Arun Jaitley blog congress How Many Lies Need to be Peddled to Sustain a Sinking Dynasty | डूबते राजवंश को बचाने के लिए कांग्रेस और कितने झूठ बोलेगी: अरुण जेटली
डूबते राजवंश को बचाने के लिए कांग्रेस और कितने झूठ बोलेगी: अरुण जेटली

Highlightsकांग्रेस पार्टी का बिना नाम लिए जेटली ने लिखा है, ''सबसे बड़ी दुख की बात ये है कि भारत की सबसे पुरानी राष्ट्रीय पार्टी वंशवाद के चुंगल में फंस गई है।कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने भी कैग राजीव महर्षि को लेकर हितों के टकराव का आरोप लगाया था।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की राफेल से संबंधित रिपोर्ट को 'चौकीदार ऑडिटर जनरल' की रिपोर्ट करार दिया है। इस आरोप के बाद केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली ने ब्लॉग लिखकर कांग्रेस पर निशाना साधा है। अरुण जेटली ने ब्लॉग का शीर्षक लिखा है, ''आखिर एक डूबते राजवंश को बचाने के लिए इन लोगों को और कितने झूठ बोलने पड़ेंगे।'' 

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कहा, ''पूरे विश्व में ज्यादातर लोकतंत्रों में जो लोग भी झूठ का सहारा लेकर आगे बढ़ने की कोशिश करते हैं, वे लोग अंत वक्त में खुद ही सामाजिक गतिविधियों से गायब हो जाते हैं। इसमें कोई दोराय नहीं है कि सामाजिक और आर्थिक परिवेशों में भारत में भी एक दिन ऐसा ही होगा।''

ब्लॉग के दूसरे पैराग्राफ में जेटली लिखते हैं, ''इस मॉर्डन वर्ल्ड में जितने भी राजनीतिक वंश हैं, उनकी अपनी मर्यादाएं भी हैं। आज की महत्वाकंक्षी समाज इस तरह की व्यवस्था को बिल्कुल भी पसंद नहीं करता है। आज के समाज में रहने वाले लोद जवाबदेही और काम करने वाले लोगों पर भरोसा करते हैं।''

कांग्रेस पार्टी का बिना नाम लिए जेटली ने लिखा है, ''सबसे बड़ी दुख की बात ये है कि भारत की सबसे पुरानी राष्ट्रीय पार्टी वंशवाद के चुंगल में फंस गई है। उनके पार्टी के नेताओं में इतनी भी हिम्मत नहीं है कि वे इस वंशवाद के बारे में किसी को सही या गलत बता सके। हमारे देश में इस ट्रेंड की शुरुआत 1970 में हुई थी। देश में आपतकाल के बाद से ही ऐसा चला आ रहा है। इस गुलाम वाली मानसिकता ने उन्हें एक ही वंश और एक परिवार की बात मानने की आदत हो गई है, और जब यही परिवार झूठ बोलता है तो बाकी के सारे नेता भी इनके राग में राग मिलाने लगते हैं।"

अरुण जेटली का ब्लॉग 

राहुल गांधी का दावा- कैग रिपोर्ट ''चौकीदार ऑडिटर जनरल'' की रिपोर्ट

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की राफेल से संबंधित रिपोर्ट को 'चौकीदार ऑडिटर जनरल' की रिपोर्ट करार दिया है। नरेन्द्र मोदी सरकार पर आरोप लगाया है कि मौजूदा कैग राजीव महर्षि से सही रिपोर्ट की उम्मीद नहीं की जा सकती क्योंकि वह इस रक्षा सौदे का हिस्सा रहे हैं।

कैग की रिपोर्ट के बारे में पूछे जाने पर गांधी ने संवाददाताओं से कहा, ''यह ‘चौकीदार ऑडिटर जनरल’ की रिपोर्ट है। यह नरेंद्र मोदी की रिपोर्ट है। रिपोर्ट चौकीदार के द्वारा और चौकीदार के लिए लिख्री गई है।'' 

उन्होंने कहा, ''राफेल मामले में बहुत सारे साक्ष्य सामने आए हैं। हमारा यह कहना है कि जो कैग हैं वो इस रक्षा सौदे से जुड़े फैसले में शामिल रहे हैं। ऐसे में वह सही रिपोर्ट नहीं दे सकते।'' पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी ने सोमवार को कहा था, "इस मामले की संयुक्त संसदीय समिति से जांच बहुत आवश्यक है और अगर इन सारे तथ्यों को संज्ञान में नहीं लिया जाता है ,जो अखबार के माध्यम से पिछले 6-8 महीनों में सार्वजनिक हुए हैं, तो उस रिपोर्ट का बिल्कुल कोई महत्व नहीं होगा।'' इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने भी महर्षि को लेकर हितों के टकराव का आरोप लगाया था।


Web Title: Arun Jaitley blog congress How Many Lies Need to be Peddled to Sustain a Sinking Dynasty
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे