Union Minister Harsh Vardhan increasing number corona infected people ventilators ready every help | केंद्रीय मंत्री हर्षवर्द्धन बोले- कोरोना संक्रमित लोगों की बढ़ती संख्या चिंताजनक, वेंटीलेटर सहित हर मदद के लिए तैयार
राज्यों के लिए वेंटीलेटर की पर्याप्त व्यवस्था की जा रही है। (file photo)

Highlightsभारत के 52 जिले ऐसे हैं जिनमें सात दिनों में कोई नया मामला सामने नहीं आया।चार जिलों में 21 दिनों में कोई नया मामला सामने नहीं आया।44 जिलों में 28 दिनों में कोई नया मामला नहीं आया।

नई दिल्लीः देश में कोरोना संक्रमित रोगियों का रोज नया रिकॉर्ड बन रहा है। महाराष्ट्र सहित देश के 11 ( छत्तीसगढ़, राजस्‍थान, गुजरात, मध्‍य प्रदेश, केरल, पश्चिम बंगाल, दिल्‍ली, कर्नाटक, तमिलनाडु और उत्‍तर प्रदेश) राज्यों से सबसे अधिक कोरोना संक्रमित सामने आ रहे हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डा. हर्षवर्द्धन ने शनिवार को इन राज्यों के साथ 3 घंटे तक वर्चुअल बैठक की। राज्यों से कहा गया कि कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या चिंता का प्रमुख कारण है। इस पर रोक  के लिए राज्यों को टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, कोविड अनुकूल व्यवहार और वैक्सीन के पांच नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। राज्यों के लिए वेंटीलेटर की पर्याप्त व्यवस्था की जा रही है।

लगातार सक्रिय मामले बढ़ रहे हैं

हर्षवर्द्धन ने कहा कि  भारत कोविड-19 के नए मामलों में 7.6 फीसदी की दर से वृद्धि कर रहा है। यह दर जून 2020 की 5.5 फीसदी दर से 1.3 गुणा है । यह स्थिति चिंताजनक है। इसी तरह मृत्‍यु की संख्‍या में भी 10.2 फीसदी की तीव्र वृद्धि हुई है। लगातार सक्रिय मामले बढ़ रहे हैं।

सभी 11 राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों ने पहले ही अपने अधिकतम सामने आए दैनिक मामलों  को पार कर लिया है और मुम्‍बई, नागपुर, पुणे, नासिक, थाणे, लखनऊ, रायपुर, अहमदाबाद और औरंगाबाद जैसे जिलों में भी कोरोना संक्रमण की यही रफ्तार दिख रही है।

जंग में केंद्र पूरी तरह से सहयोग के लिए तैयार

डा. हर्षवर्द्धन ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से कहा कि कोरोना की इस जंग में केंद्र पूरी तरह से सहयोग के लिए तैयार है। ऑक्सीजन, वैक्सीन, वेंटीलेटर जिस चीज की जरूरत है, राज्य अपनी समस्याएं पिन प्वाइंट एजेंडे के रूप में केंद्र को बताएं। उन पर तुरंत एक्शन होगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डा. हर्षवर्द्धन ने कहा बड़े राज्यों को हर चौथे दिन और छोटे राज्यों को हर 7वें दिन उनकी जरूरत के अनुसार वैक्सीन की आपूर्ति की जा रही है। राज्यों में वैक्सीन खपत की मॉनिटरिंग को ध्यान में रखा जा रहा है। जिससे किसी राज्य में किल्लत न हो।

उन्होंने कहा कि देश में अब तक 12.57 करोड़ से अधिक वैक्‍सीन डोज दी जा चुकी है। राज्‍यों की ओर से ऐसी शिकायत आई थी कि वैक्‍सीन कम हो रही है। राज्‍यों की शिकायत को देखते हुए आज सुबह तक राज्यों को 14 करोड़ 15 लाख डोज वैक्सीन की सप्लाई की जा चुकी है। 

राज्यों को लाभ मिलेगा

राज्यों के पास अभी भी 1 करोड़ 58 लाख डोज हैं जबकि 1 करोड़ 16 लाख 84 हजार डोज अगले सप्ताह तक आपूर्ति कर दी जाएंगी। यह पाइप लाइन में हैं। उन्होंने राज्यों से चर्चा करते हुए कहा कि एक अप्रैल से गृह मंत्रालय ने राज्यों को डिजास्टर रिस्पॉन्स मैनेजमेंट फंड की 50 फीसदी धनराशि  कोरोना महामारी के संसाधनों पर खर्च करने की अनुमति दी है। जिससे राज्यों को लाभ मिलेगा।

 डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि 34,238 वेंटीलेटर राज्यों को भारत सरकार की तरफ से भिजवाए गए थे। इसमें महाराष्ट्र को 1121 वेंटीलेटर जबकि यूपी को 1700 वेंटीलेटर उपलब्‍ध कराए गए हैं। उन्‍होंने कहा कि 2084 डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल हैं, जिनमें 4 लाख से ज्यादा बेड हैं। 

महाराष्ट्र में सर्वाधिक 63729 कोरोना संक्रमित दर्ज

कोविड अस्‍पताल के बेड मिलाकर 18 लाख 52 हजार हैं। कुछ शहरों में कोविड का प्रकोप ज्यादा है ऐसे में उन पर विशेष नजर रखी जा रही है। उन्होंने राज्यों को जानकारी देते हुए कहा कि पिछले 24 घंटे में देश के अंदर 234692 नए कोरोना संक्रमित दर्ज हुए हैं। ऐसा तभी संभव हो सका है जब देश अपनी पूरी टेस्टिंग क्षमता का उपयोग कर रहा है। देश की रोजाना टेस्टिंग क्षमता 15 लाख है, कल भी 14.95 लाख से अधिक लोगों की कोरोना टेस्टिंग की गई है। महाराष्ट्र में सर्वाधिक 63729 कोरोना संक्रमित दर्ज हुए हैं।

Web Title: Union Minister Harsh Vardhan increasing number corona infected people ventilators ready every help

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे