How to download and use Aarogya Setu Coronavirus tracking app | सरकार ने लॉन्च किया 'आरोग्य सेतु' एप, कोरोना से बचाव के लिए 1 करोड़ से ज्यादा लोगों ने किया डाउनलोड
फोटो क्रेडिट: सोशल मीडिया

Highlightsआपके लोकेशन डीटेल्स और सोशल ग्राफ के आधार पर यह आरोग्य सेतु एप बताएगा कि आप लो-रिस्क, हाई-रिस्क किस कैटिगरी में हैं।इस एप में आपको अपना नंबर रजिस्टर करना होगा और फिर इसी नंबर पर आने वाले ओटीपी के जरिए आप खुद को वेरिफाई कर सकेंगे। 

भारत सरकार और राज्य सरकारों की तरफ से कोरोना वायरस को फैलने से रोकने और संक्रमितों का इलाज करने का प्रयास किया जा रहा है। अब सरकार ने कोरोना से जुड़ा एक मोबाइल एप आरोग्य सेतु (Aarogya Setu) लॉन्च किया है। यह एप बताएगा कि आप किसी कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति के पास से गुजरे हैं या फिर संपर्क में आए हैं। 

आरोग्य सेतु ऐप एंड्रॉयड और आईफोन दोनों के लिए उपलब्ध है। यह ऐप ब्लूटूथ, लोकेशन और मोबाइल नंबर की मदद से पता लगाता है कि आप किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में तो नहीं आए, जो कोरोना से संक्रमित रहा हो। इस एप की मदद से कोरोना हेल्प सेंटर्स और सेल्फ असेसमेंट टेस्ट (खुद की जांच करना) शामिल है। 

एप में बताए गए स्टेप्स की मदद से आप खुद को जांच सकते हैं कि कहीं आप पर तो इस संक्रमण का खतरा नहीं है। तो चलिए आपको बताते हैं कि यह एप कोरोना से बचाने में आपकी मदद किस तरह से करेगा..

आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करने के लिए यूजर्स को अपने फोन के एप स्टोर में Aarogya Setu सर्च करना है। कई लोग मिलते-जुलते नाम और डिजाइन से फर्जी एप भी बना देते हैं ऐसे में आपको सावधान रहने की जरूरत है कि असली एप ही डाउनलोड करें। इस एप को NIC ने पब्लिश किया गया है और इसमें एप डेवलप करने वाले के नाम में NIC eGov Mobile Apps (एंड्रॉयड यूजर्स को) और NIC (आईफोन यूजर्स को) लिका दिखेगा। 

इंस्टॉल करने के बाद यह ऐप आपके मोबाइल नंबर, ब्लूटूथ और लोकेशन डेटा की मदद से पता करता है कि आप सुरक्षित हैं या फिर आप पर संक्रमण का खतरा है। इस एप में आपको अपना नंबर रजिस्टर करना होगा और फिर इसी नंबर पर आने वाले ओटीपी के जरिए आप खुद को वेरिफाई कर सकेंगे। 

आपके लोकेशन डीटेल्स और सोशल ग्राफ के आधार पर यह आरोग्य सेतु एप बताएगा कि आप लो-रिस्क, हाई-रिस्क किस कैटिगरी में हैं। अगर आप हाई-रिस्क पर होंगे तो एप आपको अलर्ट करते हुए टेस्ट सेंटर जाने की सलाह देगा। इस एप में अलग-अलग राज्यों में खास कोरोना वायरस संक्रमण से लड़ने के लिए बनाए गए हेल्प सेंटर्स के फोन नंबरों की पूरी लिस्ट दी गई है।

इस एप में आपसे सवाल पूछे जाएंगे जिनका जवाब आपको देना होगा उसके आधार पर यह एप आपको बताएगा कि आपको कोरोना पॉजिटिव होने का खतरा है या फिर आप सुरक्षित हैं।

इस एप में कोरोना के लक्षणों और उससे बचाव के बारे में भी बताया गया है। यह एप 11 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है जिनमें इंग्लिश, हिन्दी, गुजराती, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, उड़िया, मराठी, बांग्ला और पंजाबी शामिल हैं।

Web Title: How to download and use Aarogya Setu Coronavirus tracking app
टेकमेनिया से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे