सर्दियों के मौसम में ड्राई स्किन एक बड़ी समस्या है जिससे आपको खुजली, फोड़े, फुंसी, दाद आदि की समस्या हो सकती है। खुजली को सामान्य समझ कर नजरअंदाज करना दाद-खाज का कारण बनता है। दाद-खाज की समस्या में त्वचा पर लाल रंग के छोटे-छोटे दाने होने लगते है। 

स्किन के ज्यादा ड्राई होने से प्रभावित हिस्से पर लाल निशान और जलन होने लगती है। दाद की समस्या धीरे-धीर फैलती रहती है। यह समस्या फंगल इंफेक्शन के कारण होती है। अगर ध्यान न दिया जाए, तो फंगल इंफेक्शन धीरे-धीरे पूरे हिस्से में फैलने लगता है। 

मेडिकल एक्सपर्ट के अनुसार, सर्दियों दाद, खाज और खुजली त्वचा से संबंधित रोगों में काफी तेजी से इजाफा हुआ हैं। इसका समय से इलाज न किया जाए, तो ये एक गंभीर बीमारी का रूप में लेती है। इस बीमारी का मुख्य कारण खराब पहनावा, खानपान और दिनभर एक ही स्थान पर बैठकर काम करना भी होता है।

जो लोग रोजाना स्नान नहीं करते हैं, उन्हें इस रोग के होने की सबसे अधिक सम्भावना होती है। आजकल के फैशन के दौर में लोगो बहुत तंग कपड़े पहनते हैं, जिस वजह से त्वचा को हवा नहीं मिल पाती है। 

खुजली से है कैंसर का खतरा
शरीर में हो रही खुजली को हल्के में नहीं लेना चाहिए। क्योकि समय रहते यदि इनका इलाज न किया गया तो किडनी, खून की कमी, थाइराइड और कैंसर जैसी समस्या उत्पन्न हो जाती है। इतना ही नहीं कभी कभी किसी अन्य बीमारी के इलाज समय ली जाने वाली एंटीबायोटिक के साइडएफेक्ट के कारण भी दाद या खुजली हो जाती है। अनियमित या अधिक तेलीय पदार्थ खाने से भी खुजली की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

त्वचा रोगों से बचने के उपाय

समय पर अपनी त्वचा की सफाई इन बीमारियों को फैलने से रोका जा सकता है। जरूरत से ज्यादा गर्म पानी से स्नान नहीं करना चाहिए। हमेशा हल्के गुनगुने या ताजा पानी से स्नान करना चाहिए। स्नान के बाद मॉस्चराइजर या सरसों का तेल जरूर लगाएं। क्योकि ऐसा करने से आपकी त्वचा से रूखापन गायब हो जाता है।

 

चंदन पाउडर
चंदन पाउडर में क्लींजिंग गुण होते हैं। इसे दूध या गुलाब जल के साथ मिलाने से भी दाग-धब्बे दूर करने में मदद मिलती है। इसके लिए आपको चंदन पाउडर, दूध। गुलाब जल चाहिए। पहले चंदन पाउडर को दूध या गुलाब जल के साथ मिलाकर पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर आधे घंटे के लिए लगाएं। इसके बाद ठंडे पानी से अपना चेहरा धो लें।

मॉस्चराइजर
सोरायसिस में त्वचा तुरंत-तुरंत शुष्क हो जाती है और इससे खुजली और नोचने की प्रवृति भी जल्दी-जल्दी होने लगती है। इससे बचने के लिए त्वचा में हमेशा नमी बनाए रखें। त्वचा को जल्दी शुष्क ही नहीं होने दें। पूरे बदन में मॉस्चराइजर का लेप हमेशा लगा कर रखें।

गुनगुने पानी में स्नान
तेल, ओटमील, सेंधा नमक गुनगुने पानी में मिला कर बाथ टब में 15 मिनट बैठ जाए। निकलने के बाद पूरे बदन में मॉस्चराइजर लगा ले। इससे स्किन का ड्राइनेस कम होगा और त्वचा पर पपड़ी भी नहीं जमेगी।

नीम का पानी
गर्मियों में त्वचा पर फुंसी होना भी आम समस्या है। रोम छिद्रों के संक्रमित होने पर फुंसी होती है। यह चेहरे, खोपड़ी, बगल, पीठ, छाती, गर्दन, जांघों और नितंबों पर कहीं भी हो सकती हैं। इससे राहत पाने के लिए आप नीम के पानी से स्नान कर सकते हैं। इसके अलावा प्रभावित हिस्से पर सेब के सिरके को पानी के साथ मिलाकर लगा सकते हैं।

शहद 
इसके लिए आपको शहद, सूखी ओट्स और एलोवेरा जेल चाहिए। पहले शहद, सूखी ओट्स और एलोवेरा जेल को ब्लेंड करके पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 30 मिनट के लिए छोड़ दें। 30 मिनट के बाद, पैक को गुनगुने पानी से धो लें।


Web Title: winter skin care tips: easy tips and home remedies to get rid skin diseases in winter session
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे