Lockdown Uproar death family accuses police police case mob killing | India Lockdown: मौत पर हंगामा, परिजन ने लगाया पुलिस पर आरोप, पुलिस ने भीड़ हत्या का मामला बताया
हम मेडिकल रिपोर्ट आने का इंतजार कर रहे हैं।

Highlightsशंकर ने कहा, ‘‘हम कूपर अस्पताल गए जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।हमें उसके शरीर पर चोट के निशान मिले। हमने आठ-नौ पुलिसकर्मियों को उसे पीटते देखा था।

मुंबईःमुंबई में मारे गए 22 वर्षीय युवक के भाई ने आरोप लगाया है कि जब वह लॉकडाउन (बंद) के दौरान बाहर गया था, तभी पुलिस ने उसे पीटा जिससे उसकी मौत हो गई, जबकि पुलिस अधिकारियों ने इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि व्यक्ति लूटपाट करने के लिए बाहर गया था, तभी भीड़ ने पीट-पीट कर उसकी हत्या कर दी।

मारे गए व्यक्ति की पहचान राजू वेलू देंवेंद्र के रूप में की गई है। राजू के भाई शंकर ने दावा किया कि उसके भाई की मौत विले पार्ले (पश्चिम) के नेहरू नगर इलाके में हुई। उसने दावा किया, ‘‘राजू और हम कुछ लोग आज देर रात एक बजे अपने एक रिश्तेदार के घर जा रहे थे तभी पुलिस ने हमारा पीछा करना शुरू कर दिया।

उन्होंने राजू को पकड़ लिया और हमें बताया कि उसे जुहू पुलिस थाने ले जाया जा रहा है, लेकिन सुबह छह बजे एक पुलिसकर्मी आया और उसने हमें बताया कि नेहरू नगर चौक में राजू की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी।’’ शंकर ने कहा, ‘‘हम कूपर अस्पताल गए जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हमें उसके शरीर पर चोट के निशान मिले। हमने आठ-नौ पुलिसकर्मियों को उसे पीटते देखा था।’’

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (पश्चिम) मनोज शर्मा ने इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा, ‘‘उसे पुलिस ने नहीं, बल्कि स्थानीय निवासियों ने उस समय पीटा जब वह लूटपाट करने गया था। उसकी आपराधिक पृष्ठभूमि थी। अभी तक कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है। हम मेडिकल रिपोर्ट आने का इंतजार कर रहे हैं।’’ 

Web Title: Lockdown Uproar death family accuses police police case mob killing
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे