Nocturnal curfew was imposed in Delhi because people were organizing parties, celebrations: Jain | दिल्ली में रात्रिकालीन कर्फ्यू इसलिए लगाया गया क्योंकि लोग पार्टियों, समारोहों का आयोजन कर रहे थे: जैन
दिल्ली में रात्रिकालीन कर्फ्यू इसलिए लगाया गया क्योंकि लोग पार्टियों, समारोहों का आयोजन कर रहे थे: जैन

नयी दिल्ली, सात अप्रैल दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बुधवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में रात्रिकालीन कर्फ्यू इसलिए लगाया गया क्योंकि ऐसी खबरें सामने आ रही थीं कि शहर के विभिन्न हिस्सों में ऐसे समय में पार्टियों और सामाजिक समारोहों का आयोजन किया जा रहा है जब कोविड​​-19 के मामले तेज गति से बढ़ रहे हैं।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए, उन्होंने यह भी आशंका जताई कि अगर संक्रमण दर में वृद्धि हुई और लोगों द्वारा सुरक्षा दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया गया, तो नए मामले पिछले साल नवंबर में दर्ज पिछले दैनिक वृद्धि के रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं।

हालाँकि, उन्होंने कहा कि अभी इस पर अटकलें लगाना जल्दबाजी होगी और सरकार का प्रयास है कि इन संक्रमणों को यथासंभव प्रभावी तरीके से नियंत्रित किया जाए।

महामारी की स्थिति पर जैन की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब एक दिन पहले दिल्ली सरकार ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी में रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू लगा दिया। यह 30 अप्रैल तक जारी रहेगा।

दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, शहर में मंगलवार को कोविड-19 के 5,100 नए मामले सामने आए, जबकि 17 और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 11,113 हो गई।

सोमवार को एक लाख से अधिक जांच की गई और मंगलवार को संक्रमण दर 4.93 प्रतिशत रही।

जैन ने कहा, "हमने शहर में रात्रिकालीन कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया, क्योंकि शहर के विभिन्न हिस्सों में पार्टियों और सभाओं के आयोजन के बारे में खबरों आ रही थीं। अभी की स्थिति को देखते हुए, एक व्यक्ति एक सभा में सभी में संक्रमण फैला सकता है, इसलिए हमने यह कदम उठाया।”

उन्होंने कहा कि हालांकि, यह "कठोर कदम नहीं है" और कई श्रेणियों में छूट दी गई हैं, शहर में रेस्तरां आम तौर पर रात 11 बजे तक चलते हैं, इसलिए जन सुरक्षा के मद्देनजर उन्हें केवल एक घंटा पहले बंद करना होगा।

मामलों पर अंकुश लगाने में रात के कर्फ्यू की प्रभावकारिता के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "चलिए इंतजार करते हैं और देखते हैं।"

लोगों द्वारा ई-पास हासिल करने संबंधी समस्याओं के मुद्दों पर, मंत्री ने कहा, यह एक शुरुआती समस्या है और इसे जल्द ही हल कर लिया जाएगा।

राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 मामलों में भारी वृद्धि के बीच, जैन ने मंगलवार को कहा था कि शहर की सरकार महामारी की स्थिति को लेकर सतर्क है और इस पर "कड़ी निगरानी" रख रही है।

उन्होंने अपनी इस मांग को फिर से दोहराया कि टीकाकरण सभी वयस्कों के लिए शुरू होना चाहिए।

29 अप्रैल को दिल्ली में होने वाले आईपीएल मैच के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "मामले को संज्ञान में लिया गया है।"

शहर में बढ़ते मामलों के मुद्दे पर, उन्होंने कहा, "पिछले कुछ दिनों में विभिन्न अस्पतालों में लगभग 2,000 बिस्तरों को बढ़ाया गया है, और अगले कुछ दिनों में 2,000-2,500 और बिस्तरों की व्यवस्था की जाएगी।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Nocturnal curfew was imposed in Delhi because people were organizing parties, celebrations: Jain

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे