pehlu khan BSP chief Mayawati besieges Rajasthan government, Gehlot said - justice will be found | पहलू खान मामला: राजनीति तेज, बसपा प्रमुख मायावती ने राजस्थान सरकार को घेरा, गहलोत ने कहा- न्याय मिलेगा
गहलोत ने ट्वीट किया, ‘‘हमारी राज्य सरकार ने मॉब लिचिंग के खिलाफ अगस्त 2019 के पहले सप्ताह में ही कानून बनाया है।’’

Highlightsप्रियंका ने ट्वीट कर कहा, ''पहलू खान मामले में निचली अदालत का फैसला चौंका देने वाला है।पहलू खान केस में लोअर कोर्ट के फैसले के बाद राजस्थान सरकार ने अहम मीटिंग बुलाई। सीएम गहलोत के आदेश के बाद इस बात की जांच की जाएगी कि कहीं जानबूझकर जांच को प्रभावित तो नहीं किया गया।

राजस्थान में हुए पहलू खान हत्याकांड मामले में आरोपियों को बरी किए जाने पर बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार को घेरते हुये इसे घोर लापरवाही बताया है।

मायावती ने शुक्रवार को किये गये ट्वीट में कहा ''राजस्थान की कांग्रेस सरकार की घोर लापरवाही और निष्क्रियता के कारण बहुचर्चित पहलू खान हत्याकांड मामले में सभी छह आरोपी वहाँ की निचली अदालत द्वारा बरी कर दिए गए। यह अति-दुर्भाग्यपूर्ण है। पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए वहाँ की सरकार अगर सतर्क रहती तो क्या यह संभव था ? शायद कभी नहीं।''

गौरतलब है कि पहलू खान हत्याकांड मामले में अलवर की जिला अदालत ने बुधवार को फैसला सुनाते हुए सभी छह आरोपियों को बरी कर दिया। राजस्थान के अलवर में अप्रैल 2017 में भीड़ ने गोतस्करी के शक में पहलू खान की पिटाई की और इसके दो दिनों बाद उसकी मौत हो गई थी। 

पहलू खान के परिवार को न्याय दिलाने के लिए प्रतिबद्ध: गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार की रात कहा कि उनकी सरकार भीड़ हत्या (मॉब लिंचिंग) के शिकार हुए पहलू खान के परिवार वालों को न्याय दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार इस मामले में निचली अदालत के फैसले को चुनौती देगी।

गहलोत ने ट्वीट किया, ‘‘हमारी राज्य सरकार ने मॉब लिचिंग के खिलाफ अगस्त 2019 के पहले सप्ताह में ही कानून बनाया है।’’ उन्होंने लिखा है, ‘‘हम पहलू खान के परिवार के लिए न्याय सुनिश्चित करने को प्रतिबद्ध हैं। राज्य सरकार अतिरिक्त सत्र न्यायालय (एडीजे) के आदेश के खिलाफ अपील दायर करेगी।’’ अलवर की एक अदालत ने अप्रैल 2017 के बहुचर्चित पहलू खान भीड़ हत्या (मॉब लिंचिंग) मामले में सभी छह बालिग आरोपियों को बुधवार को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया। 

पहलू खान केस में लोअर कोर्ट के फैसले के बाद राजस्थान सरकार ने अहम मीटिंग बुलाई। इस बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हाईकोर्ट में अपील के साथ जांच का आदेश दिया। सीएम गहलोत के आदेश के बाद इस बात की जांच की जाएगी कि कहीं जानबूझकर जांच को प्रभावित तो नहीं किया गया। केस की सही ढंग से जांच हुई है कि नहीं हुई है।

पहलू खान मामले में अदालत का फैसला चौंकाने वाला: प्रियंका

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पहलू खान हत्या मामले में सभी आरोपियों को बरी किए जाने संबंधी अदालती फैसले को ''चौंकाने वाला'' करार देते हुए शुक्रवार को उम्मीद जताई कि इस मामले न्याय दिलाकर अच्छा उदाहरण पेश किया जाएगा।

प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, ''पहलू खान मामले में निचली अदालत का फैसला चौंका देने वाला है। हमारे देश में अमानवीयता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए और भीड़ द्वारा हत्या एक जघन्य अपराध है।'' उन्होंने कहा, ''राजस्थान सरकार द्वारा भीड़ द्वारा हत्या के खिलाफ कानून बनाने की पहल सराहनीय है।

आशा है कि पहलू खान मामले में न्याय दिलाकर इसका अच्छा उदाहरण पेश किया जाएगा।'' गौरतलब है कि पहलू खान हत्याकांड में अलवर जिला न्यायालय ने बुधवार को फैसला सुनाते हुए सभी छह आरोपियों को बरी कर दिया। गो तस्करी के शक में भीड़ ने अप्रैल 2017 में पहलू खान की पिटाई की और इसके दो दिनों बाद पहलू खान की मौत हो गई। यह घटना राजस्थान के अलवर में हुई थी। 


Web Title: pehlu khan BSP chief Mayawati besieges Rajasthan government, Gehlot said - justice will be found
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे