आर्मी के लिए सड़कों पर दौड़ लगाने वाले प्रदीप मेहरा के मुरीद हुए नोएडा के जिलाधिकारी, मां का इलाज कराने सहित आगे की पढ़ाई, तैयारी में करेंगे मदद

By अनिल शर्मा | Published: March 23, 2022 09:26 AM2022-03-23T09:26:29+5:302022-03-23T10:07:38+5:30

प्रदीप मेहरा मूलत: उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले का रहने वाला है। उसने बताया कि वह अपने बड़े भाई के साथ नोएडा में रहता है। उसे सुबह आठ बजे तक उठकर अपने भाई के लिए खाना तैयार करना होता है। उसकी मां अस्पताल में भर्ती है। प्रदीप नोएडा सेक्टर-16 में एक रेस्टोरेंट चेन के लिए काम करता है।

noida gb nagar DM Suhas L Yathiraj met Pradeep Mehra and will help for preparation further studies his mother treatment | आर्मी के लिए सड़कों पर दौड़ लगाने वाले प्रदीप मेहरा के मुरीद हुए नोएडा के जिलाधिकारी, मां का इलाज कराने सहित आगे की पढ़ाई, तैयारी में करेंगे मदद

आर्मी के लिए सड़कों पर दौड़ लगाने वाले प्रदीप मेहरा के मुरीद हुए नोएडा के जिलाधिकारी, मां का इलाज कराने सहित आगे की पढ़ाई, तैयारी में करेंगे मदद

Next
Highlightsप्रदीप मेहरा मूलत: उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले का रहने वाला है वह अपने बड़े भाई के साथ नोएडा में रहता हैरात 11 बजे काम खत्म करने के बाद सेक्टर 16 से बरौला स्थित किराए के कमरे तक रोजाना दस किलोमीटर दौड़ लगाता है।

नोएडाः नोएडा की सड़कों पर रोजाना 10 किलोमीटर दौड़ने वाले प्रदीप मेहरा का वीडियो इस कदर वायरल हुआ कि केवल दो दिन में वह सोशल मीडिया सेंसेशन बन गया। हर कोई उसकी मदद के लिए हाथ आगे बढ़ा रहा है। अब प्रदीप की मदद के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने हाथ बढ़ाया है। प्रदीप की मुलाकात मंगलवार को गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहस एलवाई से हुई। मुलाकात के बाद सुहास एलवाई ने कहा , ‘‘ प्रदीप मेहरा हम सभी के लिए प्रेरणा स्रोत बने हैं, मैं भी प्रदीप का फैन हो गया हूं। मैंने उनसे बात की है और उन्हें आश्वासन दिया है कि उनकी मां के स्वास्थ्य के इलाज के लिए उन्हें मदद मुहैया कराई जाएगी। हमने उसके इलाज के लिए बात की है।’’

जिलाधिकारी ने प्रदीप को अपने करियर के लिए सभी विकल्पों का पता लगाने के विकल्प दिए। उन्होंने कहा , ‘‘ हम यह सुनिश्चित करेंगे कि उसे सर्वोत्तम सुविधाएं प्राप्त हों।’’ प्रदीप ने बताया कि वह 12वीं पास है और अभी उसने स्नातक में प्रवेश नहीं लिया है। उसने कहा कि वह आर्मी में जाना चाहता है जिसके लिए वह लगातार मेहनत कर रहा है। प्रदीप ने जिलाधिकारी को बताया कि बहुत सारे इंस्टीट्यूट और कॉलेज वीडियो वायरल होने के बाद उससे संपर्क कर रहे हैं और उसे अपने यहां मुफ्त प्रवेश देने के लिए तैयार हैं। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि वह प्रदीप को बताएंगे कि उसे किस कॉलेज में प्रवेश लेना चाहिए। उन्होंने प्रदीप की कैरियर काउंसलिंग करवाने के बात भी कही है।

प्रदीप मेहरा मूलत: उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले का रहने वाला है। उसने बताया कि वह अपने बड़े भाई के साथ नोएडा में रहता है। उसे सुबह आठ बजे तक उठकर अपने भाई के लिए खाना तैयार करना होता है। उसकी मां अस्पताल में भर्ती है। प्रदीप नोएडा सेक्टर-16 में एक रेस्टोरेंट चेन के लिए काम करता है। रात 11 बजे काम खत्म करने के बाद सेक्टर 16 से बरौला स्थित किराए के कमरे तक रोजाना दस किलोमीटर दौड़ लगाता है। फिल्म निर्माता और पत्रकार विनोद कापड़ी ने रविवार की शाम को दो मिनट 20 सेकंड का यह वीडियो ट्विटर पर डाला। लिखा, 'नोएडा की सड़क पर कल रात 12 बजे मुझे ये लड़का कंधे पर बैग टांगे बहुत तेज दौड़ता नजर आया, मैंने सोचा- किसी परेशानी में होगा, लिफ़्ट देनी चाहिए। बार-बार लिफ्ट का ऑफर किया, पर इसने मना कर दिया। वजह सुनेंगे तो आपको इस बच्चे से प्यार हो जाएगा।' इस ट्वीट को उन्होंने 'खरा सोना' शीर्षक दिया। कुछ ही घंटों में यह वायरल हो गया और उसे लाखों लोगों ने रिट्वीट और रिपोस्ट भी किया। 

Web Title: noida gb nagar DM Suhas L Yathiraj met Pradeep Mehra and will help for preparation further studies his mother treatment

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे