सेना ने जारी की चेतावनी, 'चीन अरुणाचल की सीमा पर तेजी से कर रहा है बुनियादी ढांचे का विकास'

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: May 16, 2022 08:05 PM2022-05-16T20:05:46+5:302022-05-16T20:14:58+5:30

भारतीय सेना के पूर्वी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल आरपी कलिता ने कहा कि चीनी सेना सीम पर तेजी से हलचल कर रहा है। चीनी फौज सीमा पार अपने बुनियादी ढांचे और क्षमताओं में लगातार वृद्धि कर रहा है।

Army issued a warning, China is rapidly developing infrastructure on the border of Arunachal | सेना ने जारी की चेतावनी, 'चीन अरुणाचल की सीमा पर तेजी से कर रहा है बुनियादी ढांचे का विकास'

सेना ने जारी की चेतावनी, 'चीन अरुणाचल की सीमा पर तेजी से कर रहा है बुनियादी ढांचे का विकास'

Next
Highlightsअरुणाचल सीमा पर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी लगातार अपनी गतिविधियों को बढ़ा रही हैचीन सीमा पर सैन्य क्षमताओं के साथ बुनियादी ढांचे को लगातार बढ़ा रहा है चीनी फौज सीमावर्ती गांवों का तेजी से निर्माण कर रहा है

गुवाहाटी: पाकिस्तान के साथ चीन भी भारत के लिए लगातार भारी चुनौती का सबब बनता जा रहा है। ताजा जानकारी के मुताबिक सेना के पूर्वी कमान ने सोमवार को जानकारी दी कि अरुणाचल स्थित अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) लगातार अपनी गतिविधियों को बढ़ा रही है और सीमा पर सैन्य क्षमताओं के साथ बुनियादी ढांचे को लगातार बढ़ाने में लगा हुआ है।

इस मामले में जानकारी देते हुए पूर्वी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल आरपी कलिता ने कहा कि भारत भी चीनी सेना की बढ़ती हुई हलचल को देखते सीमा पर पैदा होने वाली किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए बुनियादी ढांचे और क्षमताओं में लगातार वृद्धि कर रहा है।

लेफ्टिनेंट जनरल कलिता ने कहा, "भारत देख रहा है कि चीन तिब्बत में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पार सेना के लिए ढेरों बुनियादी ढांचे का विकास कर रहा है। वहीं भारत भी लगातार सीमा क्षेत्र में सड़क, रेल और हवाई संपर्क को और बेहतर कर रहा है ताकि इमरजेंसी सिचुएशन में वे किसी भी स्थिति का मुकाबला करने में बेहतर स्थिति में रहे और जरूरत पड़ने पर फौरन सैन्य संसाधनों को जुटा सके।"

इसके साथ ही लेफ्टिनेंट जनरल आरपी कलिता ने यह भी कहा कि चीनी अधिकारी वास्तविक नियंत्रण रेखा के करीब स्थित सीमावर्ती गांवों का तेजी से निर्माण कर रहे हैं, जिनका इस्तेमाल चीनी फौज द्वारा दोहरे उद्देश्यों के लिए भी किया जा सकता है।

उन्होंने कहा, "भारतीय फौज लगातार स्थिति की निगरानी कर रही है। हम भी अपनी स्थिति को मजबूत करने के लिए और बुनियादी ढांचे के साथ-साथ अपनी क्षमताओं का विकास करने के लिए उन्नत तंत्र का सहारा ले रहे हैं। इस कारण मौजूदा समय में हम बेहतर स्थिति में हैं।" (समाचार एजेंसी पीटीआई के इनपुट के साथ)

Web Title: Army issued a warning, China is rapidly developing infrastructure on the border of Arunachal

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे