Bihar: Two Dalit youths killed in Mokama, Tejashwi Yadav went to meet the victim's family, attacked Nitish government | बिहार: मोकामा में हुए दो दलित युवकों की हत्या, पीड़ित परिवार से मिलने गए तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर बोला हमला
तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

Highlightsबताया गया है कि मृतक दोनों युवक शुक्रवार की शाम क्रिकेट खेलकर घर आए थे.फिर शौच के लिए खेत गये थे. उसके बाद से ही दोनों संदिग्ध स्थिति में गायब हो गये.

पटना: बिहार में हो रही हत्याओ के बहाने महागठबंधन के घटक दलो के बीच भी सियासत शुरू हो गई है. गोपालगंज में तिहरे हत्याकांड के विरोध में शुक्रवार को तेजस्वी यादव का गोपाल गंज दौरा भले रद्द हो गया हो, लेकिन उनका अभियान जारी है. यही वजह है कि तेजस्वी यादव शनिवार को नौबतपुर पंचायत कर्मी भोलापासवान के परिजनो से मिले जिनकी हत्या बुधबार को कर दी गई थी. वहीं, आज नेता विरोधी दल ने मोकामा के रामनगर जाकर पीडित दलित परिवार से मुलाकात की. 

पटना जिले के घोसवरी प्रखंड में रामनगर मुसहरी निवासी देवव्रत मांझी और सोल्जर मांझी की 29 मई को हत्या कर दी गई थी. मृतकों के परिजनों से मिलने नेता प्रतिपक्ष के तेजस्वी यादव आज मोकामा पहुंचे. इस मौके पर उन्होंने युवकों की हुई निर्मम हत्या को लेकर नीतीश सरकार  जमकर हमला बोला. मोकामा टाल क्षेत्र के राम नगर पहुंचे तेजस्वी यादव ने इस हत्या के बहाने नीतीश कुमार पर बिहार में अपराधियों को घटना को अंजाम देने के लिए कोरोना काल में विशेष पास देने का आरोप लगाया है. तेजस्वी यादव ने कहा कि आज बिहार में अपराधियों का बोलबाला है.

उन्होंने दो दलित युवकों की हत्या की तीव्र भर्त्सना करते हुए कहा कि गोपालगंज से लेकर राम नगर तक अपराधियों ने कोहराम मचा रखा है. पूरे सूबे में अपराधियों का राज स्थापित हो गया है. सुशासन बाबू आखिर अपराधियों की नकेल कसने में मात क्यों खा रहे हैं? इसके पूर्व पटना से कडी सुरक्षा व्यवस्था के बीच राम नगर पहुंचे तेजस्वी यादव ने पीडित परिजनों से मुलाकात की और हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया. तकरीबन 15 मिनट तक परिजनों को ढांढस देने के बाद मीडिया से बातचीत में प्रतिपक्ष के नेता ने सूबे में हो रही हिंसक वारदातों को लेकर नीतीश कुमार पर खूब तंज कसा और सुशासन की भी खिल्ली उडाई.

यहां बता दें कि पटना से सटे घोसवरी थाना क्षेत्र के रामनगर गांव के समीप टाल इलाके में महादलित समुदाय के दो युवकों की निर्मम हत्या कर दी गई थी. वारदात के बाद आरोपितों ने दोनों का शव फेंक दिया था. मृतकों की पहचान सोल्जर कुमार (18) पिता गणेश मांझी और देवब्रत कुमार उर्फ गोलू (17) पिता संजय मांझी के रूप में हुई है. दोनों युवक घोसवरी के रामनगर के रहने वाले थे. वारदात के पीछे मारे गये युवकों की लाउडस्पीकर बजाने को लेकर कुछ लोगों से हुये विवाद को अहम कारण माना जा रहा है.

तनाव को देखते हुए पुलिस पूरे मामले पर नजर रखते हुए आरोपितों की तलाश में जुटी है. बताया गया है कि मृतक दोनों युवक शुक्रवार की शाम क्रिकेट खेलकर घर आए थे. फिर शौच के लिए खेत गये थे. उसके बाद से ही दोनों संदिग्ग्ध स्थिति में गायब हो गये. रातभर घरवालों ने खोजबीन शुरू की, लेकिन पूरी रात दोनों का पता नहीं चला. शनिवार सुबह कुछ लोगों ने मधवा टाल के गड्ढे में दोनों युवकों का शव देखा. दोनों की नृशंस हत्या की गई थी. उनके शरीर पर गम्भीर चोट के निशान थे.

घटनास्थल पर मौजूद लोग पिटाई के बाद दोनों की गला घोंटकर मारने की आशंका व्यक्त कर रहे थे. स्थानीय लोगों का कहना है कि कुछ दिन पहले मृतक युवकों द्वारा घर पर लाउडस्पीकर बजाने को लेकर गांव के ही कुछ लोगों से विवाद हुआ था. ऐसे में आशंका जाहिर की जा रही है कि जिन लोगों ने सबक सिखाने की चेतावनी दी थी, उन लोगों ने ही दोनों की हत्या की. घटना की सूचना पर पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा, ग्रामीण एसपी कांतेश मिश्रा, एएसपी बाढ अंबरीश राहुल दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की जांच की है. ईलाके में तानवपूर्ण स्थिती बनी हुई है. पुलिस हालात पर नजर बनाये हुए है.

Web Title: Bihar: Two Dalit youths killed in Mokama, Tejashwi Yadav went to meet the victim's family, attacked Nitish government
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे