Highlightsआईपीएल ने 2008 में स्थापना के बाद से भारत में क्रिकेट का चेहरा बदल दिया2008 के आईपीएल में कुछ ऐसे रिकॉर्ड बने, जो 11 साल बाद भी नहीं बरकरार हैं।साल 2008 में राजस्थान रॉयल्स ने चेन्नई को हराकर खिताब जीता था।

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) ने 2008 में अपनी स्थापना के बाद से भारत में क्रिकेट का चेहरा बदल दिया और इसी के साथ शुरुआत हुई टी20 टूर्नामेंट की। क्रिकेट में हमेशा कहा जाता है कि रिकॉर्ड बनते ही टूटने के लिए हैं, लेकिन साल 2008 के आईपीएल में कुछ ऐसे रिकॉर्ड बने जो 11 साल बाद भी नहीं बरकरार हैं। 23 मार्च को शुरू होने वाले आईपीएल के 12वें सीजन से पहले हम आपको बता रहे हैं 2008 के खास रिकॉर्ड्स पर।

बेस्ट बॉलिंग का रिकॉर्ड

पाकिस्तानी गेंदबाज सोहेल तनवीर ने साल 2008 में राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेलते हुए चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ बेस्ट बॉलिंग का रिकॉर्ड बनाया था, जो अब तक नहीं टूट पाया है। तनवीर ने उस मैच में 4 ओवर्स में 14 रन दकेर चेन्नई के 6 बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा था। सोहेल तनवीर ने उस साल आईपीएल में बेस्ट बॉलिंग का ही रिकॉर्ड नहीं बनाया था, बल्कि उस साल सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी को दिए जाने वाला पर्पल कैप भी अपने नाम किया था। उस साल तनवीर ने 11 मैच खेले थे, उसमें उन्होंने 22 विकेट अपने नाम किए थे।

एक्स्ट्रा रन देने का रिकॉर्ड

आईपीएल 2008 में डेक्कन चार्जर्स ने एक ऐसा अनचाहा रिकॉर्ड बनाया था, जो अब तक नहीं टूट पाया। कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ डेक्कन चार्जर्स ने एक मैच में 28 एक्स्ट्रा रन दिए थे और उसे 5 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। आईपीएल 2008 के चौथे मैच में डेक्कन चार्जर्स की टीम 110 रन पर ऑलआउट हो गई। इसके बाद केकेआर ने लक्ष्य को 19 ओवर में 5 विकेट गंवाकर हासिल कर लिया। सबसे ज्यादा एक्स्ट्रा रन देने के मामले में दूसरा स्थान रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का है, जिसने 2011 में पंजाब को 27 एक्स्ट्रा रन दिए थे।

आखिरी बार खेले थे पाक खिलाड़ी

साल 2008 के आईपीएल में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को पहली और आखिरी बार खेलने का मौका मिला था। इसके बाद आईपीएल में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को बैन कर दिया गया और अब तक पाकिस्तानी खिलाड़ियों की नो एंट्री का सिलसिला जारी है। दरअसल, 26 नवंबर 2008 को हुए मुंबई हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच खराब रिश्तों की वजह से इन दोनों देशों के बीच ना तो मैच होते हैं ना ही आईपीएल में पाकिस्तान का कोई खिलाड़ी भारत में खेलता है। दोनों देशों में आतंकवाद को लेकर चल रहे विवाद की वजह से साल 2008 के बाद दोबारा कोई भी खिलाड़ी आईपीएल में नहीं खेल पाया।

एक पारी में सबसे ज्यादा कैच

भारतीय क्रिकेट के दिग्गज सचिन तेंदुलकर के नाम आईपीएल में एक पारी में सबसे ज्यादा कैच लेने का रिकॉर्ड है। मुंबई इंडियंस की कप्तानी करते हुए सचिन ने कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ आईपीएल के 38वें मैच में 4 कैच लिया था। 2010 में डेविड वॉर्नर और 2011 में जैक कैलिस ने एक मैच में चार विकेट लिए थे, लेकिन सचिन का रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाए थे।

एक मैच में सबसे कम कुल स्कोर

आईपीएल 2008 का 38वां मैच कोलकाता नाइट राइडर्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला गया था, जिस मैच में आईपीएल इतिहास का सबसे कम स्कोर बना था। इस मैच में दोनों टीमें 135 रन ही बना पाई थी। उस मैच में केकेर पहले बल्लेबाजी करते हुए 15.2 ओवर में 67 रन पर ऑलआउट हो गई थी। इसके बाद मुंबई इंडियंस ने 5.3 ओवर में लक्ष्य को हासिल कर लिया था। साल 2017 में पंजाब और दिल्ली के बीच खेले गए एक मैच में भी 135 रन बने थे, लेकिन वह मैच 25 चला था।

English summary :
Indian Premier League 2019: The 12th season of the Indian Premier League (IPL) is starting on March 23 and the players of all the teams have started preparations for it.


Web Title: IPL indian premier league 2019 flashback 2008 records that are yet to be broken
क्रिकेट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे