भोपाल, 13 जून: भय्यू महाराज का बुधवार को इंदौर में अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनकी बड़ी बेटी कुहू ने उन्हें मुखाग्नि दी। भय्यू महाराज के पार्थिव देह के पास बैठीं बेटी कुहू की तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है। इसके अलावा कुहू की जो मुखाग्नि की तस्वीर सामने आई है, इंटरनेट पर वह भी छाई हुई है। बेटी का आरोप है कि यह सब उनकी सौतेली मां डॉ. आयुषी की वजह से हुआ।

भय्यूजी के अंतिम संस्कार में मध्यप्रदेश का कोई भी बड़ा नेता शामिल नहीं हुआ। भय्यूजी के अंतिम संस्कार में महाराष्ट्र से बड़ी संख्या में लोग आए। मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने अपने ओएसडी को भेजा। शिवसेना के एक सांसद और दो विधायक भी अंतिम संस्कार में मौजूद रहे। 

मध्य प्रदेश में आधात्मिक गुरु भय्यू महाराज ने 12 जून को खुदकुशी की थी। खबरों के मुताबिक उन्होंने खुद को गोली मारी ली है। इसके बाद उन्हें इंदौर के बॉम्बे हॉस्पिटल ले जाया गया। लेकिन वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था।

पुलिस को इनके  भय्यू  के कमरे से दो सुसाइड नोट बरामद हुए थे। एक में उन्होंने लिखा था कि वह पारिवारिक कलह की वजह से सुसाइड कर रहे हैं। वहीं एक सुसाइड नोट में उन्होंने पनी सारी दौलत उनके सेवादार और सबसे करीबी विनायक के नाम कर दी है। 

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कि विनायक पिछले 15 सालों से भय्यू जी महाराज के साथ रहता था। उसे भैय्यू जी का सबसे करीबी माना जाता है। सुसाइड नोट के दूसरे पन्ने में भैय्यू जी ने अपने आश्रम, प्रॉपर्टी और वित्तीय शक्तियों की सारी जिम्मेदारी विनायक को दी है। 

सुसाइड नोट में भय्यूजी महाराज ने लिखा है, मैं विनायक पर विश्वास करता हूं, इसलिए उसे ये सारी जिम्मेदारी सौंप रहा हूं और ये मैं बिना किसी दबाव के लिख रहा रहूं। गौरतलब है कि भैय्यू जी ने जब गोली मारी तब विनायक भी घर पर मौजूद था।

लोकमत न्यूज के लेटेस्ट यूट्यूब वीडियो और स्पेशल पैकेज के लिए यहाँ क्लिक कर के सब्सक्राइब करें


Web Title: bhaiyyu Maharaj Funeral daughter photos viral on social media
ज़रा हटके से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे