covid-19 Mahindra & Mahindra's 36 and Hyundai sales fell 28 percent in July | महिंद्रा एंड महिंद्रा की 36 और हुंदै की बिक्री जुलाई में 28 प्रतिशत घटी
मांग में लगातार सुधार हो रहा है। विशेषरूप से ग्रामीण और अर्द्धशहरी क्षेत्रों की मांग अच्छी है।

Highlightsयात्री वाहन खंड (यूटिलिटी वाहन, कार और वैन) में कंपनी की बिक्री 34 प्रतिशत घटकर 11,025 इकाई रह गई।साल पहले समान महीने में 16,831 इकाई रही थी। वाणिज्यिक वाहन खंड में कंपनी की बिक्री 18 प्रतिशत घटकर 15,969 इकाई से 13,103 इकाई पर आ गई।अधिकारी (ऑटोमोटिव खंड) विजय राम नाकरा ने कहा, ‘‘हमारी कुल वाहन बिक्री में वृद्धि का रुख दिखने लगा है।

नई दिल्लीः महिंद्रा एंड महिंद्रा की बिक्री जुलाई में 36 प्रतिशत घटकर 25,678 इकाई रह गई। इससे पिछले साल के समान महीने में कंपनी ने 40,142 वाहन बेचे थे।

कंपनी ने शनिवार को बयान में कहा कि जुलाई में घरेलू बाजार में उसकी बिक्री 35 प्रतिशत घटकर 24,211 इकाई रह गई, जो जुलाई, 2019 में 37,474 इकाई रही थी। समीक्षाधीन महीने में कंपनी का निर्यात 45 प्रतिशत घटकर 1,467 इकाई रहा, जो एक साल पहले समान महीने में 2,668 इकाई रहा था।

यात्री वाहन खंड (यूटिलिटी वाहन, कार और वैन) में कंपनी की बिक्री 34 प्रतिशत घटकर 11,025 इकाई रह गई, जो एक साल पहले समान महीने में 16,831 इकाई रही थी। वाणिज्यिक वाहन खंड में कंपनी की बिक्री 18 प्रतिशत घटकर 15,969 इकाई से 13,103 इकाई पर आ गई।

महिंद्रा एंड महिंद्रा के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (ऑटोमोटिव खंड) विजय राम नाकरा ने कहा, ‘‘हमारी कुल वाहन बिक्री में वृद्धि का रुख दिखने लगा है। मांग में लगातार सुधार हो रहा है। विशेषरूप से ग्रामीण और अर्द्धशहरी क्षेत्रों की मांग अच्छी है।’’

हुंदै मोटर इंडिया लि. (एचएमआईएल) की कुल बिक्री जुलाई महीने में 28 प्रतिशत घटकर 41,300 इकाई रह गई। पिछले साल के समान महीने में कंपनी ने 57,310 वाहन बेचे थे। कंपनी ने शनिवार को बयान में कहा कि घरेलू बाजार में उसकी बिक्री दो प्रतिशत घटकर 38,200 इकाई रह गई, जो जुलाई, 2019 में 39,010 वाहन रही थी।

इसी तरह कंपनी का निर्यात 83 प्रतिशत घटकर 3,100 इकाई रह गया। पिछले साल के समान महीने में कंपनी ने 18,300 वाहनों का निर्यात किया था। एचएमआईएल के निदेशक (बिक्री, विपणन एवं सेवा) तरुण गर्ग ने कहा कि कंपनी देश की अर्थव्यवस्था को उबारने में कुछ योगदान देने में सफल रही है। जुलाई में कंपनी की बिक्री में मुख्य रूप से नई क्रेटा एसयूवी, वेन्यू और नई वेरना तथा कॉम्पैक्ट कारों इलिट आई10 तथा नियोस का योगदान रहा।

भारत में चीनी स्मार्टफोन ब्रांड की बाजार हिस्सेदारी घटी : काउंटरपॉइंट

भारतीय बाजार में चीनी स्मार्टफोन ब्रांड की हिस्सेदारी अप्रैल-जून तिमाही में घटकर 72 प्रतिशत रह गयी। जबकि इससे पिछली तिमाही में यह 81 प्रतिशत थी। इसकी बड़ी वजह देश में चीन-विरोधी भावना बढ़ना और कोविड-19 की वजह से आपूर्ति में बाधा होना है।

शोध कंपनी काउंटरपॉइंट रिसर्च की रपट के मुताबिक देश में स्मार्टफोन बाजार पर ओप्पो, वीवो और रियलमी जैसे चीनी ब्रांड का दबदबा है। लेकिन अप्रैल-जून तिमाही में इनकी बाजार हिस्सेदारी घटी है। शुक्रवार को जारी रपट के अनुसार अप्रैल-जून तिमाही में देश की स्मार्टफोन बिक्री सालाना आधार पर 51 प्रतिशत घटकर 1.8 करोड़ इकाई से थोड़ी ही अधिक रही। इसकी बड़ी वजह अप्रैल और मई में कोविड-19 की वजह से देशभर में लगा लॉकडाउन रही।

काउंटरपॉइंट रिसर्च में शोध विश्लेषक शिल्पी जैन ने कहा कि अप्रैल-जून 2020 में चीनी स्मार्टफोन ब्रांडों की हिस्सेदारी घटकर 72 प्रतिशत रह गयी। जबकि जनवरी-मार्च 2020 में यह 81 प्रतिशत थी। उन्होंने कहा, ‘‘इसकी वजह ओप्पो, वीवो और रीयलमी जैसे प्रमुख चीनी स्मार्टफोन ब्रांड की आपूर्ति प्रभावित होना है।

साथ ही देश में चीन-विरोधी धारणा के मजबूत होने का असर भी पड़ा है। सरकार ने भी चीन के खिलाफ कड़े कदम उठाए हैं जिसमें 50 से ज्यादा चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाना और चीन से आयात होने वाले सामान की सीमा पर अधिक जांच इत्यादि शामिल है।’’

उल्लेखनीय है कि गलवान घाटी में भारत-चीन के बीच तनाव के बाद से देश में चीन विरोधी माहौल है। गलवान घाटी की घटना में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए। जैन ने कहा कि हालांकि स्थानीय विनिर्माण, शोध-विकास परिचालन, कीमत के हिसाब से बेहतर उत्पाद और मजबूत बिक्री चैनल की वजह से चीनी कंपनियों ने उपभोक्ताओं के सामने कुछ ही विकल्प छोड़े हैं। 

Web Title: covid-19 Mahindra & Mahindra's 36 and Hyundai sales fell 28 percent in July
हॉट व्हील्स से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे