कोरोन वायरस का कोई इलाज नहीं है और इससे सिर्फ सुरक्षा ही बचाव है। कोरोना से बचने के सुरक्षा के उपायों में साबुन और पानी से हाथ धोना और मास्क पहनना दो अहम उपाय हैं। इन दो उपायों को एक्सपर्ट्स कारगर मानते हैं. यही वजह है कि लगभग सभी देशों ने अपने दिशा-निर्देशों में इन दो उपायों को अधिक मान्यता दी गई है। 

द सन की एक रिपोर्ट के अनुसार, एक नए शोध में इस बात का दावा किया गया है कि दिन में कम से कम 6 बार हाथ धोकर और चेहरा ढककर कोरोना संक्रमण का खतरा 90% तक खत्म किया जा सकता है। मास्क लगाते हैं तो 90 फीसदी तक ड्रॉप्लेट्स (छींक-खांसी की छोटी बूंदें) से होने वाला संक्रमण रोका जा सकता है।  

यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के शोधकर्ताओं का कहना है कि कोरोना जैसे खतरनाक वायरस के संक्रमण से बचने के लिए रोजाना कम से कम 6 बार और ज्यादा से ज्यादा 10 बार हाथ धोना जरूरी। 2006 से 2009 के बीच फैली वायरस की महामारी के आंकड़ों के मुताबिक, इसे साबुन और पानी से खत्म किया जा सकता है।

एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने सात अलग-अलग तरह से चेहरे को ढकने वाले मास्क पर रिसर्च की। इनमें मेडिकल मास्क और होममेड मास्क भी शामिल थे। शोधकर्ताओं का कहना ये भी कोरोना को रोकते हैं। शोधकर्ता डॉ. फेलिसिटी मेहनउेल के मुताबिक, चाहें घर के बने मास्क हों या सर्जिकल ये सभी सीधे तौर पर आने वाले वायरस को रोकने में सफल हैं।

मास्क चारों तरह से जितना पैक उतना बेहतर: शोधकर्ता का कहना है कि कुछ मास्क ऐसे होते हैं, जिसमें किनारों से तेजी से हवा अंदर आती है। जबकि सर्जिकल और टेस्टेड होममेड मास्क हवा के फ्लो को रोकता है। अगर मास्क में चारों तरफ से हवा जाने की जगह नहीं है तो यह सबसे सुरक्षित है।

इसके सुरक्षा के उपायों में हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोना भी शामिल है। कई लोग उचित तरीके से हाथ धोने का तरीका नहीं जानते हैं। कई लोग बहुत कम समय तक हाथ धोते हैं जोकि सही तरीका नहीं है। 

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार, हाथ धोने का उचित तरीका यह है कि कम से कम 20 सेकंड तक लिए साबुन और पानी से हाथ धोने चाहिए। जर्नल ऑफ़ एनवायर्नमेंटल हेल्थ में प्रकाशित इस अध्ययन के अनुसार, सिर्फ 5% लोग टॉयलेट का उपयोग करने के बाद अपने हाथों को 15 सेकंड तक धोते हैं।

हाथ धोने का सही तरीका क्या है?

स्टेप 1: साबुन लगाकर सर्कुलेशन मोशन में अपनी हथेलियों को एक साथ रगड़ें। 

स्टेप  2: अपने हाथों के पीछे से भी रगड़ें। 

स्टेप  3: अपनी उंगलियों के अंदर और अपने नाखूनों के नीचे से भी रगड़ें।

स्टेप  4: उंगलियों को बीच में फंसाकर रगड़ें।

साबुन का प्रयोग करें
अपने हाथों पर साबुन लगाने से पहले पानी से गीला कर लें। साबुन और पानी का एक साथ इस्तेमाल न करें, इससे साबुन सही तरह नहीं लगता है। साबुन एक ऐसा पदार्थ है, जो आपके हाथ से बैक्टीरिया को साफ करने में मदद करता है। इसके लिए आप लिक्विड साबुन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 

सिर्फ 6 सेकंड धोते हैं हाथ
एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि सामान्य तौर पर लोग सिर्फ 6 सेकंड ही अपने हाथों को धोते हैं जबकि कोरोना से बचने के लिए 20 सेकंड की सिफारिश की गई है। 

दो बार गायें हैप्पी बर्थडे सोंग 
बीस सेकंड हाथ धोने का सबसे बेहतर उपाय यह है कि आप हाथ धोते समय "हैप्पी बर्थडे" गीत को दो बार गाएं। इस गीत को बीस सेकंड में दो बार गाया जा सकता है। हालांकि कई बार समय इस बात पर भी निर्भर करता है कि आपने क्या छुआ है और कितनी बार।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि हाथों के सबसे कमजोर हिस्से आपकी उंगलियों, आपकी उंगलियों के बीच, आपके हाथों की पीठ और आपके नाखूनों के नीचे होते हैं। इन सतहों को पर्याप्त बल के साथ रगड़ना महत्वपूर्ण है। जो लोग लंबे नाखून रखते हैं, उन्हें अतिरिक्त सतर्क रहना चाहिए।

English summary :
A new research has claimed that the risk of corona infection can be reduced by 90% by washing hands and covering the face. If you apply a mask, up to 90% infection from droplets (small drops of sneezing and coughing) can be prevented.


Web Title: Coronavirus: study claim washing your hands more than six times daily slashes the risk of catching Covid-19, best ways to handwash and kill corona
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे