ईडी को नवाब मलिक मनी लांड्रिंग मामले में गिरफ्तार खालिद उस्मान शेख ने बताया, "दाऊद पाकिस्तान से हर महीने अपने घर वालों को खर्चे के लिए 10 लाख रुपए भेजता था"

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: May 25, 2022 02:06 PM2022-05-25T14:06:29+5:302022-05-25T14:10:36+5:30

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक के खिलाफ कोर्ट में दायर की गई चार्जशीट में बताया है कि भारत का सबसे कुख्यात भगोड़ा दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान से हर महीने मुंबई में रहने वाले अपने भाई-बहनों को खर्चे-पानी के लिए 10 लाख रुपये भेजता था।

Nawab Malik arrested in money laundering to ED Khalid Usman Sheikh told, "Dawood used to send 10 lakh rupees every month from Pakistan to his family members for expenses" | ईडी को नवाब मलिक मनी लांड्रिंग मामले में गिरफ्तार खालिद उस्मान शेख ने बताया, "दाऊद पाकिस्तान से हर महीने अपने घर वालों को खर्चे के लिए 10 लाख रुपए भेजता था"

फाइल फोटो

Next
Highlightsभगोड़ा दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान से हर महीने अपने भाई-बहनों को 10 लाख रुपये भेजता थाफरार दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान के कराची शहर में ऐश की जिंदगी जी रही हैलेडी डॉन हसीना पारकर के बेटे अलीशाह पारकर ने बताया कि मामू दाऊद 1986 तक मुंबई में ही था

मुंबई: दाऊद इब्रहिम, मुंबई बम धमाकों का गुनहगार और भारत का सबसे कुख्यात भगोड़ा पाकिस्तान से हर महीने मुंबई में रहने वाले अपने भाई-बहनों को 10 लाख रुपये भेजता था।

जी हां, यह बात प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कोर्ट में दायर महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक से संबंधिक चार्जशीट में कही है। एनसीपी नेता मवाब मलिक इस समय मनी लॉन्ड्रिंग मामले के आरोप में जेल की सलाखों के पीछे हैं।

ईडी को दिये अपनी गवाही में एक गवाह ने इस बात को भी कबूल किया है कि भारत से फरार दाऊद इब्राहिमपाकिस्तान के कराची शहर में ऐश की जिंदगी जी रही है और वहीं से वो मुंबई में रहने वाले घरवालों को हर महीने पैसे भेजता है।

ईडी के शिकंजे में फंसा मुंबई की मरहूम लेडी डॉन हसीना पारकर के बेटे और दाऊद के भांजे अलीशाह पारकर ने जांच एजेंसी को बताया है कि साल 1986 के आसपास उसका मामू दाऊद इब्राहिम मुंबई के डंबरवाला बिल्डिंग की चौथी मंजिल पर रहा करता था

पारकर ने अपने कबूलनामे में ईडी को बताया, "मैं जब पैदा हुआ था तो उससे पहले यानी साल 1986 के बाद मामू दाऊद भारत से फरार होकर पाकिस्तान के कराची में पहुंच गया था। अम्मी बताया करती थीं कि मामू पाकिस्तान के कराची में हैं। मैं या मेरी अम्मी मामू के संपर्क में कभी नहीं रहे।"

लेकिन इसके साथ ही अलीशाह पारकर ने एजेंसी को बताया कि अक्सर ईद और दिवाली जैसे त्योहारों पर उसके मामू दाऊद इब्राहिम की बीवी उसके घरवालों से बातचीत करती थी।

अलीशाह पारकर के अलावा एक अन्य गवाह खालिद उस्मान शेख ने ईडी से कहा कि दाऊद का भाई इकबाल कासकर ने उसे बताया था कि दाऊद इब्राहिम अपने गुर्गों के जरिए उनके पास भारत में पैसा भेजता था।"

शेख ने बताया, "दाऊद के भाई कासकर ने उससे कहा था कि उसे भी हर महीने 10 लाख रुपए मिलेंगे। कई बार उसने शेख को नोटों की गड्डियां दिखातेो हुए कहा कि ये पैसे दाऊद भाई ने उसके लिए भेजे हैं।"

मालूम हो कि उद्धव सरकार के मंत्री और एनसीपी के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक को इस साल की 23 फरवरी को ईढी ने मनी लांड्रिंग के मामले में हिरासत में लिया था, जिसके बाद से वो जेल की कोठरी में हैं। (समाचार एजेंसी पीटीआई के इनपुट के साथ)

Web Title: Nawab Malik arrested in money laundering to ED Khalid Usman Sheikh told, "Dawood used to send 10 lakh rupees every month from Pakistan to his family members for expenses"

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे