Bihar: 17 killed due to lightning, many scorched | बिहार: आकाशीय बिजली गिरने से हुई 17 लोगों की मौत, कई लोग झुलसे, पेड़ के नीचे दबकर 6 पुलिसकर्मी घायल
बिहार: आकाशीय बिजली गिरने से हुई 17 लोगों की मौत, कई लोग झुलसे, पेड़ के नीचे दबकर 6 पुलिसकर्मी घायल

Highlightsबिहार के बीते जून महीने में भी वज्रपात गिरने से 29 लोगों की मौत हो गई थी. बिजली गिरने से कैमूर जिले में सबसे अधिक 4 लोगों की मौत  हो गई है.

बिहार के कई जिलों में मंगलवार की देर शाम हुई तेज बारिश के दौरान वज्रपात(आकाशीय बिजली) से जहां 17 लोगों की मौत हो गई. वहीं, कई लोग गंभीर रूप से जख्मी भी हो गए हैं.

इसके साथ ही कई मवेशियों के भी मरने की खबर है. प्रदेश के आपदा प्रबंधन विभाग ने इन मौतों की पुष्टि करते हुए घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है. 

आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि सरकार ऐसे संकट काल में मृतकों के परिजनों के साथ खडी है.

राज्य सरकार ने वज्रपात से हुई मौत के बाद मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है.

दरअसल, मंगलवार की दोपहर बाद कई जिलों में तेज हवा के साथ कई इलाकों में मूसलाधार बारिश हुई और इस दौरान अलग-अलग जिलों से वज्रपात यानि आकाशीय बिजली गिरने की घटनाएं सामने आईं. जिनमें 17 लोगों की मौत की खबर के साथ ही 5 लोगों के झुलसने की भी सूचना है.

वहीं पटना में पुलिस लाइन में भारी बारिश के कारण एक बड़ा पेड़ गिर गया, जिसके नीचे दबकर छह पुलिस कर्मी घायल हो गए हैं. घायल पुलिसकर्मी टेंट लगाकर रह रहे थे. सभी घायलों को इलाज के लिए पीएमसीएच में भर्ती कराया गया है.  

प्राप्त जानकारी के अनुसार बिजली गिरने से कैमूर जिले में सबसे अधिक 4 लोगों की मौत  हो गई है. वहीं जिले में अलग-अलग जगहों पर गिरी आकाशीय बिजली के कारण पांच लोग झुलस गए. जबकि मोतिहारी में भी वज्रपात से तीन लोगों की मौत की खबर है.

वहीं, अरवल जिले में भी मूसलाधार बारिश के साथ कई जगहों पर आकाशीय बिजली गिरने की घटनाएं सामने आई हैं. इसके साथ ही जहानाबाद और मुजफ्फरपुर से भी आकाशीय बिजली गिरने से मौत की खबर है. यहां इन घटनाओं में तीन लोगों की मौत हो गई है.

जहानाबाद में वज्रपात से दो लोगों की मौत हुई है, जबकि मुजफ्फरपुर में इसके कारण एक व्यक्ति को जान गंवानी पडी.

आपदा प्रबंधन विभाग ने गया व कैमूर से 3-3, पटना, भोजपुर, मोतिहारी, मुजफ्फरपुर और सिवान से 2-2 और कटिहार में एक की मौत की पुष्टि की है.

इस बीच वज्रपात की बढती घटनाओं को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से वज्रपात से होने वाली मौतों में कमी किए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं.

विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा कि विभाग ने एक अमेरिकी कंपनी से किया करार किया है, जिसके तहत वज्रपात की सूचना के लिए सेंसर लगाए जाएंगे.

उन्होंने बताया कि इन सेंसरों के जरिये वज्रपात की सूचना समय मिल जाएगी और लोगों को आगाह किया जा सकेगा. जिससे वज्रपात से होने वाली मौतों में कमी आएगी.

यहां बता दें कि बिहार के बीते जून महीने में भी वज्रपात गिरने से 29 लोगों की मौत हो गई थी.


Web Title: Bihar: 17 killed due to lightning, many scorched
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे