हम पहले रात 8-8.30 बजे तक रोशनी में ट्रेनिंग करते थे। लेकिन अब हमें शाम 7 बजे तक मैदान छोड़ने को कहा जाता है ताकि अधिकारी अपने कुत्ते को टहला सकें। हमारा प्रशिक्षण और अभ्यास दिनचर्या बाधित हो गया है।

delhi-thyagraj-stadium athletes coaches ias officers | दिल्ली सरकार के IAS अफसर कुत्ते के संग वॉक कर सकें इसलिए खाली करवा लिया जाता है त्यागराज स्टेडियम, खिलाड़ियों व कोच ने लगाया आरोप

दिल्ली सरकार के IAS अफसर कुत्ते के संग वॉक कर सकें इसलिए खाली करवा लिया जाता है त्यागराज स्टेडियम, खिलाड़ियों व कोच ने लगाया आरोप

Next
Highlightsएक कोच ने कहा कि हम पहले रात 8-8.30 बजे तक रोशनी में ट्रेनिंग करते थे।उन्होंने कहा कि अब हमें शाम 7 बजे तक मैदान छोड़ने को कहा जाता है।संपर्क करने पर 1994 बैच के आईएएस अधिकारी खिरवार ने आरोप को बिल्कुल गलत बताया।

नई दिल्ली: नई दिल्ली स्थित त्यागराज स्टेडियम के खिलाड़ियों और कोचों ने दिल्ली के मुख्य सचिव (राजस्व) संजीव खिरवाल पर आरोप लगाया है कि अपने कुत्ते के साथ टहलने के लिए उनसे समय से पहले 7 बजे ही स्टेडियम खाली करवा लिया जाता है जबकि पहले वे रात 8.30 बजे तक प्रैक्टिस करते थे।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, एक कोच ने कहा कि हम पहले रात 8-8.30 बजे तक रोशनी में ट्रेनिंग करते थे। लेकिन अब हमें शाम 7 बजे तक मैदान छोड़ने को कहा जाता है ताकि अधिकारी अपने कुत्ते को टहला सकें। हमारा प्रशिक्षण और अभ्यास दिनचर्या बाधित हो गया है।

संपर्क करने पर 1994 बैच के आईएएस अधिकारी खिरवार ने आरोप को बिल्कुल गलत बताया। उन्होंने स्वीकार किया कि वह कभी-कभी अपने पालतू जानवर को स्टेडियम में टहलने के लिए ले जाते हैं, लेकिन इस बात से इनकार करते हैं कि इससे एथलीटों की अभ्यास दिनचर्या बाधित होती है।

उन्होंने आगे कहा कि जब कोई आसपास नहीं होता तो हम उसे छोड़ देते हैं लेकिन कभी किसी एथलीट की कीमत पर नहीं। अगर इसमें कुछ आपत्तिजनक है तो मैं इसे बंद कर दूंगा।

अखबार ने पिछले सात दिन में तीन शामों को स्टेडियम में जाकर जब देखा तो स्टेडियम के गार्ड्स 6.30 बजे ट्रैक पर सीटी बजाते हुए आ गए और 7 बजे तक ट्रैक को खाली करवा लिया।

2010 के राष्ट्रमंडल खेलों के लिए बनाया गया त्यागराज स्टेडियम केंद्र में स्थित खेल परिसर एक बेहतर सुविधाओं से युक्त है जो राष्ट्रीय और राज्य एथलीटों और फुटबॉलरों को आकर्षित करती है।

स्टेडियम प्रशासक अजीत चौधरी ने बताया कि शाम को आधिकारिक समय शाम 4-6 बजे है, लेकिन गर्मी को देखते हुए वे एथलीटों को शाम 7 बजे तक प्रशिक्षण की अनुमति देते हैं। 

हालांकि, चौधरी ने समय निर्धारित करने वाले किसी भी आधिकारिक आदेश को साझा नहीं किया। उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि कोई सरकारी अधिकारी शाम 7 बजे के बाद सुविधाओं का उपयोग कर रहा है।

एक प्रशिक्षु एथलीट के माता-पिता ने स्थिति को अस्वीकार्य बताया और कहा कि मेरे बच्चे का अभ्यास बाधित हो रहा है। यहां तक कि अगर वे कहते हैं कि वे देर रात तक सुविधाओं का उपयोग करते हैं, तो क्या आप अपने कुत्ते को चलने के लिए सरकारी स्टेडियम का उपयोग करने को उचित ठहरा सकते हैं? यह शक्तियों का घोर दुरुपयोग है।

कई एथलीटों ने कहा कि उन्होंने अपना प्रशिक्षण भारतीय खेल प्राधिकरण के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में स्थानांतरित कर दिया है, जो सिर्फ 3 किमी दूर है, जहां शाम 7.30 बजे के बाद लाइट्स चालू रहती हैं।

Web Title: delhi-thyagraj-stadium athletes coaches ias officers

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे