UP Panchayat Chunav 2021 Pratapgarh minister Rajendra Pratap Singh's daughter-in-law and son elected unopposed | प्रतापगढ़ः यूपी सरकार के मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह की बहू और बेटे निर्विरोध निर्वाचित, जानें मामला
19 अप्रैल को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए मतदान होना है।

Highlightsश्रावस्ती, बलरामपुर व बहराइच जिलों की नेपाल से सटी सीमाएं क्रमशः 13, 23 व 27 अप्रैल को सील कर दी जाएंगी।प्रिया सिंह मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह की पुत्रवधू हैं जबकि राजीव प्रताप सिंह मंत्री के पुत्र हैं।आठ उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित किये गये हैं।

UP Panchayat Chunav 2021: उत्तर प्रदेश सरकार के ग्राम्‍य विकास मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ़ मोती सिंह की बहू और बेटे समेत क्षेत्र पंचायत सदस्‍य (बीडीसी) के दस प्रत्याशी विकास खण्ड मंगरौरा से निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं।

मंगरौरा की खंड विकास अधिकारी (बीडीओ) निशा तिवारी ने सोमवार को बताया कि रविवार को नामांकन पत्रों की जांच और दस प्रत्याशियों द्वारा पर्चा वापसी के बाद प्रिया सिंह को मदाफरपुर वार्ड व राजीव प्रताप सिंह को बाहुपुर वार्ड से निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया।

उल्लेखनीय है कि प्रिया सिंह मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह की पुत्रवधू हैं जबकि राजीव प्रताप सिंह मंत्री के पुत्र हैं। इनके अलावा अन्य आठ उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित किये गये हैं। जिले में 19 अप्रैल को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए मतदान होना है।

उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के मतदान से 48 घंटे पहले सील होगी नेपाल सीमा

उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के मद्देनजर प्रदेश से लगी भारत-नेपाल सीमा मतदान से 48 घंटे पूर्व सील कर दी जाएगी। देवीपाटन पुलिस परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) राकेश सिंह ने सोमवार को बताया कि श्रावस्ती में 15 अप्रैल, बलरामपुर में 25 अप्रैल और बहराइच में 29 अप्रैल को मतदान होना है।

उन्होंने बताया कि मतदान से 48 घंटे पहले देवीपाटन मंडल के अंतर्गत आने वाले श्रावस्ती, बलरामपुर व बहराइच जिलों की नेपाल से सटी सीमाएं क्रमशः 13, 23 व 27 अप्रैल को सील कर दी जाएंगी। मतदान समाप्त होने पर इन जिलों से लगी सीमाओं पर आवागमन शुरू हो सकेगा। सिंह ने बताया कि इस संबंध में नेपाल सीमा पर तैनात केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल, सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) उत्तर प्रदेश पुलिस, खुफिया व अन्य सुरक्षा एजेंसियों तथा प्रशासनिक अधिकारियों की नेपाली अधिकारियों के साथ समन्वय बैठकें हुई हैं।

उन्होंने बताया कि नेपाली अधिकारियों ने पंचायत चुनाव के दौरान सीमा सील करने पर सहमति व्यक्त करते हुए सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया है। आईजी ने बताया कि चुनाव के मद्देनजर सीमा पर अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है। पुलिस व एसएसबी जवानों की संयुक्त गश्त निरंतर जारी है।

मालूम हो कि प्रदेश के देवीपाटन मंडल की 255 किलोमीटर लम्बी सीमा नेपाल से सटी है। दोनों देशों में जब भी कोई चुनाव होता है तब सुरक्षा की दृष्टि से सीमा पर आवागमन रोक दिया जाता है। भारत-नेपाल सीमा पर उत्तर प्रदेश के सात जिले हैं जो महराजगंज, सिद्धार्थनगर, श्रावस्ती, बलरामपुर, बहराइच, लखीमपुर खीरी और पीलीभीत हैं।

महराजगंज और लखीमपुर खीरी में 19 अप्रैल तथा पीलीभीत और सिद्धार्थनगर में 26 अप्रैल को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए मतदान होना है। उत्‍तर प्रदेश की नेपाल से लगी कुल 551 किलोमीटर लंबी सीमा है।

Web Title: UP Panchayat Chunav 2021 Pratapgarh minister Rajendra Pratap Singh's daughter-in-law and son elected unopposed

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे