Amit Shah on Godse Controversy, said- party took this statement seriously! | गोडसे विवाद पर सामने आए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, कहा- इन बयानों का पार्टी से कोई संबंध नहीं
अमित शाह (फाइल फोटो)

Highlightsबीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गोडसे पर विवादित बयानों को गंभीरता से लेने का फैसला किया है।इससे पहले बीजेपी नेता साध्वी प्रज्ञा, अनंत कुमार हेगड़े और नलीन कटील ने विवादित बयान दिए थे।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गोडसे पर विवादित बयानों को गंभीरता से लेने का फैसला किया है। उन्होंने कहा बीजेपी नेता साध्वी प्रज्ञा, अनंत हेगड़े और नलीन कटील के बयानों को अनुशासनात्मक समिति के पास भेजेंगे। 

शुक्रवार को उन्होंने ट्वीट में लिखा, 'विगत 2 दिनों में श्री अनंतकुमार हेगड़े, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और श्री नलीन कटील के जो बयान आये हैं वो उनके निजी बयान हैं, उन बयानों से भारतीय जनता पार्टी का कोई संबंध नहीं है।'

उन्होंने लिखा, 'इन लोगों ने अपने बयान वापिस लिए हैं और माफ़ी भी मांगी है। फिर भी सार्वजनिक जीवन तथा भारतीय जनता पार्टी की गरिमा और विचारधारा के विपरीत इन बयानों को पार्टी ने गंभीरता से लेकर तीनों बयानों को अनुशासन समिति को भेजने का निर्णय किया है। अनुशासन समिति तीनों नेताओं से जवाब मांगकर उसकी एक रिपोर्ट 10 दिन के अंदर पार्टी को दे, इस तरह की सूचना दी गयी है।'

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने भोपाल से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ बताने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी को लेकर सवाल खड़ा किया है। सिब्बल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘जब साध्वी प्रज्ञा, गोडसे को देशभक्त बताती हैं और ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त की जाती है तो मोदी खामोश रहते हैं। मैं यही प्रार्थना और आशा कर सकता हूं कि मूक बने ज्यादातर लोग हिंसा को दरकिनार करेंगे।’’

इससे पहले बीजेपी नेता साध्वी प्रज्ञा, अनंत कुमार हेगड़े और नलीन कटील ने विवादित बयान दिए थे। पार्टी के किनारा करने के बाद साध्वी प्रज्ञा ने अपना बयान वापस ले लिया और माफी मांगी है। अनंत किमार हेगड़े ने कहा कि उनका अकाउंट हैक करके ये ट्वीट किए गए थे।


Web Title: Amit Shah on Godse Controversy, said- party took this statement seriously!