JEE Advance cut off, seat increased to 16053 iit | जेईई एडवांस की कट ऑफ में गिरावट, सीट बढ़कर 16053, जानिए मामला
करीब 8.5 लाख छात्रों ने परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। इसमें करीब 2.5 लाख छात्र उत्तीर्ण हुए।

Highlightsबहस चल रही है कि आखिर जेईई एडवांस की कट आफ पिछले 5 सालों में गिरकर करीब आधी क्यों रह गई है।इन सीटों को भरने के लिए ही कट ऑफ को गिराया गया है। जिससे कोई सीट खाली न रह जाए।अंदाजा इसी बात ये लगाया जा सकता है कि जेईई एडवांस परीक्षा से पहले जेईई मुख्य परीक्षा का आयोजन होता है।

नई दिल्लीः आईआईटी में दाखिले के लिए देश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा जेईई एडवांस को लेकर विशेषज्ञों के बीच एक बहस चल रही है कि आखिर जेईई एडवांस की कट आफ पिछले 5 सालों में गिरकर करीब आधी क्यों रह गई है।

वर्ष 2017 में जहां जेईई एडवांस की कट ऑफ 128 जारी हुई थी वहीं इस साल यह सामान्य श्रेणी में मात्र 69 रह गई है। इस कट ऑफ के क्या मायने हैं और ऐसा क्यों किया गया? लोकमत के इस सवाल पर जेईई एडवांस परीक्षा के चेयरमैन प्रो. सिद्धार्थ पांडेय ने विशेष बातचीत में कहा कि पिछले साल देश की सभी आईआईटीज में बीटेक कोर्स के लिए दाखिला सीटें करीब 13604  हजार थी, इस साल यह संख्या बढ़ाकर 16053 कर दी गई है। इन सीटों को भरने के लिए ही कट ऑफ को गिराया गया है। जिससे कोई सीट खाली न रह जाए।

आईआईटी में दाखिले के लिए कितनी मारामारी है। इसका अंदाजा इसी बात ये लगाया जा सकता है कि जेईई एडवांस परीक्षा से पहले जेईई मुख्य परीक्षा का आयोजन होता है। साइंस स्ट्रीम से बारहवीं उत्तीर्ण छात्र इस परीक्षा को देते हैं। इस साल करीब 8.5 लाख छात्रों ने परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। इसमें करीब 2.5 लाख छात्र उत्तीर्ण हुए।

इन उत्तीर्ण छात्रों में से 160838 ने जेईई एडवांस परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन किया और परीक्षा में उत्तीर्ण हुए मात्र 43204 छात्र। आईआईटी दिल्ली में जेईई एडवांस परीक्षा के चेयरमैन प्रो. सिद्धार्थ पांडेय ने लोकमत से कहा कि कट ऑफ कितनी कम गई है यह मायने नहीं रखता है।

मायने यह रखता है कि उत्तीर्ण हुए छात्रों के आधार पर सारी सीटें भरी जाएं। क्योंकि इस साल ईडब्लयूएस श्रेणी और छात्राओं के लिए विशेष तौर पर सीटों में बढ़ोत्तरी हुई है। भविष्य में आईआईटीज में इतनी ही सीटें रहेंगी। उन्होंने यह भी कहा कि अब आगे यह कट ऑफ ओर नीचे नहीं जाएगी हो सकता है भविष्य में इसमें ज्यादा सुधार हो।

प्रो. पांडेय ने यह भी कहा कि इस बार जेईई एडवांस परीक्षा की दूसरी पाली में हुई परीक्षा में हर विषय में करीब 70 फीसदी प्रश्न न्यूमेरिकल आधारित थे। जिसे हल करने में छात्रों को थोड़ी समस्या भी आई। इससे भी कट ऑफ में गिरावट आई है।

जेईई एडवांस परीक्षा की श्रेणीवार जारी कट ऑफ :

न्यूनतम उत्तीर्ण अंक               2020  2019   2018   2017

सामान्य रैंक लिस्ट                  69      93      90      128

ओबीसी-एनसीएल रैंक लिस्ट     62      83      81      115

सामान्य-ईडब्लयूएस रैंक लिस्ट   62      83      -        -

एससी रैंक लिस्ट                   34      46      45      64

एसटी रैंक लिस्ट                    34      46      45      64

सामान्य दिव्यांग रैंक लिस्ट         34      46      45      64

Web Title: JEE Advance cut off, seat increased to 16053 iit
पाठशाला से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे