Jio To Embed E-Com merce App Into WhatsApp Within 6 Months | व्हाट्सऐप व रिलायंस जियो मार्ट के बीच बिजनेस समझौता, Whatsapp के जरिए 400 करोड़ भारतीय यूजर्स कर सकेंगे आर्डर
सांकेतिक तस्वीर (फाइल फोटो)

Highlightsमुकेश अंबानी भारत के खुदरा बाजार में एक बड़ा हिस्सा लेने की कोशिश कर रहे हैं।ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट की पहुंच को बढ़ावा देने के लिए एक महीने बाद रिलायंस रिटेल ने व्हाट्सऐप के साथ समझौता किया है। 

नई दिल्ली: व्हाट्सऐप ने अब देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस रिटेल लिमिटेड के साथ समझौता किया है। इस समझौता के मुताबिक, अगले छह महीनों के भीतर रिलायंस अपने ई-कॉमर्स ऐप जिओ मार्ट को व्हाट्सएप में एम्बेड करने की योजना बना रही है।

एनडीटीवी के मुताबिक, इस समझौते के बाद भारत की सबसे लोकप्रिय मैसेजिंग सर्विस व्हाट्सऐप के 400 करोड़ उपयोगकर्ताओं को ऐप छोड़े बिना ऑर्डर करने की सहूलियत मिल सकेगी। नाम ना बताए जाने की शर्त पर दो अधिकारियों ने इस विषय में जानकारी दी है। 

गौरतलब है कि इस एकीकरण से जिओ मार्ट भारत भर में अपनी पहुंच बढ़ा देगा। जिससे रिलायंस रिटेल भारत के तेजी से बढ़ते ऑनलाइन रिटेल मार्केट में फ्लिपकार्ट और अमेजन के वर्चस्व को गंभीर चुनौती दे सकता है।

Jio Mart: Customer unhappy with service says “I am not ordering from JioMart ever again” | english.lokmat.com

मुकेश अंबानी भारत के खुदरा बाजार में एक बड़ा हिस्सा लेने की कोशिश कर रहे हैं-

मुकेश अंबानी भारत के खुदरा बाजार में एक बड़ा हिस्सा लेने की कोशिश कर रहे हैं। अनुमान है कि यह खुदरा बाजार 2025 तक 1.3 ट्रिलियन डॉलर का हो जाएगा। रिलायंस पहले से ही भारत का सबसे बड़ा ऑफलाइन रिटेलर है।

जिओ मार्ट को मई में 200 शहरों और कस्बों में लॉन्च किया गया था। ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट की पहुंच को बढ़ावा देने के लिए एक महीने बाद रिलायंस रिटेल ने व्हाट्सऐप के साथ एक समझौता किया। 

मोबाइलच्या एका क्लिकवर मागवू शकाल किराणा; गुगल प्ले स्टोअर, iOS अ‍ॅप स्टोअरसाठी JioMart अ‍ॅप लाँच jiomart app debuts on googles android playstore and ios know the details mhjb | News ...

यह समझौता दोनों ही कंपनियों की ताकत को बढ़ाएगा-

अप्रैल में फेसबुक इंक. ने रिलाइंस इंडस्ट्रीज की डिजिटल इकाई जिओ प्लेटफार्मों में 9.9% हिस्सेदारी 5.7 बिलियन डॉलर में खरीदी थी। कन्वर्जेंस कैटलिस्ट, एक शोध फर्म के संस्थापक और साझेदार, जयंत कोल्ला के अनुसार “यह अनिवार्य रूप से दोनों कंपनियों की ताकत बढ़ाएगा।

जिओ मार्ट एकीकरण अनिवार्य रूप से व्हाट्सएप चैट के लिए एक खुदरा परत जोड़ रहा है। व्हाट्सएप पर अब उपलब्ध पेमेंट सुविधा शुरू होने के साथ, यह अधिक प्रासंगिक हो गया है। अब आपकी चैट, खुदरा और भुगतान सभी एक ही इंटरफ़ेस के भीतर एकीकृत हो जाएंगे। ” हालांकि रिलायंस रिटेल के प्रवक्ता ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं दी है। 

Web Title: Jio To Embed E-Com merce App Into WhatsApp Within 6 Months

टेकमेनिया से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे