Coronavirus: Delhi is likely to come in June-July where we might witness a surge in cases says says Covid panel chief | दिल्ली के लोग रहें सावधान! जून-जुलाई में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले आने की जताई गई संभावना
दिल्ली में जून-जुलाई में कोरोना के आ सकते हैं सबसे ज्यादा मामले। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Highlightsराष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जून-जुलाई में कोरोनो वायरस के मामलों की संख्या सबसे ज्यादा देखने की संभावना जताई जा रही है।दिल्ली में 448 ताजा मामले दर्ज किए गए। यह लगातार तीसरा दिन है जब दिल्ली में 400 से अधिक मामले देखे गए हैं।

नई दिल्लीःकोरोना वायरस का संक्रमण थमता नहीं दिखाई दे रहा है। आने वाले दिनों में भी और सख्त सावधानी बरतने की जरूरत है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जून-जुलाई में कोरोनो वायरस के मामलों की संख्या सबसे ज्यादा देखने की संभावना जताई जा रही है। गुरुवार को मुख्यमंत्री द्वारा गठित कोरोना वायरस रिस्पॉन्स कमेटी के प्रमुख के डॉक्टर ने कहा कि क्योंकि दिल्ली में 448 ताजा मामले दर्ज किए गए। यह लगातार तीसरा दिन है जब दिल्ली में 400 से अधिक मामले देखे गए हैं। राजधानी में 5980 मामलों में से इस सप्ताह की शुरुआत से अब तक 1431 लोग कोविड-19 के शिकार हुए हैं।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली सरकार के कोरोना वायरस रिस्पॉन्स कमेटी पैनल के प्रमुख एवं इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड बिलीरी साइंसेज के प्रमुख डॉ एस के सरीन का कहना है कि अगले 10 दिनों तक कोरोना वायरस के रोजाना 400-500 मामलों के बीच रहने की उम्मीद है। यह वायरस का प्राकृतिक कोर्स है। ये वे रोगी हैं जो 10 दिन पहले संक्रमित हुए और उनमें अब बीमारी के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। 

दिल्ली सरकार का उद्देश्य मृत्यु दर कम करना

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के मामलों की संख्या भी अधिक है। इसकी वजह राजधानी में जांच का बढ़ना है क्योंकि जांच में अत्यधिक वृद्धि की गई है। दिल्ली में रोजाना सबसे ज्यादा मामले जून-जुलाई में आने की संभावना जताई जा रही। हमारा उद्देश्य मृत्यु दर को कम रखना है, जिसे दिल्ली ने अबतक बनाए रखा है। शहर में अब तक कुल 77 हजार, 234 लोगों की जांच की गई है।

दिल्ली में तीन चरणों में कोरोना मरीजों की रिपोर्टिंग 

राजधानी के स्वास्थ्य हालात को देखते हुए समिति ने आकलन किया था और कोरोना वायरस की स्थिति को तीन चरणों में विभाजित किया। पहले चरण के दौरान जब राजधानी में एक दिन में 100 मामलों की रिपोर्टिंग शुरू की जाएगी, दूसरा चरण में एक दिन में 500 मामलों की रिपोर्टिंग और तीसरी चरण में  एक ही दिन में 1,000 मामले या अधिक रिपोर्ट किए जाएंगे। फिलहाल राजधानी दूसरे चरण में प्रवेश कर गई है, 400-500 मामले रोजोना सामने आ रहे हैं।

दिल्ली में तीन पुलिसकर्मी कोविड-19 से संक्रमित पाए गए 

आपको बता दें, दक्षिणी दिल्ली के तीन पुलिसकर्मी कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं। इनमें एक यातायात निरीक्षक भी शामिल है। पुलिस ने बताया कि संगम विहार इलाके के 59 वर्षीय यातायात निरीक्षक कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं। उन्हें चार मई को हल्का बुखार और बदन दर्द हुआ, जिसके बाद उन्हें मिंटो रोड पर सरकारी सीजीएचएस डिस्पेंसरी ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें दवाएं लिखकर पांच दिन आराम करने के लिये कहा। हालांकि अधिकारी ने एहतियाती तौर पर छह मई को कोरोना वायरस की जांच कराई। गुरुवार को आई रिपोर्ट में उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। 

दिल्ली में 11 दिन में हो रहे हैं कोरोना के दोगुने मामले

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के मामले अब 11 दिन में दोगुने हो रहे हैं। पश्चिमी देशों की तुलना में भारत की स्थिति काफी बेहतर है। कल कोविड-19 के मामले बढ़ने की दर दिल्ली में आठ प्रतिशत थी, उससे पहले यह दर 20 प्रतिशत थी, फिर यह 15 प्रतिशत हुई और अब यह 12 प्रतिशत है। स्थिति हालांकि अभी नियंत्रण में है। फिर भी हमें अभी सतर्क रहना होगा क्योंकि अभी कुछ समय तक हमें कोरोना वायरस के साथ जीना पड़ सकता है।

 

Web Title: Coronavirus: Delhi is likely to come in June-July where we might witness a surge in cases says says Covid panel chief
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे