मन की बात: पीएम मोदी ने कोरोना खत्म नहीं होने की दी चेतावनी, कहा- एहतियात बरतना हम सभी की जिम्मेदारी है

By विशाल कुमार | Published: November 28, 2021 12:49 PM2021-11-28T12:49:27+5:302021-11-28T12:51:52+5:30

यह देखते हुए कि 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर भारत की जीत की 50 वीं वर्षगांठ का जश्न अगले महीने होगा, प्रधानमंत्री मोदी ने सशस्त्र बलों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए एपिसोड की शुरुआत की।

mann ki baat pm narendra modi coronavirus omicron variant | मन की बात: पीएम मोदी ने कोरोना खत्म नहीं होने की दी चेतावनी, कहा- एहतियात बरतना हम सभी की जिम्मेदारी है

मन की बात संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फाइल फोटो)

Next
Highlightsप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से अपील की कि महामारी खत्म नहीं हुई है और वे सतर्क रहें।दुनिया घातक 'ओमीक्रोन' वैरिएंट के आने से जूझ रही है।प्रधानमंत्री मोदी ने सशस्त्र बलों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए एपिसोड की शुरुआत की।

नई दिल्ली: अपने रेडिया कार्यक्रम 'मन की बात' में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस महामारी खत्म नहीं होने की चेतावनी देते हुए अपील की कि लोग सतर्क रहें और घातक महामारी को फैलने से रोकने के लिए सभी एहतियात अपनाएं। अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि यह नहीं भूलना है कि कोरोना खत्म नहीं हुआ है. एहतियात बरतना हम सभी की जिम्मेदारी है।

प्रधानमंत्री की चेतावनी ऐसे समय में आई है जब दुनिया घातक 'ओमीक्रोन' वैरिएंट के आने से जूझ रही है, जिसे पहली बार दक्षिण अफ्रीका में पाया गया। कल पीएम मोदी ने नए वैरिएंट के संभावित प्रभाव के साथ-साथ रणनीतियों पर चर्चा करने के लिए शीर्ष अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय सम्मेलन की अध्यक्षता की।

यह देखते हुए कि 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर भारत की जीत की 50 वीं वर्षगांठ का जश्न अगले महीने होगा, प्रधानमंत्री मोदी ने सशस्त्र बलों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए एपिसोड की शुरुआत की।

प्रधानमंत्री ने पिछले कुछ वर्षों में विभिन्न सरकारी योजनाओं के प्रभाव की सराहना की। उन्होंने केंद्र की आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना के दो लाभार्थियों से भी बात की, जो इस योजना के तहत जीवन रक्षक उपचार का लाभ उठाने में सक्षम थे।

पीएम मोदी ने भीमराव आंबेडकर को भी श्रद्धांजलि अर्पित की जिनकी 6 दिसंबर को जयंती है. उन्होंने कहा कि बाबा साहेब ने अपना पूरा जीवन देश और समाज के लिए अपने कर्तव्यों की पूर्ति के लिए समर्पित कर दिया था। हमें यह कभी नहीं भूलना चाहिए कि हमारे संविधान की मूल भावना हम सभी से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने की अपेक्षा करती है।

वहीं, प्रकृति की रक्षा के लिए लोगों से अपील करते हुए कहा कि हमें प्रकृति से तभी खतरा है जब हम इसके संतुलन को बिगाड़ते हैं या इसकी शुद्धता को नष्ट करते हैं। प्रकृति एक मां की तरह हमारा पीछा करती है और हमारी दुनिया को नए रंगों से भर देती है। प्रधान मंत्री ने कहा कि लोगों के लिए जीवन शैली अपनाना आवश्यक है जो प्रकृति के साथ सद्भाव में रहने और प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा करने को बढ़ावा देता है।

उन्होंने स्टार्टअप के क्षेत्र में भारत की प्रगति की सराहना करते हुए कहा कि यह स्टार्टअप का युग है और यह भी सच है कि आज स्टार्टअप के क्षेत्र में भारत एक तरह से दुनिया में अग्रणी है।

पीएम मोदी ने इस बात पर प्रकाश डाला कि कैसे देश भर के लोग भारत की आजादी के 75 वें वर्ष का जश्न मना रहे हैं। दिल्ली ने हाल ही में सुंदर कविताओं के माध्यम से बच्चों के साथ 'आजादी की कहानी बचपन की जुबानी' मनाई जिसमें नेपाल, मॉरीशस, तंजानिया, न्यूजीलैंड और फिजी के बच्चों ने भी भाग लिया और अपनी रचनात्मकता और भारत के इतिहास को सबसे गतिशील तरीके से सामने रखा।

उन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में झांसी जैसे स्थानों के महत्व के बारे में भी बताते हुए कहा कि रानी लक्ष्मीबाई और झलकारी बाई जैसे नायक भी यहीं हुए और मेजर ध्यानचंद जैसे खेल रत्न भी इसी क्षेत्र ने देश को दिए हैं।

24 अक्टूबर को प्रसारित कार्यक्रम के पिछले एपिसोड में पीएम मोदी ने भारत की 100 करोड़ की वैक्सीन खुराक पार करने की सराहना की थी और कहा था कि उपलब्धि दर्शाती है कि किसी भी योजना की सफलता सभी के प्रयास से प्राप्त की जा सकती है।

Web Title: mann ki baat pm narendra modi coronavirus omicron variant

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे