शोभना जैन का ब्लॉग- ऑकस बनाम क्वाड : भारत के लिए क्या हैं दोनों के मायने?

By शोभना जैन | Published: September 24, 2021 11:13 AM2021-09-24T11:13:08+5:302021-09-24T12:05:25+5:30

क्वाड के अंतर्गत कोविड के बाद पहली बार अहम शिखर नेताओं की आमने-सामने हो रही इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्नी स्कॉट मॉरिसन और जापान के प्रधानमंत्नी सुगा हिस्सा ले रहे हैं.

Ocus vs Quad: What do both mean for India | शोभना जैन का ब्लॉग- ऑकस बनाम क्वाड : भारत के लिए क्या हैं दोनों के मायने?

शोभना जैन का ब्लॉग- ऑकस बनाम क्वाड : भारत के लिए क्या हैं दोनों के मायने?

Next
Highlightsबहरहाल यह तय है कि दोनों समूह का दायरा अलग हैइन दिनों अमेरिका के अहम दौरे पर आए प्रधानमंत्नी नरेंद्र मोदी की महत्वपूर्ण कार्य सूची में क्वाड शिखर बैठक में हिस्सेदारी भी है

अमेरिका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के हाल ही में गठित सामरिक गठबंधन ‘ऑकस’ को लेकर यूरोपीय देशों के बीच पड़ी दरार के बीच अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान की सदस्यता वाले ‘क्वाड’ समूह के शिखर नेताओं की अहम बैठक हो रही है. इन दिनों अमेरिका के अहम दौरे पर आए प्रधानमंत्नी नरेंद्र मोदी की महत्वपूर्ण कार्य सूची में क्वाड शिखर बैठक में हिस्सेदारी भी है. क्वाड के अंतर्गत कोविड के बाद पहली बार अहम शिखर नेताओं की आमने-सामने हो रही इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्नी स्कॉट मॉरिसन और जापान के प्रधानमंत्नी सुगा हिस्सा ले रहे हैं. इसमें इन देशों के बीच आपसी सहयोग से काम करने, विशेष तौर पर हिंद महासागर क्षेत्न में आपसी सहयोग बढ़ाने के साथ अफगान मुद्दे और आतंक, कट्टरता से साझा सहयोग से निबटने के अलावा कोविड टीके पर चर्चा की जाएगी.

ऑकस सामरिक गठबंधन के गठन के कुछ ही दिनों बाद होने वाली क्वाड बैठक से इन दोनों समूहों के स्वरूप, दोनों की प्रासंगिकता को लेकर अनेक सवाल पूछे जा रहे हैं. निश्चित तौर पर हिंद प्रशांत महासागर क्षेत्न में अपनी चौधराहट कायम करने में लगे चीन के लिए ये दोनों ही समूह एक बड़ी चुनौती बन कर उभर रहे हैं. क्वाड को अपने विस्तारवादी एजेंडे के लिए बड़ी चुनौती मानते हुए पहले से ही बौखलाया चीन अब तीन देशों के सामरिक गठबंधन से और भी तिलमिला गया है. निगाह इस बात पर रहेगी कि दक्षिण चीन सागर क्षेत्न सहित हिंद प्रशांत क्षेत्न को मुक्त और स्वतंत्न बनाए रखने के लिए इन तीनों देशों का सामरिक गठबंधन अन्य क्षेत्नीय देशों के साथ मिल कर क्या कदम उठाता है या उठा सकता है. ऐसे में देखें तो निश्चित तौर पर क्वाड और ऑकस का दायरा अलग-अलग है. विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला कह चुके हैं कि अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया का नया सुरक्षा समझौता न तो क्वाड से संबंधित है और न ही समझौते के कारण भारत प्रशांत क्षेत्न में आपसी सहयोग, इसके कामकाज पर कोई प्रभाव पड़ेगा तथा दोनों समान समूह नहीं हैं. उन्होंने कहा कि ऑकस (ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन और अमेरिका) तीन देशों के बीच का एक सुरक्षा गठबंधन है वहीं क्वाड एक मुक्त, खुले, पारदर्शी और समावेशी हिंद-प्रशांत के दृष्टिकोण के साथ एक बहुपक्षीय समूह है. 
चार लोकतांत्रिक देशों (भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका) के समूह यानी क्वॉड ने 2004 में सुनामी के समय मानवीय सहायता कार्यो के लिए साथ मिलकर काम शुरू किया था. इसके साथ ही क्वॉड 2.0 के स्वरूप की बात करें तो यह अंतर्राष्ट्रीय नियमों पर आधारित वैश्विक व्यवस्था के तहत मुक्त, स्वतंत्न हिंद-प्रशांत क्षेत्न सुनिश्चित करना चाहता है. आतंकवाद, साइबर हमले और समुद्री क्षेत्न से जुड़े सुरक्षा के मसले प्राथमिकता में हैं. 

बहरहाल यह तय है कि दोनों समूह का दायरा अलग है. ऑकस जहां हिंद प्रशांत क्षेत्न मे चु्नौतियों से निबटने का सामरिक गठबंधन है वहीं क्वाड एक अलग दृष्टिकोण से काम करने वाले भारत सहित चार देशों का गठबंधन है जो अंतर्राष्ट्रीय नियमों पर आधारित वैश्विक व्यवस्था के तहत मुक्त, स्वतंत्न हिंद-प्रशांत क्षेत्न सुनिश्चित करना चाहता है. आतंकवाद, साइबर हमले और समुद्री क्षेत्न से जुड़े सुरक्षा के मसलों पर एकजुटता से काम करना इसकी प्राथमिकता में है. ऐसे में फिलहाल तो यही लगता है कि दो समूहों का अपना-अपना पृथक दायरा है. क्वाड में भारत की सक्रि य भागीदारी है और इसकी उसके लिए खास अहमियत है. ऑकस की भी इस क्षेत्न के लिए अपनी अलग अहमियत है. देखना होगा कि क्या इसका दायरा बढ़ा कर इसमें अन्य क्षेत्नीय देश भी शामिल किए जाते हैं लेकिन फिलहाल यह दूर का सवाल है.

ऐसे में जबकि कुछ लोगों का मानना है कि ऑकस से क्वाड कमजोर पड़ेगा या ऑकस क्वाड पर छा जाएगा, नजर इस बात पर भी रहेगी कि इसका स्वरूप क्या बनता हैं, इसका एजेंडा कितने प्रभावी तरह से काम करता है, इसके भावी स्वरूप में क्या क्षेत्न के अन्य देश भी शामिल होते हैं, जिन से क्षेत्न के हित सीधे तौर पर प्रभावित होते हैं.

Web Title: Ocus vs Quad: What do both mean for India

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे