Independence Day 2022 की परेड में सभी सरकारी अफसर शामिल हो- कोरोना और आतंकी खतरे के बीच सरकार ने जारी किया आदेश

By सुरेश एस डुग्गर | Published: August 7, 2022 04:34 PM2022-08-07T16:34:40+5:302022-08-07T16:39:14+5:30

वहीं इस पर बोलते हुए सुरक्षा एजेंसियों से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान जिस तरह अलग थलग पड़ चुका है, उसे देखते हुए आईएसआई किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की साजिश रच रही है।

All officers should participate Independence Day 2022 parade Govt issued order between Corona terrorist threat | Independence Day 2022 की परेड में सभी सरकारी अफसर शामिल हो- कोरोना और आतंकी खतरे के बीच सरकार ने जारी किया आदेश

Independence Day 2022 की परेड में सभी सरकारी अफसर शामिल हो- कोरोना और आतंकी खतरे के बीच सरकार ने जारी किया आदेश

Next
Highlightsकोरोना और आतंकी खतरे के बीच सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।सरकार ने सभी सरकारी अफसरों को 15 अगस्त की परेड शामिल होने को कहा है। इसके देखते हुए उनकी छुट्टियां भी रद्द कर दी गई है।

जम्मू: फिर से बढ़ते कोरोना और आतंकी खतरों के बीच प्रदेश प्रशासन ने सभी सरकारी अफसरों से कहा है कि वे जम्मू तथा श्रीनगर में होने वाले समारोहों में उपस्थिति सुनिश्चित करें। यह आदेश अंडर सेक्रेटरी लेवल से उपर के अफसरों के लिए है। इस बीच जम्मू में मुख्य समारोह एमए स्टेडियम परेड में आयोजित किया जाएगा, जिसे सुरक्षा व्यवस्था के तहत सील कर दिया गया है।

केंद्रीय खुफिया एजेंसियों ने दी आतंकी हमले की चेतावनी

स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान आतंकी हमले की केंद्रीय खुफिया एजेंसियों की चेतावनी को देखते हुए जम्मू पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। ऐसे में पुलिस अफसरों और मुलाजिमों की 20 अगस्त तक छुट्टियां रद कर दी गई हैं। 

सुरक्षा-व्यवस्था के किए गए है पोख्ता इन्तेजाम

अंतरराष्ट्रीय सीमा से आतंकियों के राज्य में घुसपैठ की आशंका के मद्देनजर पाकिस्तान की सीमा से सटे क्षेत्रों और पंजाब से लगी सीमा पर कड़ी चौकसी बरती जा रही है। केंद्र शासित क्षेत्र प्रशासन ने कोरोना वायरस मामलों में वृद्धि के बावजूद लोगों को समारोह भाग लेने की अनुमति देने का फैसला किया है। 

वाहनों की जांच पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है और जम्मू-पठानकोट तथा जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर विशेष रूप से जांच की जा रही है। 

आतंकवादियों के प्रवेश-हथियारों की तस्करी के लिए उठाया गया यह कदम

पुलिस ने सभी ट्रक ड्राइवरों और उनके सहायकों का रिकार्ड रखने के लिए एक मोबाइल एप भी बनाया है ताकि आतंकवादियों के प्रवेश और हथियारों की तस्करी को रोका जा सके। सीमा की सुरक्षा भी कड़ी कर दी गयी है और सभी सीमावर्ती सड़कों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। पुलिस और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल को तैनात किया गया है और 24 घंटों गश्त और गहन जांच का जिम्मा सौंपा गया है।

क्या बोले जम्मू के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक

इस पर बोलते हुए जम्मू के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस पर शांति सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्य समारोह स्थल के आसपास विशेष प्रबंध किए गए हैं और शांति बनाए रखने के लिए लोगों से सहयोग मांगा गया है।

सुरक्षा एजेंसी के अधिकारी ने क्या कहा

मामले में बोलते हुए सुरक्षा एजेंसियों से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि जम्मू कश्मीर को लेकर बीते एक सप्ताह के दौरान जो घटनाक्रम हुआ है, उससे आतंकियों के आका हताश हो चुके हैं। कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान जिस तरह अलग थलग पड़ चुका है, उसे देखते हुए आईएसआई किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की साजिश रच रही है। 

बड़ी वारदात को अन्जाम देने के फिराक में है आतंकी

पाकिस्तानी सेना ने एलओसी पर अपनी गतिविधियां बढ़ा दी हैं। कुछ रेडियो संदेश भी पकड़े गए हैं, जो इस बात का संकेत कर रहे हैं कि बीते एक सप्ताह से अपनी मांद में छिपे आतंकियों को उस पार कश्मीर में बैठे उनके कमांडर किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए लगातार कह रहे हैं।

सुरक्षा एजेंसियों से जुड़े अधिकारी ने बताया कि आतंकी अपनी उपस्थिति का अहसास कराने के लिए किसी सॉफ्ट टारगेट को चुन सकते हैं। वह किसी जगह बम विस्फोट या सुरक्षाबलों के कैंप पर हमला कर सकते हैं। आतंकी हमले की आशंका को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था की नए सिरे से समीक्षा कर आवश्यक सुधार किए गए हैं।
 

Web Title: All officers should participate Independence Day 2022 parade Govt issued order between Corona terrorist threat

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे