IAS में बहाली के बाद शाह फैसल ने धारा 370 हटाने को चुनौती देने वाली याचिका SC से ली वापस

By रुस्तम राणा | Published: September 20, 2022 07:46 PM2022-09-20T19:46:50+5:302022-09-20T19:46:50+5:30

शाह फैसल ने याचिका वापस लेने का फैसला इस साल अप्रैल में भारतीय प्रशासनिक सेवा में वापस लेने और संस्कृति मंत्रालय में उप सचिव नियुक्त किए जाने के महीनों बाद किया।

After reinstatement in IAS, Shah Faesal withdraws the petition challenging the removal of Article 370 from the Supreme Court | IAS में बहाली के बाद शाह फैसल ने धारा 370 हटाने को चुनौती देने वाली याचिका SC से ली वापस

IAS में बहाली के बाद शाह फैसल ने धारा 370 हटाने को चुनौती देने वाली याचिका SC से ली वापस

Next
Highlightsफैसल ने SC में धारा 370 के प्रावधानों को निरस्त करने के केंद्र के फैसले को चुनौती दी थीशाह फैसल ने 2009 में यूपीएससी परीक्षा में शीर्ष स्थान प्राप्त किया था जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को निरस्त करने के बाद शाह ने IAS से दिया था इस्तीफा

नई दिल्ली: आईएएस अधिकारी शाह फैसल ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म करने के राष्ट्रपति के आदेश को चुनौती देने वाली सुप्रीम कोर्ट से अपनी याचिका वापस ले ली है। फैसल उन 23 याचिकाकर्ताओं में शामिल थे जिन्होंने अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने के केंद्र के फैसले को चुनौती दी थी। 

शाह फैसल ने याचिका वापस लेने का फैसला इस साल अप्रैल में भारतीय प्रशासनिक सेवा में वापस लेने और संस्कृति मंत्रालय में उप सचिव नियुक्त किए जाने के महीनों बाद किया। उन्होंने जम्मू-कश्मीर में अपनी खुद की राजनीतिक पार्टी बनाने के विरोध में 2019 में सेवा से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि, उनका इस्तीफा सरकार ने कभी स्वीकार नहीं किया और बाद में उन्होंने इसे वापस ले लिया था।

अपने इस्तीफे के समय उन्होंने कहा था कि कश्मीर में बेरोकटोक हत्याओं और केंद्र सरकार की ओर से किसी भी विश्वसनीय राजनीतिक पहल की अनुपस्थिति का विरोध करने के लिए, मैंने आईएएस से इस्तीफा देने का फैसला किया है। कश्मीरी जीवन मायने रखता है। मार्च 2019 में, उन्होंने अपनी खुद की राजनीतिक पार्टी, जम्मू और कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट बनाई। लेकिन उनका राजनीतिक करियर अचानक समाप्त हो गया। 

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस्तीफा वापस लेने के उनके आवेदन के बारे में जम्मू-कश्मीर प्रशासन से राय मांगी थी। आतंकवादियों ने उत्तरी कश्मीर के सुदूरवर्ती गांव लोलाब के रहने वाले फैसल के पिता की 2002 में हत्या कर दी थी। फैसल ने 2009 में यूपीएससी परीक्षा में शीर्ष स्थान प्राप्त किया था। 

फैसल को 14-15 अगस्त, 2019 की मध्यरात्रि दिल्ली हवाई अड्डे पर हिरासत में लिया गया था और वापस श्रीनगर भेज दिया गया, जहां उन्हें हिरासत में रखा गया था। उन पर फरवरी 2020 में लोक सुरक्षा अधिनियम लगाया गया था, जिसे चार महीने बाद रद्द कर दिया गया था।

Web Title: After reinstatement in IAS, Shah Faesal withdraws the petition challenging the removal of Article 370 from the Supreme Court

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे