Highlightsउत्तर प्रदेश की जेल में 727 कैदी ऐसे हैं, ​जिनके पास टेक्निकल डिग्री है।भारत की जेलों में टेक्निकल डिग्री रखने वाले तकरीबन 3 हजार 740 कैदी बंद हैं।

नई दिल्ली: सामान्य तौर पर माना जाता है कि जहां जितने पढ़े लिखे लोग होंगे वहां उतना कम अपराध होगा। लेकिन, यह भी सच है कि कई बार बेरोजगारी की स्थिति में खाली बैठे हुए पढ़े लिखे लोग भी अपराध में संलिप्त हो जाते हैं। उत्तर प्रदेश में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है। 

टाइम्स नाऊ की मानें तो राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के डेटा मुताबिक, उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की जेलों (jail) में सबसे ज्यादा पढ़े लिखे कैदी बंद हैं। यही नहीं पढ़ें लिखे लोगों में से भी  ज्यादातर इंजीनियर या पोस्ट-ग्रैजुएट कैदी हैं।

रिपोर्ट में इस बात का भी उल्लेख है कि उत्तर प्रदेश के बाद महाराष्ट्र की जेल में सर्वाधिक पढ़े लिखे हुए लोग बंद हैं। इस रैंकिंग में कर्नाटक तीसरे स्थान पर है। हर राज्य में बंद अपराधियों के मामले अलग-अलग तरह के हैं। किसी राज्य में हत्या, धमकी, मारपीट, लूट, अपहरण, रेप के मामले अधिक हैं। तो कहीं छेडछाड़, रेप, नशा खुरानी, चोरी, छिनतई आदि से जुड़े मामले अधिक हैं।  

तुरुंग मराठी बातम्या | Prison, Latest News & Live Updates in Marathi | Marathi News (ताज्या मराठी बातम्या) at Lokmat.com

उत्तर प्रदेश के जेल में बंद पढ़े-लिखे अपराधियों का आंकड़ा-

उत्तर प्रदेश भारत का ऐसा राज्य है, जहां सबसे ज्यादा इंजीनियर, स्नातकोत्तर, डिप्लोमा धारक कैद हैं। रिपोर्ट के मुताबिक भारत की जेलों में टेक्निकल डिग्री रखने वाले तकरीबन 3 हजार 740 कैदी बंद हैं।

इनमें से सबसे ज्यादा यूपी की जेलों में हैं। उत्तर प्रदेश की जेल में 727 कैदी ऐसे हैं, ​जिनके पास टेक्निकल डिग्री है।

लाचखोर जिल्हा व्यवस्थापक, कंत्राटी कर्मचाऱ्याची कारागृहात रवानगी - Marathi News | Corrupt District Manager, Contractor sent to jail | Latest akola News at Lokmat.com

महाराष्ट्र व कर्नाटक में पढ़े-लिखे अपराधियों का आंकड़ा-

इसके बाद महाराष्ट्र में 495 कैदियों के पास जबकि कनार्टक के 362 कैदियों के पास टेक्निकल डिग्री है। भारत की जेलों में बंद 5282 कैदियों के पास पोस्टग्रैजुएट डिग्री है। इनमें से 2010 कैदी उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद हैं।

आधार कार्डावर लिहिला जेलचा पत्ता, आता पोलिसांनीच केली जेलमध्ये रवानगी | National - News18 Lokmat, Today's Latest Marathi News

रिपोर्ट के मुताबिक भारत के जेलों में अलग अलग अपराध के चलते 3 लाख 30 हजार 487 कैदी सजा काट रहे हैं।

Web Title: Most engineers and post-graduate prisoners are in jail in UP, know who is second and third in this case?
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे