जब काम बोले तो शेरनी की तरह दहाड़ने की जरूरत नहीं, बोलीं विद्या बालन- जो करती हूं जी-जान से करती हूं

By अनिल शर्मा | Published: June 16, 2021 05:42 PM2021-06-16T17:42:31+5:302021-06-16T17:42:31+5:30

क इंटरव्यू में विद्या बालन ने कहा, मुझे कोई एक घटना याद नहीं है लेकिन हर बार...। पुरुष इस सोच के साथ बड़े होते हैं कि उन्हें हमेशा अपना दबदबा रखना चाहिए जबकि महिलाओं को यह विश्वास करना सिखाया जाता है कि हमें संरक्षण की जरूरत है इसलिए हम हमेशा आगे आने, आवाज उठाने, अपने लिए खड़े होने तथा अपने लिए फैसले करने को लेकर थोड़ा हिचकिचाते हैं।

Vidya Balan said there is no need to roar like a lioness when you do better job | जब काम बोले तो शेरनी की तरह दहाड़ने की जरूरत नहीं, बोलीं विद्या बालन- जो करती हूं जी-जान से करती हूं

जब काम बोले तो शेरनी की तरह दहाड़ने की जरूरत नहीं, बोलीं विद्या बालन- जो करती हूं जी-जान से करती हूं

Next
Highlightsएक्ट्रेस विद्या बालन अपनी फिल्म शेरनी को लेकर चर्चा में हैंविद्या ने फिल्म में एक वन अधिकारी की भूमिका निभाई हैशेरनी 18 जून को अमेजन प्राइम पर रिलीज होने वाली है

बॉलीवुड एक्ट्रेस विद्या बालन इन दिनों अपनी आगामी फिल्म शेरनी को लेकर चर्चा में हैं। विद्या बालन फिल्म में एक वन अधिकारी की भूमिका में हैं जो कम बोलती है। इस पर विद्या बालन ने कहा कि ‘‘शेरनी’’ में निभाए वन अधिकारी विद्या विंसेंट के किरदार की तरह ही असल जिंदगी में भी हैं जो चाहती है कि उनका काम बोले और उसे शेरनी की तरह दहाड़ने की जरूरत नहीं है।  फिल्म का ट्रेलर दिखाता है कि यह किरदार कई पुरुषों से घिरा हुआ है जो उन्हें नियंत्रित करना चाहते हैं कि वह कैसे काम करें। विद्या का कहना है कि कुछ ऐसा ही उनकी असल जिंदगी में भी हुआ है।

एक इंटरव्यू में विद्या बालन ने कहा, मुझे कोई एक घटना याद नहीं है लेकिन हर बार...। पुरुष इस सोच के साथ बड़े होते हैं कि उन्हें हमेशा अपना दबदबा रखना चाहिए जबकि महिलाओं को यह विश्वास करना सिखाया जाता है कि हमें संरक्षण की जरूरत है इसलिए हम हमेशा आगे आने, आवाज उठाने, अपने लिए खड़े होने तथा अपने लिए फैसले करने को लेकर थोड़ा हिचकिचाते हैं।

 फिल्म के बहाने विद्या बालन ने अपने बारे में बात करते हुए कहा कि वह ऐसी इंसान है जो बहुत कम बोलती है, बमुश्किल मुस्कुराती है लेकिन वह कुछ कर दिखाने वाली है। वह वही करती है जो उसे सही लगता है। यह इस तरह है कि आपको शेरनी की तरह दहाड़ने की जरूरत नहीं है। तो मेरा किरदार भी एक शेरनी की तरह है लेकिन वह दहाड़ती नहीं है। उन्होंने आगे कहा, मुझे लगता है कि मैं निजता पसंद करने वाली शख्स हूं। जो मैं करती हूं वह मुझे अच्छा लगता है तो जब मैं किसी फिल्म का प्रचार कर रही हूं तो मैं उसके लिए जी-जान से जुट जाती हूं वरना आप जानते हैं कि न कहीं दिखती हूं और न मेरे बारे में कुछ सुना जाता है। मैं चाहती हूं कि मेरा काम आपसे बात करे क्योंकि मुझे लगता है कि हर कोई बोल रहा है लेकिन कोई भी सुन नहीं रहा।

 बालन ने अपने करियर में ‘‘पा’’, ‘‘इश्कियां’’, ‘‘नो वन किल्ड जेसिका’’, ‘‘द डर्टी पिक्चर’’, ‘‘कहानी’’, ‘‘बॉबी जासूस’’, ‘‘तुम्हारी सुलु’’ और ‘‘शकुंतला देवी’’ जैसी अलग-अलग अंदाज की फिल्में की हैं। बालन ने कहा कि मैंने सीखा है कि ज्यादातर बार योजना धरी की धरी रह जाती है। देखिये दुनिया में हर किसी ने जो योजनाएं बनायी थीं उनका क्या हुआ, महामारी ने उन सभी योजनाओं पर पानी फेर दिया।’’ बालन ने कहा कि उन्होंने अपने दिल की सुनी है और करियर की शुरुआत में ही यह अहसास हो गया था कि वह ऐसे ही कुछ भी नहीं करना चाहती जैसे कि बड़े बैनरों के साथ काम करना या बड़े सितारों के साथ फिल्में करना। बालन ने कहा, ‘‘मैं सही वजहों के लिए फिल्में करना चाहती थी और मुझे लगता है कि इसने मेरे करियर की दिशा ही बदल दी और मुझे खुशी है कि ऐसा हुआ। कुछ ऐसे किरदार रहे जो ज्यादा छाप नहीं छोड़ पाए लेकिन अभी तक एक भी ऐसी फिल्म नहीं है जिसे करने का मुझे पछतावा हो।’’ 

शेरनी 18 जून को अमेजन प्राइम पर रिलीज होने वाली है और यह इस स्ट्रीमर पर बालन की दूसरी फिल्म है। इस फिल्म में शरद सक्सेना, मुकुल चड्ढा, विजय राज, इला अरुण, ब्रिजेंद्र काला और नीरज काबी भी अहम भूमिकाओं में हैं। इससे पहले बालन की ‘शकुंतला देवी’भी अमेजन प्राइम पर आ चुकी है। 

Web Title: Vidya Balan said there is no need to roar like a lioness when you do better job

बॉलीवुड चुस्की से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे