शुभेंदु अधिकारी ने कहा, "जैसा महाराष्ट्र में हो रहा है, वैसा बंगाल में भी होगा लेकिन पहले झारखंड और राजस्थान का नंबर है"

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: June 28, 2022 03:11 PM2022-06-28T15:11:17+5:302022-06-28T15:14:44+5:30

बंगाल भाजपा के नेता शुभेंदु अधिकारी ने शिवसेना के विधायकों द्वारा एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में हुए बगावत को सही ठहराते हुए कहा कि जिस सरकार में पार्टी के चुने हुए एमएलए की बात नहीं सुनी जाती हो, जिनकी पार्टी के मुख्यमंत्री उन्हें मिलने का समय न देते हों तो आखिर वो क्या करेंगे।

Shubhendu Adhikari said, "Like what is happening in Maharashtra, it will happen in Bengal as well, but Jharkhand and Rajasthan have the number first" | शुभेंदु अधिकारी ने कहा, "जैसा महाराष्ट्र में हो रहा है, वैसा बंगाल में भी होगा लेकिन पहले झारखंड और राजस्थान का नंबर है"

फाइल फोटो

Next
Highlightsशुभेंदु अधिकारी ने महाराष्ट्र विवाद पर कहा कि बंगाल में भी यही होने वाला हैशुभेंदु अधिकारी ने कहा कि बंगाल में सरकार गिरने से पहले राजस्थान और झारखंड का नंहर हैउन्होंने कहा कि साल 2024 से पहले-पहले बंगाल में भी सरकार गिर जाएगी

कोलकाता: महाराष्ट्र में बिखरने के कगार पर पहुंच चुकी महाविकास अघाड़ी सरकार के बहाने बंगाल की ममता बनर्जी सरकार पर तंज कसते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि बंगाल में भी यही होने वाला है।

शिवसेना के विधायकों द्वारा एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में हुए बगावत को सही ठहराते हुए कहा कि जिस सरकार में पार्टी के चुने हुए एमएलए की बात नहीं सुनी जाती हो, जिनकी पार्टी के मुख्यमंत्री उन्हें मिलने का समय न देते हों तो आखिर वो क्या करेंगे।

समाचार पत्र 'इडियन एक्सप्रेस' के मुताबिक महाराष्ट्र विवाद को केंद्र में रखते हुए बंगाल की तृणमूल सरकार को घेरते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता शुभेंदु अधिकारी ने दावा किया कि पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस नीत सरकार का भी यही हाल होगा। अधिकारी ने उम्मीद जताया कि बनर्जी सरकार भी अपना कार्यकाल पूरे करने से पहले गिर जाएगी।

इसके साथ ही शुभेंदु अधिकारी ने यह भी कहा कि महाराष्ट्र के बाद सीधे बंगाल का नंबर नहीं आयेगा, उससे पहले गैर-भाजपा शासित झारखंड और राजस्थान सरकार की विदाई होगी, उसके बाद बंगाल का नंबर आएगा।

अधिकारी ने पश्चिम बंगाल के कूचबिहार जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, "पहले महाराष्ट्र संकट का हल निकाला जाएगा। उसके बाद नंबर आएगा झारखंड और राजस्थान का। उसके बाद पश्चिम बंगाल में ऐसा होगा। तृणमूल कांग्रेस की भी हालत ऐसी ही होगी। यहां भी सरकार 2026 तक नहीं चल पाएगी। यह सरकार तो 2024 तक आते-आते बाहर हो जाएगी।"

वहीं भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी के इस बयान पर कड़ी टिप्णणी करते हुए तृणमूल कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। तृणमूल ने इस मामले में कहा कि विधानसभा चुनावों में मिली हार से बौखला गई भाजपा खेमा सत्ता हासिल करने के लिए हर तरह की कोशिश कर रहा है।

अधिकारी के बयान पर तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश महासचिव कुणाल घोष ने कहा कि भाजपा पिछले साल विधानसभा चुनाव में मिली हार से अब तक नहीं उबर सकी है। ये पार्टी सत्ता हासिल करने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है, इसमें कोई दो राय नहीं है। उन्होंने कहा, "जोरदार चुनाव प्रचार के बावजूद भाजपा को चुनावों में करारी शिकस्त मिली। अब वे किसी भी तरह सत्ता हासिल करना चाहते हैं। उनके बयान भगवा खेमे की हताशा दर्शाते हैं।"

कुणाल घोष के अलावा तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुखेंदु शेखर राय ने कहा कि अधिकारी के बयान से स्पष्ट समझ में आ रहा है कि भाजपा ने जानबूझ कर महाराष्ट्र में  संकट पैदा किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा देश में हर विपक्ष शासित राज्य में पीछे पड़ी है। इस देश की जनता उन्हें मुंहतोड़ जवाब देगी।

Web Title: Shubhendu Adhikari said, "Like what is happening in Maharashtra, it will happen in Bengal as well, but Jharkhand and Rajasthan have the number first"

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे