ऑनलाइन धोखाधड़ी होने पर इस नम्बर 155260 पर करें तत्काल फोन, अब तक 27 करोड़ रुपए का पकड़ा जा चुका है फ्रॉड

By अनिल शर्मा | Published: November 25, 2021 03:37 PM2021-11-25T15:37:02+5:302021-11-26T08:00:03+5:30

फ्रॉड करनेवाले आपको फेक मैसेज/इमेल के जरिए पीड़ित को इस बात का लालच देते हैं कि उन्हें बड़ी लॉटरी लगी है। और एक बार पीड़ित जब उनकी जाल में फंस जाता है फिर पैसे की मांग करते हैं।

cyber fraud or case of online fraud call on 155260 has helped in saving more than rs 27 crore | ऑनलाइन धोखाधड़ी होने पर इस नम्बर 155260 पर करें तत्काल फोन, अब तक 27 करोड़ रुपए का पकड़ा जा चुका है फ्रॉड

ऑनलाइन धोखाधड़ी होने पर इस नम्बर 155260 पर करें तत्काल फोन, अब तक 27 करोड़ रुपए का पकड़ा जा चुका है फ्रॉड

Next
Highlightsगृह मंत्रालय ने साइबर धोखाधड़ी को रोकने के लिए  155260 का संचालन शुरू किया हैअब तक इस हेल्पलाइन नंबर से 27 करोड़ लोगों को साइबर धोखाधड़ी से बचाया जा चुका है

नई दिल्लीः कैशलेस यानी डिजिटल भुगतान के बढ़ते प्रचलन के बीच साइबर फ्रॉड/धोखाधड़ी के मामले भी खूब सामने आ रहे हैं। महामारी के समय तो काफी लोग इसका शिकार हुए। नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पैनल के मुताबिक कोरोना काल के दौरान (डेढ़ साल में)  साइबर धोखाधड़ी (Cyber Fraud) के 3.17 लाख मामले दर्ज किए गए। इन्हीं सबको देखते हुए केंद्र सरकार ने एक ऐसी हेल्पलाइन का संचालन शुरू किया जिसकी मदद से आप अपनी आर्थिक हानि को रोक सकते हैं।  

सुरक्षित डिजिटल पेमेंट इको-सिस्टम प्रदान करने के मकसद से केंद्रीय गृह मंत्रालय ने साइबर धोखाधड़ी को रोकने के लिए राष्ट्रीय हेल्पलाइन 155260 और रिपोर्टिग प्लेटफॉर्म का संचालन शुरू किया। अगर आप के साथ किसी भी तरह की साइबर धोखाधड़ी हुई है और तत्काल इस हेल्पलाइन नम्बर पर फोन करते हैं तो आपकी गाढ़ी कमाई बच सकती है।  

155260 पर कॉल करने से फ्रॉड करने वाले अपराधी का खाता तत्काल प्रभाव से सीज कर दिया जाता है। दावा किया गया है कि अब तक इस हेल्पलाइन नंबर की मदद से 27 करोड़ की साइबर धोखाधड़ी पकड़ी जा चुकी है। इस हेल्पलाइन के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए आप इस वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं- https://cybercrime.gov.in/। ये वेबसाइट आपको साइबर फ्रॉड से बचने के लिए हर तरीके से जागरूक करती है। और उन तरीकों की जानकारी भी देती है जिसको अपनाकर आप फ्रॉड का शिकार होने से बच सकते हैं।

कैसे साइबर फ्रॉड आपको शिकार बनाते हैं?

फ्रॉड करनेवाले आपको फेक मैसेज/इमेल के जरिए पीड़ित को इस बात का लालच देते हैं कि उन्हें बड़ी लॉटरी लगी है। और एक बार पीड़ित जब उनकी जाल में फंस जाता है फिर पैसे की मांग करते हैं।

ऐसे में आपको कभी भी ऐसे इमेल या मैसेजेज का जवाब नहीं देना है। ना ही किसी भी ऐसे अंजान शख्स को भुगतान करें। मैसेज के साथ अपराधी लिंक भेजते हैं जिसपर क्लिक कर लॉटरी को क्लेम करने को कहते हैं। ऐसे मैसेज को तुरंत अपने फोन से डिलीट कर दें। और बिल्कुल भी जवाब ना दें।

ये तो साइबर फ्रॉड का सिर्फ एक उदाहरण है। इसके अलावा झूठे विज्ञापनों और लोन देने, केवाईसी (रिमोट एक्सेस फ्रॉड), बिजनेस इमेल कम्प्रोमाइज जैसे कई उनके तरीके हैं जिसके जरिए वे लोगों को लूटते हैं।

Web Title: cyber fraud or case of online fraud call on 155260 has helped in saving more than rs 27 crore

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे