BrahMos misfiring incident: पाकिस्तान में गलती से मिसाइल दागने के आरोप में वायुसेना ने 3 अधिकारियों को किया बर्खास्त

By रुस्तम राणा | Published: August 23, 2022 07:26 PM2022-08-23T19:26:22+5:302022-08-23T19:35:48+5:30

भारतीय वायुसेना के मुताबिक केंद्र सरकार द्वारा दोषी पाए गए तीनों अधिकारियों की सेवाओं को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया गया है। अधिकारियों को आज, 23 अगस्त को बर्खास्तगी के आदेश दिए गए हैं।

BrahMos misfiring incident IAF sacks three officers for accidentally firing missile into Pakistan | BrahMos misfiring incident: पाकिस्तान में गलती से मिसाइल दागने के आरोप में वायुसेना ने 3 अधिकारियों को किया बर्खास्त

BrahMos misfiring incident: पाकिस्तान में गलती से मिसाइल दागने के आरोप में वायुसेना ने 3 अधिकारियों को किया बर्खास्त

Next
Highlightsब्रह्मोस मिसाइल मिसफायरिंग घटना के लिए मुख्य रूप से तीन अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया गयाजिन अधिकारियों को सेवा से बर्खास्त किया गया है उनमें एक ग्रुप कैप्टन, एक विंग कमांडर और एक स्क्वाड्रन लीडर शामिल 9 मार्च 2022 को हुई थी ब्रह्मोस मिसाइल मिसफायरिंग की घटना

नई दिल्ली: भारतीय वायु सेना ने गलती से पाकिस्तान में ब्रह्मोस मिसाइल दागने के मामले में अपने 3 अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया है। मंगलवार को वायुसेना ने कहा 9 मार्च 2022 को ब्रह्मोस मिसाइल मिसफायरिंग घटना के लिए मुख्य रूप से तीन अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया गया है।

केंद्र सरकार द्वारा उनकी सेवाओं को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया गया है। अधिकारियों को आज, 23 अगस्त को बर्खास्तगी के आदेश दिए गए हैं। भारतीय वायु सेना के अधिकारी ने कहा कि जिन अधिकारियों को सेवा से बर्खास्त किया गया है उनमें एक ग्रुप कैप्टन, एक विंग कमांडर और एक स्क्वाड्रन लीडर शामिल हैं। अधिकारी मानक संचालन प्रक्रियाओं से भटक गए जिसके कारण मिसाइल की आकस्मिक फायरिंग हुई।  

गौरतलब है कि भारतीय रक्षा मंत्रालय ने पाकिस्तान में गिरी भारतीय ब्रह्मोस मिसाइल के संबंध में स्पष्टीकरण जारी कर कहा था कि नियमित अभ्यास के दौरान छोड़ी गई मिसाइल गलती से पाकिस्तान की ओर चली गई। उस समय मामले में उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिये गये थे। हालांकि पाकिस्तान में जिस जगह मिसाइल गिरी वहां पर किसी प्रकार का जानमाल का नुकसान नहीं हुआ था। 

इस घटना के संबंध में रक्षा मंत्रालय के हवाले से कहा है कि 9 मार्च 2022 को रूटीन मेंटेनेंस के दौरान हुई तकनीकी भूल के कारण दुर्घटनावश मिसाइल फायर हो गई। भारत सरकार ने इस मामले को बड़ी ही गंभीरता से लिया है और इसके जांच के लिए उच्चस्तरीय कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के आदेश दे दिये गये हैं।

वहीं इस मामले में पाकिस्तान का आरोप था कि 9 मार्च को भारत से एक 'सुपरसोनिक प्रोजेक्टाइल' फायर किया गया। पाक सेना ने सीधे तौर पर कहा कि भारतीय सेना की एक सुपरसोनिक मिसाइल हरियाणा के सिरसा से दागी गई थी। जिसे पाकिस्तान की एयर-डिफेंस सिस्टम ने ट्रैक किया था। पाकिस्तान ने अपने बयान में मिसाइल से किसी प्रकार के जानमाल के नुकसान नहीं होने की बात कही थी। साथ ही इसे इंटरनेशनल एविएशन सेफ्टी के खिलाफ बताया था।  

Web Title: BrahMos misfiring incident IAF sacks three officers for accidentally firing missile into Pakistan

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे

टॅग्स :IAF