वाराणसी में उदयपुर की घटना को लेकर हुआ विरोध-प्रदर्शन, लोगों ने पीएम मोदी से की दोषियों को फांसी देने की मांग

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: June 29, 2022 04:08 PM2022-06-29T16:08:56+5:302022-06-29T16:25:22+5:30

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में घाट के किनारे जुटे लोगों ने उदयपुर घटना को लेकर सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हस्तक्षेप की अपील की है। वाराणसी के लोगों का कहा कि पीएम मोदी मामले में संज्ञान लें और हत्यारों को इस जघन्य वारदात के लिए फांसी दिलवाएं।

Tension increased after Udaipur incident in Varanasi, people demanded PM Modi to hang the culprits | वाराणसी में उदयपुर की घटना को लेकर हुआ विरोध-प्रदर्शन, लोगों ने पीएम मोदी से की दोषियों को फांसी देने की मांग

वाराणसी में उदयपुर की घटना को लेकर हुआ विरोध-प्रदर्शन, लोगों ने पीएम मोदी से की दोषियों को फांसी देने की मांग

Next
Highlightsवाराणसी में उदयपुर घटना के लेकर भारी तनाव व्याप्त है, लोग दोषियों के फांसी की मांग कर रहे हैंघाट के किनारे जुटे लोगों ने मामले में सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप की अपील की हैपुलिस मदनपुरा, लल्लापुरा जैसे वाराणसी के सभी चिन्हित अल्पसंख्यक इलाकों में हाई अलर्ट पर है

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी उदयपुर की घटना के लेकर भारी तनाव व्याप्त है। शहर के हर नुक्कड़-चौराहे पर जमा लोग इस घटना की चर्चा कर रहे हैं और मारे गये शख्स के प्रति अफसोस जताते हुए हत्यारों को फांसी देने की मांग कर रहे हैं।

घाट के किनारे जुटे लोगों ने इस मामले में सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हस्तक्षेप की अपील कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक ज्ञानवापी मुद्दे पर शहर का माहौल पहले से तनाव में था, ऐसे में उदयपुर की घटना ने आग में घी का काम किया है।

लोगों में अल्पसंख्यकों के प्रति गहरा रोष देखा जा रहा है। वहीं शहर के मुस्लिम इलाकों मसलन मदनपुरा, लल्लापुरा और बजरडीहा जैसे इलाकों में माहौल बेहद तनाव भरा है।

चूंकि मामला एक धर्म विशेष के साथ जुड़ा है। इसलिए यूपी के सभी संवेदनशील जिलों में पुलिस को विशेष सख्ती दिखाने का आदेश दिया गया है और किसी भी विवाद की स्थिति को फौरन दबाने का आदेश दिया गया है।

इसी क्रम में वाराणसी के चिन्हित सभी अल्पसंख्यक इलाकों में भी हाई अलर्ट है और किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए पुलिस प्रशासन पूरी तरह से चौकन्ना है। इसी क्रम में बुधवार को शहर के सभी थानाक्षेत्रों में पुलिस ने मुस्लिम बहुल आबादी वाले इलाकों में फुट पेट्रोलिंग की और लोगों के साथ संवाद स्थापित करके किसी भी तरह की अफवाह से बचने की सलाह दी।

वाराणसी के पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश और एडीजी जोन ने शबी थानाध्यक्षों के साथ वर्चुअल बैठक करके आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। जिसके बाद से शबर के कई इलाकों में पुलिस टीमों ने पैदल गश्त की। शहर के मुस्लिम बहुल क्षेत्र लल्लापुरा, दालमंडी, नई सड़क, हड़हासराय, मदनपुरा, बजरडीहा, पीलीकोठी, सरेया, जैतपुरा, दोषीपुरा, कोयला बाजार, मुकीमगंज, प्रहलाद घाट, शिवाला, गौरीगंज आदि इलाकों में पुलिस खासी सतर्क है। 

इसके अलावा एसीपी दशाश्वमेध, भेलूपुर और कोतवाली ने अपने इलाकों में विशेष चक्रमण किया और लोगों से किसी भी तरह की अफवाह से सतर्क रहने के लिए कहा। पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि हम शहर के संभ्रांत और प्रबुद्ध लोगों के नियमित संपर्क में हैं। डीसीपी, एडीसीपी, एसीपी, थानाध्यक्ष और चौकी इंचार्ज लगातार पैदल गश्त करके लोगों से शांति बनाये रखने की अपील कर रहे हैं।

उन्होंने उदयपुर घटना को लेकर आशंका जताई जा रही है कि माहौल खराब हो सकता है, इसलिए पुलिस विशेष सतर्कता बरत रही है, जो कोई भी शांति और कानून व्यवस्था को प्रभावित करने की कोशिश करेगा पुलिस उसके साथ सख्ती से पेश आएगी।

मालूम हो कि बीते मंगलवार की दोपहर राजस्थान के उदयपुर में कुछ लोगों ने एक टेलर की दुकान में घुसकर निर्मम हत्या कर दी, जिसके बाद पूरे उदयपुर समेत राजस्थान में जगह-जगह आगजनी की घटनाएं हो रही हैं। राजस्थान सरकार ने विशेष सतर्कता दिखाते हुए पूरे प्रदेश में धारा 144 लगा दी है और इंटनेट सेवाओं को बंद कर दिया है।

वहीं घटना के बाद से योगी सरकार ने भी पूरे उत्तर प्रदेश के लिए खास अलर्ट जारी कर दिया है। भाजपा से निष्कासित राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा और दिल्ली भाजपा नेता नवीन जिंदल द्वारा पैगबंर के बारे में विवादित बात करने के कारण पैदा हुई अशांति थमने का नाम नहीं ले रही है। विवादिय बयान की आंच में कल से सुलग रहे उदयपुर में जो हिंसक घटना हुई है, उससे पूरे देश सिहर उठा है।

Web Title: Tension increased after Udaipur incident in Varanasi, people demanded PM Modi to hang the culprits

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे