Yasin Malik: विरोध को देखते हुए कश्मीर के जवानों की छुट्टियां हुई रद्द, सेना भी हुई हाई अलर्ट, सजा के खिलाफ पाकिस्तान की बड़ी हस्तियों ने की भारत की कड़ी आलोचना

By आजाद खान | Published: May 26, 2022 07:46 AM2022-05-26T07:46:42+5:302022-05-26T07:53:27+5:30

आपको बता दें कि यासिन मलिक को सजा सुनाए जाने के बाद पाकिस्तान के कई बड़ी हस्तियों में इसका विरोध किया है। इस विरोध में पाक पीएम शहबाज शरीफ के साथ पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान भी शामिल है।

protest leave Kashmiri jawans canceled indian army high alert big personalities Pakistan strongly criticized India against yasin malik punishment | Yasin Malik: विरोध को देखते हुए कश्मीर के जवानों की छुट्टियां हुई रद्द, सेना भी हुई हाई अलर्ट, सजा के खिलाफ पाकिस्तान की बड़ी हस्तियों ने की भारत की कड़ी आलोचना

Yasin Malik: विरोध को देखते हुए कश्मीर के जवानों की छुट्टियां हुई रद्द, सेना भी हुई हाई अलर्ट, सजा के खिलाफ पाकिस्तान की बड़ी हस्तियों ने की भारत की कड़ी आलोचना

Next
Highlightsयासीन मलिक को सजा सुनाने के बाद कश्मीर समेत दिल्ली में हाई अलर्ट जारी हो गया है। इसके तहत जवानों की छुट्टियां भी रद्द कर दी गई है। जवान अगले आदेश तक अब छुट्टी नहीं ले सकते हैं।

नई दिल्ली: अलगाववादी नेता यासीन मलिक को सजा सुनाने के बाद कश्मीर और दिल्ली समेत पुरे देश में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। इसके तहत कश्मीर में तैनात सभी सशस्त्र बलों की छुट्टियां अगले आदेश तक रद्द कर दी गईं हैं। इन सब के साथ सेना को भी अलर्ट किया गया है। ऐसा इसलिए किया गया है कि यासीन मलिक को सजा सुनाने के बाद हो सकता है कि कुछ घटना घटे,  इसके मद्देनजर यह सुरक्षा बढ़ाई गई है। आपको बता दें कि यासीन मलिक को सजा सुनाए जाने के बाद श्रीनगर के मैसुमा में उनके घर के पास पुलिस के साथ कुछ लोगों की झड़प भी हुई थी। इल घटना के बाद इलाके में पत्थरबाजी भी हुई थी जिसके बाद पुलिस को आंसू गैस भी छोड़ने पड़े थे। फिलहाल हालात काबू में है, लेकिन ऐसे में पूरी देश अलर्ट पर है। 

एएनआई चाहती थी मलिक के लिए फांसी

आपको बता दें कि दिल्ली की एएनआई कोर्ट ने मलिक को उम्रकैद की सजा सुनाई है। इसके साथ 10 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है। लेकिन इस मामले में एएनआई चाहती थी कि मलिक को फांसी की सजा हो। इसके पक्ष में वह अपनी बात कहती थी। गौरतलब है कि यासिन मलिक ने खुद कबूला था कि वह कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल था। 

बताया जाता है कि मलिक प्रतिबंधित संगठन जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (JKLF) का चीफ भी है। सजा सुनाने के बाद मलिक को तिहाड़ जेल के बैरेक नंबर 7 में सीसीटीवी की निगराने में रखा गया है। मलिक को सजा होने के बाद पाकिस्तान के कई नेता और खिलाड़ी इसके विरोध में खड़े दिखाई दिए। 

सजा के खिलाफ खुलकर बोले पाक पीएम शहबाज शरीफ और इमरान खान

यासिन मलिक को सजा को लेकर पाकिस्तान के कई नेता और खिलाड़ी ने इसका विरोध किया है और भारत की जमकर आलोचना भी की है। इस पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने सभी देशों से अपील की है कि वे भारत का विरोध करें। वे यासिन मलिक का समर्थन भी करते हुए दिखाई दिए है। वहीं इस पर पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी ट्वीट कर भारत की आलोचना की है। इससे पहले पाकिस्तानी खिलाड़ी शाहिद अफरीदी ने भी मलिक के समर्थन में ट्वीट किया था। 

पाक पीएम शहबाज शरीफ ने क्या कहा

पाक पीएम शहबाज शरीफ ने भारत की आलोचना करते हुए ट्वीट किया और कहा, "दुनिया को भारत के जम्मू-कश्मीर में राजनीतिक कैदियों के साथ भारत सरकार के दुर्व्यवहार पर ध्यान देना चाहिए। प्रमुख कश्मीरी नेता यासीन मलिक को फर्जी आतंकवाद के आरोपों में दोषी ठहराना भारत में मानवाधिकार के हनन की आलोचना करने वाली आवाजों को चुप कराने का निरर्थक प्रयास है। मोदी सरकार को इसके लिए दोषी ठहराया जाना चाहिए।"

पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान ने भी साधा निशाना

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान भी यासिन मलिक की सजा के खिलाफ बोलते दिखाई दिए हैं। इस मामले में उन्होंने ट्वीट कर कहा, "मैं कश्मीरी नेता यासीन मलिक के खिलाफ मोदी सरकार की फासीवादी नीति की कड़ी निंदा करता हूं। इसमें यासीन को अवैध रूप से जेल में रखने से लेकर फर्जी आरोपों में उन्हें सजा देना शामिल है। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को भारत अधिकृत कश्मीर में हिंदुत्व फासीवादी मोदी सरकार के राज्य पोषित आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।" 

इससे पहले शाहिद अफरीदी ने भी किया था ट्वीट

पाकिस्तानी खिलाड़ी शाहिद अफरीदी भी यासिन मलिक के पक्ष में बयान देते हुए दिखाई दिए है। उन्होंने कहा था, "भारत जिस तरह से मानवाधिकार हनन के खिलाफ आवाज उठाने वालों को चुप कराने की कोशिश कर रहा है, वह व्यर्थ है। यासीन मलिक के खिलाफ लगाए गए मनगढ़ंत आरोप कश्मीर की आजादी के संघर्ष को रोक नहीं पाएंगे। मैं संयुक्त राष्ट्र से अपील करता हूं कि वह कश्मीरी नेताओं के खिलाफ इस तरह के अनैतिक ट्रोल्स को नोटिस में लें।"
 

Web Title: protest leave Kashmiri jawans canceled indian army high alert big personalities Pakistan strongly criticized India against yasin malik punishment

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे