ब्रह्मकुमारी रस्मों के अनुसार सिद्धार्थ का किया जाएगा अंतिम संस्कार, जानिए वजह

By अनिल शर्मा | Published: September 3, 2021 12:02 PM2021-09-03T12:02:28+5:302021-09-03T12:07:16+5:30

सिद्धार्थ शुक्ला का अंतिम संस्कार हिंदू धर्म के बजाय ब्रह्मकुमारी की रस्मों के अनुसार किया जाएगा। इसकी जानकारी ब्रह्माकुमारीज़ की तपस्विनी बेन ने दी है। सिद्धार्थ शुक्ला ब्रह्मकुमारी का अनुसरण करते थे। सिद्धार्थ ही उनका उनकी मां भी ब्रह्मकुमारी को मानती हैं। 

sidharth shukla last journey will involve the brahmakumari rituals says tapaswini Ben from Brahmakumaris | ब्रह्मकुमारी रस्मों के अनुसार सिद्धार्थ का किया जाएगा अंतिम संस्कार, जानिए वजह

ब्रह्मकुमारी रस्मों के अनुसार सिद्धार्थ का किया जाएगा अंतिम संस्कार, जानिए वजह

Next
Highlightsसिद्धार्थ शुक्ला ब्रह्मकुमारी के प्रबल अनुयायी थेसिद्धार्थ की मां भी ब्रह्मकुमारी का अनुसरण करती हैंकूपर अस्पताल से पार्थिव शरीर घर ले जाया जाएगा

मुंबईः सिद्धार्थ शुक्ला के पार्थिव शरीर को ले जाने की तैयारी हो गई है। कूपर अस्पताल के बाहर भारी मात्रा में पुलिस बल की तैनाती की गई है। सिद्धार्थ के निधन की खबर सुन उनके चाहने वाले शोक संवेदना व्यक्त करने अभिनेता के घर आ रहे हैं। 

सिद्धार्थ शुक्ला का अंतिम संस्कार हिंदू धर्म के बजाय ब्रह्मकुमारी की रस्मों के अनुसार किया जाएगा। इसकी जानकारी ब्रह्माकुमारीज़ की तपस्विनी बेन ने दी है। सिद्धार्थ शुक्ला ब्रह्मकुमारी का अनुसरण करते थे। सिद्धार्थ ही उनका उनकी मां भी ब्रह्मकुमारी को मानती हैं। 

रिपोर्ट के मुताबिक सिद्धार्थ शुक्ला की अंतिम यात्रा में ब्रह्मकुमारी की रस्में अपनायी जाएंगी क्योंकि अभिनेता इसके प्रबल अनुयायी थे। अंतिम संस्कार के बारे में बात करते हुए ब्रह्माकुमारीज़ की तपस्विनी बेन ने कहा, उन्हें सुबह 11 बजे कूपर अस्पताल से घर ले जाया जाएगा और हम पहले ध्यान करेंगे और फिर अन्य अनुष्ठान किए जाएंगे। सिद्धार्थ ने ब्रह्मकुमारी का अनुसरण किया करते थे और दैनिक प्रवचन का अध्ययन भी करते थे।

सिद्धार्थ की मां भी एक ब्रह्मकुमारी अनुयायी हैं। तपस्विनीजी ने कहा, "यह उनकी मां के लिए एक झटका है लेकिन हमारा अध्ययन और शिक्षा लोगों को मजबूत रहने में मदद करती है।

सिद्धार्थ के गुस्सेवाले व्यवहार को तपस्विनीज ने इनकार किया और कहा, उन्हें कभी भी गुस्से की समस्या नहीं थी और हमने कभी नहीं देखा कि उन्होंने केवल गुस्से वाले किरदार निभाए, इसके अलावा उन्होंने नींद में अपना शरीर त्याग दिया, इसलिए क्रोध का सवाल नहीं है।

सिद्धार्थ विले पार्ले में स्थित ब्रह्मकुमारी केंद्र में नियमित जाते थे और आखिरी बार वहां राखी पर देखे गए थे। तपस्विनीजी ने कहा, वह हमारे विले पार्ले केंद्र में आए थे और उस केंद्र से हमारी योगिनीजी ने उन्हें राखी बांधी थी।

Web Title: sidharth shukla last journey will involve the brahmakumari rituals says tapaswini Ben from Brahmakumaris

बॉलीवुड चुस्की से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे